वाराणसी : रामलीला भूमि पर कब्जे के विरोध में राम, लक्ष्मण, हनुमान बैठे धरने पर

RAM
विजय श्रीवास्तव
-चोलापुर के ताड़ी गांव का मामला
-पुलिस ने किया हस्तेक्षप, कहा वहीं होगी रामलीला
वाराणसी। एक ओर जहां अयोध्या में रामजन्म भूमि को लेकर पूरे देश में रामभक्त शंखनाद कर रहे हैं और इस मुद्दे को आगामी 2019 लोकसभा चुनाव में भूनाने की पूरजोर कोशिश हो रही हैं। वहीं दूसरी ओर भगवान शिव की नगरी काशी व पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में भगवान राम अपने भाई लक्ष्मण व हनुमान के साथ अपने रामलीला स्टेज पर कब्जा को लेकर धरने पर बैठ गये। यह वाकया चोलापुर में देखने को मिला जब रामलीला कमेटी की जमीन पर कब्जा के विरोध में स्वंय राम ने मोर्चा खोलते हुए धरने पर बैठ गये।
RISHABH POSTER
प्राप्त जानकारी के अनुसार चोलापुर क्षेत्र के ताड़ी गांव में पाच बीघा जमीन है। जिसमें पंचायत भवन, रामलीला मैदान, हनुमान मंदिर, मेला स्थल, बरात स्थल की जमीन है। बताया जाता है कि कुछ दूसरे गांव के लोंगो की नजर इस रामलीला मैदान पर लगी थी। जिसे वह कब्जा करना चाहते थे। इसको लेकर कई बार हल्की झडप भी हुई। बताया जाता है कि आज दोपहर को जबरी कुछ लोंगो ने रामलीला मैदान में जोताई कर दी। इसकी सूचना जब रामलीला कमेटी वालों व गांव वालों को मिली तो वह आक्रोशित हो उठे। उन्होंने इसकी सूचना तत्काल पुलिस को देते हुए राम, लक्ष्मण व हनुमान का रोल अदा करने वाले पात्र पंचायत भवन पर धरने पर बैठ गये। राम के धरने पर बैठने की जानकारी मिलते ही हनुमान की बानरी सेना भी धरने पर बैठ गयी। धीरे-धीरे गांववासी भी धरने में बैठ गये। जब इसकी सूचना चोलापुर थाने पहुंची तो हडकंप मच गया। आनन फानन में पुलिस समझाने बुझाने पहुंच गयी।
VIJAY SRIVASTAVA R
वहीं रामलीला समिति के अध्यक्ष डा. सुभाष पटेल ने बताया की रामलीला समिति ताड़ी की आराजी नंबर 368 पाच बीघा की जमीन है। इसमें पंचायत भवन, रामलीला मैदान, हनुमान मंदिर, मेला स्थल, बरात स्थल की जमीन है। जिसे दूसरे गाव से आए हुए कुछ लोग कब्जा कर जोतने बोने की फिराक में लगे हुए थे और आज मौका पा कर जोताई की। जबकि दूसरे पक्ष का कहना है कि उक्त भूमि 22 लोंगो के नाम से रजिस्टर्ड है।
PLOT
इस संबंध में थाना अध्यक्ष चोलापुर अशोक कुमार यादव ने बताया की रामलीला जहा होती थी वहीं होगी। किसी प्रकार से रामलीला में व्यवधान नहीं आने दिया जाएगा।

Share
Share