Breaking News

वाराणसी: यूथ विद ए मिशन ने 100 अति निर्धन परिवारों को दिया अनाज किट

विजय श्रीवास्तव
-आशापुर, मवइया व लेढूपुर क्षेत्र के लोंगो को दिया अनाज किट
-किट में 25 किलों चावल, 2 किलों दाल व एक किलों तेल
-अभी तक 800 परिवारों को बाट चुके हैं अनाज किट
-ले रखा है 500 परिवारों को देने का लक्ष्य

वाराणसी। कोरोना वायरस के संक्रमण ने जहां पूरे विश्व को झकझोर कर रख दिया हैं वहीं भारत भी इससे अछूता नहीं हैं। दिन पर दिन संक्रमितों की संख्या में बढोत्तरी ने स्थिति और बदतर कर दी हैं। इस वैश्विक महामारी ने सबसे अधिक परेशान गरीबों, दैनिक मजदूरों की हैं, जिनके घरों में खाने के लाले पड गये हैं। ऐसे में पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कई संस्थाओं ने प्रशासन के साथ मिलकर इन गरीबों को लंच पैकेट व राशन किट बाटने का काम कर रही हैं। इसी कडी में यूथ विद ए मिशन भी इस संकट की घडी में गरीबों के लिए मशीहा का काम कर रही हैं। आज भी संस्था ने 100 अति निर्धन परिवारों को राशन किट दिया।


बुद्ध की उपदेश स्थली सारनाथ के समीप आशापुर में स्थित आशा भवन परिसर में यूथ विद ए मिशन के कार्यकर्ताओं ने आज आशापुर, मवइया व लेढूपुर इलाकों के अतिनिर्धन परिवारों को पहले सर्वे कर आज उन्हें अनाज किट बाटनें को कार्य किया। इस दौरान किट में 25 किलों चावल, 2 किलों दाल व एक किलों तेल शामिल था। अनाज किट वितरण के दौरान सोशल डिस्टेसिंग का भी कार्यकताओं ने पूरा ध्यान रखा। इसके लिए चूने से घेरा बनाया गया था। इस दौरान पहले उन्हें सेनिटाइज भी किया जा रहा था।


इस दौरान यूथ विद ए मिशन के डायरेक्टर नरेन्द्र कुमार जोसफ ने बातचीत में बताया कि मिशन भोपाल में गैस त्रासदी से ही इस तरह के समय में समर्पित भाव से कार्य कर रही है। संस्था अभी तक देश के कई हिस्सों में ऐसे संकट के समय कार्य किया है। इसी क्रम में संस्था इस वैश्विक महामारी के समय भी पूरे मनोभाव से कार्य कर रही है। संस्था अभी तक लगभग 800 गरीबों को राशन का वितरण कर चुकी है। संस्था ने 5000 परिवारों को सहायता का लक्ष्य रखा है। इस बीच संस्था लोंगो को मास्क आदि का भी वितरण भी कर रही है। इस दौरान संस्था के नरेन्द्र नाथ तिवारी, मरकुश, सुनील कुमार, राहुल , पिण्टों आदि समर्पित कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Share

Related posts

Share