Breaking News

वाराणसी : जिला मुख्यालय पर सपाइयों को रोकने के लिए पुलिस ने जमकर किया लाठीचार्ज, पुलिस पर पथराव, 60 से अधिक गिरफ्तार

विजय श्रीवास्तव
-कार्यकर्ताओं के साथ लाठीचार्ज को लोकतंत्र की हत्या: महानगर अध्यक्ष विष्णु शर्मा
-60 से अधिक कार्यकर्ताओं को पुलिस ने भेजा पुलिस लाइन

वाराणसी। उत्तर प्रदेश सरकार के नीतियों के खिलाफ आज समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता वाराणसी में सड़कों पर उतर आए। जिला मुख्यालय के बाहर कार्यकर्ताओं और पुलिस में पहले तो नोंक-झोक हुई फिर उसके बाद सपाइयों को रोकने के लिए पुलिस ने जमकर लाठीचार्ज किया, इस दौरान वहीं सपा कार्यकर्ताओं ने भी पथराव कर दिया।
गौरतलब है कि आज सपा के कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार के खिलाफ आज डीएम से मिलने जाने वाले थे। कार्यकर्ता सपा कार्यालय से जुलूस निकालते हुए जिला मुख्यालय पर डीएम से मिलने गए थे। वहां उन्हें मुख्यालय के बाहर पुलिस ने रोक दिया। जिसकों लेकर पुलिस ने पहले उन्हें मना किया लेकिन न मानने पर पुलिस ने जमकर लाठी भाजनी शुरू कर दी। बेरोजगारों को काम दो की तख्तियां हाथों में लेकर कार्यकर्ता योगी सरकार मुर्दाबाद, अखिलेश यादव जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे। कार्यकर्ताओं के नहीं मानने पर पुलिस ने ताबड़तोड़ बल प्रयोग किया। लाठीचार्ज के बीच सपा कार्यकर्ताओं ने भी पुलिस पर पथराव कर दिया। पुलिस ने इस दौरान 60 से ज्यादा समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया। सभी को पुलिस लाइन भेज दिया गया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने जमकर विरोध-प्रदर्शन किया।


महानगर अध्यक्ष विष्णु शर्मा ने सपा कार्यकर्ताओं के साथ हुए लाठीचार्ज को लोकतंत्र की हत्या बताया। उन्होंने बताया कि सरकार की नीतियों से खफा सपा के लोहिया वाहिनी, युवजनसभा, छात्र सभा, यूथ ब्रिगेड के युवा कार्यकर्ताओं ने अर्दली बाजार स्थित पार्टी कार्यालय से जुलूस निकाला। डीएम से मिलने जा रहे थे। कार्यकर्ताओं को जिला मुख्यालय पर पहुंचते ही पुलिस ने लोहे की बैरिकेडिंग लगाकर कार्यकर्ताओं को रोकने का प्रयास किया। धक्का-मुक्की के बीच काफी देर तक हंगामा चलता रहा। विष्णु शर्मा ने बताया कि 60 से ज्यादा सपाइयों को गिरफ्तार कर पुलिस लाइन भेज दिया। डीएम से मिलकर अपनी बात कहने जा रहे कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज शर्मनाक है। हमारे कई कार्यकर्ता घायल हो गए हैं। इसका खामियाजा सरकार को भुगतना पड़ेगा।

Share

Related posts

Share