Breaking News

वाराणसी में 1 जून आज से लाॅकडाउन 0.5 की गाइडलाइन जारी, जनपद में 30 जून तक धारा-144 लागू

विजय श्रीवास्तव
-दुकानों, मंडियों व कार्यालय के खुलने का समय प्रातःकाल 08.00 बजे से सायंकाल 07.00 बजे तक का होगा
-प्रत्येक व्यक्ति मास्क व 2 गज सोशल डिस्टेन्सिंग का प्रत्येक जगह पालन अनिवार्य
-समस्त धार्मिक स्थल व पूजा स्थल जन सामान्य हेतु बन्द रहेंगे
-धार्मिक जुलूस आदि पूर्णतया निषिद्ध रहेंगे
-समस्त सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, जिम, तरण-ताल (स्विमिंग पूल), मनोरंजन-पार्क, थिएटर, बार एवं सभागार, एसेम्बली हॉल बन्द रहेंगे

वाराणसी। जनपद में भी जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने आज से लाॅकडाउन 0.5 की गाइडलाइन आज से जारी कर दी। जिसके तहत दिये गये निर्देशों तहत सम्पूर्ण जनपद वाराणसी में निषेधाज्ञा पारित कर लागू किया है। जो दिनांक 30 जून तक लागू रहेगी। जनपद के हॉटस्पाट व कंटेनमेंट जोन में सुरक्षा, स्वास्थ्य, स्वच्छता व डोर स्टेप डिलीवरी के अलावा सभी सेवाएं व दुकानें बंद रहेंगी। इनके बैरीकेड क्षेत्र में सभी आवागमन बंद रहेगा। जनपद के शहरी क्षेत्रों के सड़क के दोनों ओर की दुकान, मार्केट, मार्केट कांप्लेक्स व कतारबद्ध दुकानें व निजी कार्यालय सड़क के एक तरफ एक दिन खुलेंगे तथा सड़क के दूसरी तरफ अगले दिन खुलेंगे।


जारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि केवल आवश्यक गतिविधियों व ट्रांसपोर्ट वाहनों को छोड़कर रात्रि 09.00 बजे से प्रातः 05.00 बजे तक किसी भी व्यक्ति, वाहन आदि का आवागमन निषिद्ध रहेगा। जनपद में सभी प्रकार की दुकानों, मंडियों व कार्यालय के खुलने का समय प्रातःकाल 08.00 बजे से सायंकाल 07.00 बजे तक का होगा। केवल दूध व सब्जी मण्डियों के लिए पूर्व में किये गये आदेश के अनुसार ही निर्धारित समय लागू रहेंगे। इस प्रकार से सप्ताह में सोमवार से रविवार तक समस्त दुकानें व निजी कार्यालय एक-एक दिन के अंतराल पर (एक तरफ की दुकानें व निजी कार्यालय सोमवार, बुधवार, शुक्रवार तथा दूसरी तरफ की दुकानें व निजी कार्यालय मंगलवार, बृहस्पतिवार, रविवार) खोले जायेंगें। शनिवार को दूध व सब्जी के गलियों में घूमकर बेचने के अलावा सभी दुकानों में साप्ताहिक बंदी रहेगी। जिन स्थानों पर सड़क के दोनों तरफ दुकानें व कार्यालय न हों, अथवा इस प्रकार से निर्धारण करना मुश्किल हो, वहॉं सम्बन्धित क्षेत्र के थानाध्यक्ष का निर्णय अन्तिम होगा। इन दुकानों में सभी प्रकार की दुकानें शामिल हो सकती हैं, जिन्हें इस आदेश में अलग से प्रतिबंधित न किया गया हो। शहरी क्षेत्र में शहर की कतारबद्ध दुकानों के अलावा मार्केट, मार्केट कॉप्लेक्स, सुपर मार्केट, एक छत के नीचे के मार्केट प्लाजा आदि में दुकानें ऑर्ड-ईवन के अनुसार 2 श्रेणी में वर्गीकृत करके 50 प्रतिशत दुकानें एक दिन व 50 प्रतिशत दुकानें अगले दिन के अनुसार सोमवार से रविवार तक खुलेंगी। एकल दुकानें सड़क के जिस तरफ स्थित हैं, उनके अनुसार एक दिन छोड़कर एक दिन खुलेंगी। उपरोक्त व्यवस्था तय करने हेतु सम्बन्धित थानाध्यक्ष का निर्णय अन्तिम होगा। पूर्व से खुल रही मंडियों के अतिरिक्त अन्य किसी भी वस्तु की होलसेल मण्डी ऑड-ईवन के आधार पर 50-50 प्रतिशत दुकानें प्रतिदिन खुलने के आधार पर ही खुलेंगी। इस हेतु संबंधित मण्डी के व्यापारी अपने थानाध्यक्ष के माध्यम से व्यवस्था निर्धारित कराएंगे। दवाई की दुकानें, बेकरी के सभी उत्पादों के आउटलेट, दूध, खोये की वस्तुओं को निर्मित करने वाली दुकानें, ट्रांसपोर्ट, कोरियर की दुकानें और कम्पनियों के गोदाम व वेयर हाउस सड़क के जिस ओर स्थित हैं, उनकी दैनिक बंदी के दौरान भी प्रातः 08.00 बजे से अपरान्ह 02.00 बजे तक खुल सकेंगी। इन दुकानों में शनिवार को साप्ताहिक बंदी रहेगी। ग्रामीण क्षेत्रों की एकल दुकानें तथा मार्केट, कॉम्प्लेक्स, कतारबद्ध दुकानें शनिवार साप्ताहिक बन्दी के अलावा प्रतिदिन प्रातः 08.00 बजे से सायंकाल 07.00 बजे तक खुल सकती है। शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में कोई भी साप्ताहिक मण्डी, पैठ या मार्केट लगाना प्रतिबंधित किया जाता है। गलियों में घूमकर सामग्री बेचने वाले और इसके अलावा सभी दुकानें, लॉजिस्टिक, ट्रांसपोर्ट, निजी कार्यालय आदि प्रातः 08.00 बजे से सायंकाल 07.00 बजे तक खुलेंगी। सभी प्रकार के आवागमन रात्रि 09.00 बजे से प्रतिबंधित रहेंगे। सैलून एवं ब्यूटी पार्लर की दुकानों को सोशल डिस्टेंसिंग एवं प्रवेश द्वार पर सैनिटाइजेशन की व्यवस्था करने के साथ खोलने की अनुमति होगी। इनमें बाल काटने इत्यादि कार्य करने वाले स्टाफ द्वारा कार्य करने के दौरान फेस-शील्ड तथा ग्लव्य पहनना अनिवार्य होगा, अन्य स्टाफ द्वारा भी फेस-मास्क, फेस-कवर, ग्लव्स का प्रयोग किया जायेगा। यदि कपड़े का इस्तेमाल होता है तो एक बार ही प्रयोग हो अथवा डिस्पोजेबल कपड़ा व सामग्री का प्रयोग किया जाये।


मिठाई की दुकानें इस शर्त के साथ खोलने की अनुमति होगी कि दुकान में व इसके आस-पास ग्राहक नहीं खाएगा एवं बिक्री के समय प्रवेश द्वार पर सैनिटाइजर की पर्याप्त व्यवस्था के साथ, फेस-मास्क, फेस-कवर, ग्लव्स एवं सोशल डिस्टेंसिंग के मानकों का कड़ाई से अनुपालन किया जाएगा। खान-पान की वस्तुओं की होम डिलीवरी उनकी दुकानों अथवा होम डिलीवरी कंपनियों के माध्यम से अनुमन्य होगी, परन्तु जिन होटल, रेस्टोरेन्ट व माल पर प्रतिबंध है उनका यह कार्य करना वर्जित होगा। पान की दुकानों पर पान केवल घर ले जाकर खाने के लिए बिक्री किया जायेगा। कोई व्यक्ति किसी भी दुकान पर पान नहीं खाएगा। किसी भी व्यक्ति का पान खाकर या इसके अतिरिक्त भी खुले में व सार्वजनिक स्थल पर थूकना प्रतिबंधित है और दंडनीय है। उत्तर प्रदेश शासन के अगले आदेश तक सत्कार सेवाएं (हॉस्पिटैलिटी सर्विस) जैसे-होटल, टूरिस्ट परिवहन, टूरिस्ट ऑफिस, लॉज, गेस्ट हाउस आदि बन्द रहेंगी, सिवाए उनके जो स्वास्थ्य कर्मियों, पुलिस कर्मियों, पुलिस एवं सरकारी अधिकारियों हेतु उपयोग में लायी जा रही हों, अथवा लॉकडाउन के कारण फंसे हुए पर्यटकों अथवा क्वारन्टाइन करने के उपयोग में लायी जा रही हों। शासन के अगले आदेश तक शॉपिंग मॉल, होटल, रेस्टोरेंट, स्पा आदि बंद रहेंगे। जनपद में जो भी दुकान खुलेंगी उनके समस्त दुकानदारों को फेस कवर व मास्क लगाना होगा, ग्लब्स का इस्तेमाल करना होगा एवं दुकान में सेनिटाइजर की व्यवस्था करनी होगी, जिससे कि आने वाले समस्त व्यक्तियों को संक्रमण से बचाया जा सके। किसी भी व्यक्ति का मास्क पहने बिना घर से निकलना प्रतिबंधित किया गया है, अतः यदि किसी भी खरीददार ने मास्क नहीं पहना है तो उसे किसी भी सामान की बिक्री नहीं की जाएगी। वेंडिंग जोन हेतु नगर निगम, वाराणसी द्वारा व्यवस्था निर्धारित कर दी गई है। प्रत्येक जोन में कितनें वेंडिंग जोन होंगे और प्रत्येक वेंडिंग जोन में कितने वेंडर्स को स्थान दिया जा सकेगा, यह निर्धारित किया जा चुका है। नगर निगम, वाराणसी द्वारा वेंडिंग जोन में वेंडर्स को क्रम संख्या का आवंटन 03 दिन में पूर्ण किया जायेगा तथा वेंडिंग जोन की दुकानों का संचालन दिनांकः 4 जून से प्रारम्भ होगा। नगर निगम द्वारा निर्धारित वेंडिंग जोन के अलावा किसी भी स्थान पर एक जगह रूककर सामान बेचना प्रतिबंधित होगा। वेंडिंग जोन पर भी सड़क के बाएं व दाहिने की व्यवस्था अन्य दुकानों की तरह लागू होगी। वेंडर्स को गलियों में घूमकर दुकानों का सामान बेचने की अनुमति होगी, परन्तु शहर के मुख्य सड़कों पर घूमकर सामान बेचने वाले वेंडर्स को सामान बेचना अनुमन्य नहीं होगा। गलियों में घूमकर सामान बेचने का समय दुकानों के खुलने के समय ही अर्थात प्रातः 08.00 बजे से सायंकाल 07.00 बजे तक का होगा। 4 जून तक चिन्हित व अनुमन्य स्ट्रीट वेन्डरध्पटरी व्यवसायी व फेरी व्यवसायी को भी अपना कार्य गलियों में घूम कर बेचने के माध्यम से करने की अनुमति होगी। इनके लिए निर्धारित समय प्रातः 08.00 बजे से सायंकाल 07.00 बजे तक का होगा। जनपद में काफी बढ़ चुकी कोरोना महामारी के दृष्टिगत जन सामान्य के आवागमन को नियंत्रित करना आवश्यक है


हॉटस्पाट व कंटेनमेंट जोन के 250 मीटर की गोलाकार परिधि के बफर जोन में आवश्यक वस्तुओं के अलावा सभी प्रकार की दुकानें बंद रहेंगी। कनटेंमेंट जोन में सघन कांन्टेक्ट ट्रेसिंग, हाउस टू आउस सर्विलांस और यथावश्यक चिकित्सकीय गतिविधियां होंगी। जनपद में प्रत्येक व्यक्ति मास्क अवश्य लगाएगा तथा 2 गज सोशल डिस्टेन्सिंग का प्रत्येक जगह पालन करेगा। उत्तर प्रदेश शासन के अगले आदेश तक समस्त धार्मिक स्थल व पूजा स्थल जन सामान्य हेतु बन्द रहेंगे। धार्मिक जुलूस आदि पूर्णतया निषिद्ध रहेंगे। समस्त सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, जिम, तरण-ताल (स्विमिंग पूल), मनोरंजन-पार्क, थिएटर, बार एवं सभागार, एसेम्बली हॉल और इस प्रकार के अन्य स्थान बन्द रहेंगे। समस्त सामाजिक, राजनैतिक, खेल, मनोरंजन, शैक्षिक, सांस्कृतिक, धार्मिक कार्यक्रम, अन्य सामूहिक गतिविधियां निषिद्ध रहेंगी। 65 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति, सह-रूग्णता अर्थात् एक से अधिक अन्य बीमारियों से ग्रसित व्यक्ति, गर्भवती स्त्रियां और 10 वर्ष की आयु से नीचे के बच्चे, सिवाय ऐसी परिस्थितियों के जिनमें स्वास्थ्य सम्बन्धी आवश्यकताओं हेतु बाहर निकलना जरूरी हो, का घर से बाहर निकलना प्रतिबंधित किया जाता है।


नगरीय क्षेत्र में कोरोना संक्रमण कम करने व सोशल डिस्टेंशिंग लागू कराने, वाहनों में सड़कों पर दूरी बनाकर चलने व यातायात की समस्या उत्पन्न न होने पाये, इसके लिए निम्नलिखित आदेश निर्गत किये गये हैं-जनपद में ऑटो तथा ई-रिक्शा का संचालन पुलिस अधीक्षक (यातायात) वाराणसी द्वारा निर्धारित किया जा रहा है। इसके लिए यातायात विभाग द्वारा जारी किये गये एप पर रजिस्ट्रेशन करने के उपरान्त ही सम्बन्धित वाहन चालकों द्वारा संचालन किया जा सकेगा। इसके लिए जनपद में 04 जोन (औरेंज जोन, ग्रीन जोन, येलो जोन व रेड जोन) बनाये गये हैं। इस हेतु रजिस्ट्रेशन दिनांकः 1 जून तथा संचालन 4 जून से लागू होगा। ग्रामीण क्षेत्र में टेम्पो संचालन के लिए रूट परिवहन विभाग द्वारा निर्धारित किए गए है, इन निर्धारित रूटों के अलावा अन्य मार्गों का टेम्पो का संचालन प्रतिबन्धित रहेगा। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, वाराणसी द्वारा शहर में 05 रूटों कों निर्धारित कर इन पर ई-रिक्शा को चलाया जाना प्रतिबन्धित किया गया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, वाराणसी द्वारा निर्धारित जिन 05 रूटों पर ई-रिक्शा चलाना प्रतिबन्धित रहेगा, वे 05 रूट निम्नानुसार हैंः-ई-रिक्शा प्रतिबन्धित मार्ग-01- पड़ाव चैराहा से सूजाबाद पुलिस चैकी से राजघाट से भदऊचुंगी से कज्जाकपुरा से गोलगड्डा से चैकाघाट चैराहा से अन्ध्रापुल चैराहा से कैण्ट रेलवे स्टेशन से लहरतारा चैराहा से चांदपुर चैराहा से रोहनियां से मोहनसराय तक। ई-रिक्शा प्रतिबन्धित मार्ग-02- कैण्ट रेलवे स्टेशन से इंग्लिशिया लाइन से साजन से सिगरा चैराहा से रथयात्रा चैराहा से गुरूबाग तिराहा से नीमामाई से कमच्छा तिराहा से भेलूपुर से विजयामॉल से ब्राडवे होटल से रामचन्द्र शुक्ल चैराहा से रविदास गेट से मालवीय चैराहा बी0एच0यू0 तक। ई-रिक्शा प्रतिबन्धित मार्ग-03- लहरतारा से मण्डुवाडीह चैराहा से डी0एल0 डब्ल्यू0 गेट से भिखारीपुर तिराहा से अमरा अखरी तक तथा भिखारीपुर तिराहा से सुन्दरपुर चैराहा से नरिया तिराहा से मालवीय बी0एच0यू0 चैराहा से ट्रामा सेन्टर तक। ई-रिक्शा प्रतिबन्धित मार्ग-04- कैण्ट रेलवे स्टेशन से अन्ध्रापुल चैराहा से नदेसर तिराहा से इण्डिया होटल चैराहा से मिण्ट हाउस से आशियाना चैराहा से अम्बेडकर चैराहा से जे0पी0 मेहता तिराहा से दूध सट्टी से भोजूबीर चैराहा से मछली मण्डी तिराहा से गिलट बाजार से तरना तक तथा ई-रिक्शा प्रतिबन्धित मार्ग 05- कैण्ट रेलवे स्टेशन से अन्ध्रापुल चैराहा से चैकाघाट चैराहा से ताड़ीखाना तिराहा से मकबूल आलम रोड पुलिस लाइन चैराहा से पाण्डेयपुर चैराहा से पहडिया चैराहा से आशापुर चैराहा तक। उत्तर प्रदेश रोडवेज तथा रोडवेज से अनुबन्धित बस जिनका संचालन रोडवेज ने अनुमन्य किया है, उन बसों के अलावा अन्य किसी भी प्रकार के निजी बसों का संचालन जनपद में नहीं किया जायेगा। रोडवेज बसों में निर्धारित सीट क्षमता पर ही संचालन किया जायेगा, स्टेन्डिंग की अनुमति नहीं होगी। संचालन के दौरान चालकध्परिचालकों को मास्क, ग्लव्स का प्रयोग करना अनिवार्य होगा। यात्रियों को भी मास्कध्फेस कवर पहनना अनिवार्य होगा। साथ ही बसों का सैनिटाइजेशन किया जाएगा। बसों में बैठने से पूर्व तथा परिवहन निगम बस स्टेशनों पर आने वाले यात्रियों की थर्मल-स्कैनिंग अनिवार्य रूप से की जाए। बस स्टेशन अथवा बस स्टेशन के निकट के स्थान पर 108 एम्बुलेंस सेवा की उपलब्धता इस प्रकार सुनिश्चित की जाए कि आवश्यकता पड़ने पर तत्काल प्रयोग की जा सके। सिटी बस सेवा का संचालन भी उपरोक्त शर्तों के अनुसार ही किया जाएगा। वाराणसी शहर से होते हुए अन्य जनपदों या ग्रामीण क्षेत्रों की ओर जाने वाले ट्रकों की इन्ट्री शहर में बन्द रहेगी। ऐसे ट्रक अब ग्रामीण क्षेत्रों की सड़कों से होते हुए ही अपने गंतव्य को जायेंगे। शहर में केवल उन्हीं ट्रकों का आना अनुमन्य होगा, जिन्हें शहर में अपना मालध्सामान उतारना हो या यहॉं से सामान चढ़ाना हो। सभी प्रकार के वाहनों के संचालन में उपरोक्त निर्देशों का पालन न करने पर सम्बन्धित के विरूद्ध मोटर व्हीकल एक्ट, डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट एवं एपेडैमिक एक्ट के तहत विधिक कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। समस्त प्रकार के वाहनों में यात्रा करने वाले व्यक्तियों को आरोग्य-सेतु ऐप एवं आयुष-कवच कोविड ऐप डाउनलोड कर उसके प्रयोग करने हेतु प्रेरित किया जाये। उक्त वाहनों को चलाने की अनुमति इस शर्त के साथ होगी कि निर्धारित सीटध्क्षमता के अनुसार ही सवारीध्यात्री बठाये जायेंगे। वाहनों में समस्त यात्रियों को फेस-मास्क, फेस-कवर पहनना अनिवार्य होगा। वाहनों में सैनिटाइजर पर्याप्त मात्रा में रखना आवश्यक होगा। इसी प्रकार की व्यवस्था निजी कारों के संचालन में भी लागू होगी। दो पहिया वाहनों को निर्धारित सीट क्षमता के अनुसार चलने की अनुमति होगी। दो पहिया वाहन पर यात्रा करने वाले व्यक्तियों को हेलमेट एवं मास्कध्फेस-कवर पहनना अनिवार्य होगा। समस्त प्रकार के माल वाहक वाहनध्माल परिवहन (खाली ट्रकों सहित) को आवागमन की अनुमति होगी। सभी प्रकार के वाहन रिपेयर जिसमें साइकिल, रिक्शा, टू-व्हीलर, थ्री-व्हीलर, फोर-व्हीलर, नाव व नौका, क्रूज, बस का कार्य सोमवार से रविवार प्रातः 08.00 बजे से सायंकाल 07.00 बजे तक अपनी-अपनी खुली मार्केट लेन की व्यवस्था के अन्तर्गत अनुमन्य किया जाता है।


सभी प्रकार की औद्योगिक गतिविधियों को कन्टेनमेन्ट जोन के बाहर अनुमति होगी, लेकिन औद्योगिक इकाईयों को थर्मल-स्कैनिंग, सेनेटाइजेशन, फेस मास्क, फेस कवर, सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करना होगा एवं औद्योगिक गतिविधियों के लिए बसों के इस्तेमाल पर भी उपरोक्त सावधानी बरती जायेगी। उद्योगों में रात्रि-शिफ्ट की अनुमति भी इन्हीं शर्तों के साथ होगी, किन्तु रात्रि शिफ्ट हेतु स्टाफ के लिए सुरक्षित परिवहन का साधन सम्बन्धित औद्योगिक इकाई द्वारा उपलब्ध कराया जाएगा। घरों के या आवासीय परिसर में चलने वाले कुटीर व लघु उद्योग के कार्य जेसे हथकरघा, अन्य प्रकार का करघा, हस्तशिल्प, प्रिंटिंग प्रेस, गत्ते के डिब्बे बनाना आदि कार्य प्रातः 08.00 बजे से सायंकाल 07.00 बजे तक सोमवार से रविवार तक अनुमन्य किये जाते हैं, परन्तु इनमें 2 गज की सोशल डिस्टेन्सिंग व फेस मास्क पहनना व हाथ का सेनिटाइजेशन अनिवार्य होगा। ऐसे कार्य में परिसर के अंदर अधिकतम 5 व्यक्ति ही इस कार्य हेतु अनुमन्य होंगे। जनपद के समस्त स्कूल, कॉलेज, शैक्षिक व प्रशिक्षण व कोचिंग संस्थान आदि बन्द रहेंगे। प्राइवेट शिक्षण संस्थान, कॉलेज व स्कूल अपने प्रधानाचार्य व मैनेजर के अतिरिक्त 10 अन्य कर्मचारियों व शिक्षकों के साथ प्रातः 08.00 बजे से सायंकाल 07.00 बजे तक विद्यालय व कॉलेज आवश्यक कार्यों हेतु खोल सकते हैं।


नर्सिंग होम एवं प्राइवेट अस्पतालों को इमरजेंसी एवं आवश्यक ऑपरेशन करने हेतु स्वास्थ्य विभाग के प्रशिक्षण के उपरान्त अनुमति तथा समस्त सुरक्षा उपकरण एवं प्रशिक्षण के बाद खोलने की अनुमति दी जाएगी। चिकित्सा व्यवसायी ,नर्स एवं पैरा-मेडिकल स्टाफ, सफाई-कार्मिक और एम्बुलेन्स को बिना किसी प्रतिबन्ध के साथ आवागमन की अनुमति होगी।
शादी सम्बन्धी आयोजन तहसील के संबंधित उप जिलाधिकारी की अनुमति के उपरान्त ही आयोजित हो सकते हैं। इसमें अनुमति प्राप्त व्यक्तियों से अधिक व्यक्तियों के इकट्ठा होने की अनुमति नहीं होगी। बारात घर खोले जायेंगे, लेकिन शादी के लिए पूर्व अनुमति लेना आवश्यक होगा। इसमें 30 लोगों से ज्यादा की अनुमति नहीं होगी। शादी व बारात-घर पर किसी भी रूप में शस्त्र ले जाना वर्जित होगा, उल्लंघन करने पर वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। जिस दुकान के दुकानदार व कर्मचारी आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड नहीं करेंगे, उन्हें बंद करा दिया जाएगा।


समस्त सरकारी कार्यालय 100 प्रतिशत उपस्थिति के साथ खुलेंगे, किन्तु कार्यालयों में संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत कार्यालयों में भीड़-भाड़ न हो, इस हेतु समस्त कार्यालय स्टाफ को तीन पालियों में विभाजित करते हुए बुलाया जाएगा। प्रथम पाली प्रातः 09.00 बजे से सायं 05.00 बजे तक, द्वितीय पाली प्रातः 10.00 बजे से सायं 06.00 बजे तक एवं तृतीय पाली प्रातः 11.00 बजे से सायं 07.00 बजे तक रहेगी। कार्यालयों में सैनिटाइजेशन, फेस-मास्क, फेस कवर एवं सोशल-डिस्टेंसिंग का अनुपालन सुनिश्चित किया जाएगा। इस व्यवस्था को जारी करने व लागू करने की जिम्म्ेदारी कार्यालयाध्यक्ष की होगी। कार्यालयों एवं कार्यस्थलों पर समस्त कर्मचारियों व कार्मिकों को संक्रमण से बचाव हेतु अपने मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करना अनिवार्य होगी। साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने हेतु आयुष कवच कोविड ऐप को भी डाउनलोड करना अनिवार्य होगा, ताकि स्वास्थ्य सम्बन्धी स्टेटस ऐप पर अपडेट होता रहे। पार्कों को सुबह की सैरध्व्यायाम आदि हेतु सोशल डिस्टेंसिंग व सैनिटाइजेशन एवं सुरक्षा के उपायों के साथ प्रातः 05.00 बजे से 07.00 बजे तक व सायंकाल 05.00 बजे से 07.00 बजे तक खोलने की अनुमति होगी। इस दौरान पार्कों में पेट्रोलिंग एवं पर्याप्त सुरक्षा-व्यवस्था भी की जाए। खेल-परिसर व स्टेडियम को केवल रजिस्टर्ड खिलाडि़यों के क्रीड़ा व अभ्यास हेतु खोलने की अनुमति होगी, किन्तु इनमें अन्य व्यक्तियोंध्वॉक करने वाले लोगों व दर्शकों की अनुमति नहीं होगी। उक्त प्रतिबन्धित किसी भी कार्य को आपदा प्रबंधन के कार्य हेतु सक्षम प्राधिकारी द्वारा विशेष परिस्थितियों में अनुमन्य किया जा सकता है।


कोविड-19 प्रबंधन के लिए जिलाधिकारी ने निर्देश दिये है कि फेस कवर-सार्वज्निक स्थल, कार्य स्थल एवं आवागमन के दौरान फेस मास्क पहनना अनिवार्य है। सोशेल डिस्टेंसिंग- सार्वजनिक स्थलों पर प्रत्येक व्यक्ति 06 फीट की दूरी बनाये रखेगा। दुकानें यह सुनिश्चित करेंगी कि ग्राहकों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग हो तथा एक समय में 5 से अधिक ग्राहकों को आने की अनुमति नहीं होगी। समारोह- बड़ी जनसभा अथवा भीड़-भाड़ वाले कार्यक्रम पूरी तरह प्रतिबंधित रहेंगे। विवाह समारोह- विवाह समारोह में 30 से अधिक व्यक्तियों की संख्या अनुमन्य नहीं होगी। अंतिम संस्कार कार्यक्रम- अंतिम संस्कार कार्यक्रमों से 20 से अधिक व्यक्तियों की संख्या अनुमन्य नहीं होगी। सार्वजनिक स्थानों पर थूकना-सार्वजनिक स्थानों पर थूकना दण्डनीय अपराध होगा।सार्वजनिक स्थलों पर शराब, पान, गुटखा, तंबाकू आदि का सेवन पूर्णतया वर्जित होगा। कार्य स्थलों के लिए भी उन्होंने निर्देशित किया है कि परीक्षण एवं स्वच्छता- थर्मल स्कैनिंग, हैण्ड वॉश, सेनेटाइजर की व्यवस्था प्रत्येक प्रवेश एवं निकास स्थलें पर रहेगा।कार्य स्थलों पर सेनेटाइजेशन एवं सामान्य सुविधायें उपलब्ध रहेंगे तथा जो भी जगह छूने इत्यादि के संपर्क में आता है, वहॉं पर सेनेटाइजेशन अवश्य रहे। जेसे-डोर हैंडल आदि। सोशल डिस्टेंसिंग-प्रत्येक कार्य स्थल पर इंचार्ज सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करायेंगे तथा दो शिफ्टों के बीच में पर्याप्त समय व लंच इत्यादि में भीड़-भाड़ न हो, ये सुनिश्चित करायेंगे। लॉकडाउन के दिशा-निर्देशों के उल्लंघन करने पर किसी भी व्यक्ति के विरूद्ध आपदा- प्रबन्धन अधिनियम, 2005 की धारा 51 से 60 तथा भा0द0वि0 की धारा-188 में दिये गये प्रावधानों के अन्तर्गत कार्यवाही की जाएगी।

Share

Related posts

Share