Breaking News

वाराणसी : 70 प्रतिशत आबादी को खंगालने की तैयारी, कांग्रेस ने आज “चलो गांव का देखें हाल” कार्यक्रम के तहत कई गांवों का किया मुआयना

विजय श्रीवास्तव
-जिला कांग्रेस कमेटी और कमलापति त्रिपाठी फाउन्डेशन द्वारा आयोजित
-पूर्व सांसद डाक्टर राजेश मिश्रा सहित वरिष्ठ कांग्रेसियों ने लिया भाग
-कार्यक्रम का संयोजन किसान प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय कोआडिनेटर रामसुधार मिश्रा ने किया

वाराणसी। अब कांग्रेस ने अपनी नयी जमीन तलाशनी शुरू कर दी है। देश की आबादी के 70 प्रतिशत लोग आज भी गांवों में रहते हैं। इस बात से इन्कार नहीं किया जा सकता है कि आजादी के 74 वर्षो के बाद भी गांवों की दशा व दिशा नहीं सुधरी है लेकिन यह भी सच्चाई है कि सत्ता पर किसे बैठाना है इसका फैसला गांव की जनता ही करती है। अब कांग्रेस ने सीधे इनको टारगेट कर अपनी मुहिम छेड दी है। पं कमलापति त्रिपाठी फाउन्डेशन और कांग्रेसजनो द्वारा चलाये जा रहे साप्ताहिक गाँव भ्रमण कार्यक्रम के अंतर्गत कांग्रेस जनों ने आज चिरईगाँव ब्लाक के ग्राम सभा सालारपुर, रसूलगढ़, तिलमापुर और लेढूपुर का भ्रमण करके गांव की जमीनी सच्चाई का जायजा लिया।


इस दौरान कांग्रेस जनों ने पंचक्रोशी मार्ग को सालारपुर से एन0एच0 29 को जोड़ने वाला प्रमुख मार्ग जो कि एकदम ध्वस्त होकर केवल गढ्ढे में तब्दील हो गया है, का मुआयना किया। जिस पर दो पहिया चैपहिया वाहन तो छोडिये पैदल चलना भी दुष्कर साबित हो रहा है, इस नाम मात्र की सड़क के किनारे व्याप्त भयानक गन्दगी सरकार के स्वच्छ भारत के नारे का खुला मजाक उड़ाती दिखी, गाँव के लोगों ने बताया कि सड़क की बदहाली और गन्दगी से ऊनका जीना दूभर हो गया है। सड़क के किनारे अपना कारोबार करने वालों ने बताया कि इसके कारण उनका कारोबार भी बुरी तरह प्रभावित है, उन लोगों ने कांग्रेस जनो को बताया कि हमारे क्षेत्र के दोनों जनप्रतिनिधि क्षेत्र की समस्या के समाधान के प्रति बेहद उदासीन हैं जिससे हम दुखी हैं।


तत्पश्चात कांग्रेस जनों ने किसानों के आग्रह पर बराईं गाँव के पास से गुजरने वाली शारदा सहायक नहर की उस शाखा को देखा जिसमें भयंकर सिल्ट, गन्दगी के साथ-साथ दुर्गन्ध भी उठ रहीं थी, इस नहर के आस-पास के किसानों ने बताया कि नहर की इस शाखा में गोईठहा एस0टी0पी0 के सीवर का पानी डाल दिये जाने से किसानों इस नहर से सिंचाई करना बन्द कर दिया है, क्योंकि यदि फसलों को यह पानी दिया गया तो फसलों के साथ हम सब भयंकर प्रदूषण के शिकार हो जायेगे, किसानों ने यह भी बताया कि नहर की गन्दगी से आस पास के 16 गांवों के आदमी तथा जानवर मच्छर जनित बीमारी के संक्रमण की जद में हैं, इसका कोई न कोई उपाय शीघ्र होना चाहिए।
गाँव भ्रमण कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे पूर्व सांसद डाक्टर राजेश मिश्रा और उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व उपाध्यक्ष विजय शंकर पाण्डे ने कहा कि यह अत्यंत खेद का विषय है कि इस क्षेत्र का विधानसभा और लोकसभा में प्रतिनिधित्व करने वाले दोनों के दोनों लोग सरकार के मंत्री हैं फिर भी क्षेत्र की ऐसी दुर्दशा है, जनता को ऐसे नुमाईन्दो को सबक सिखाना चाहिए, हम काग्रेसजन आपकी समस्या से शासन प्रशासन को पत्रक देकर हल कराने की लडाई अवश्य लडेंगे।


कार्यक्रम का संयोजन किसान प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय कोआडिनेटर रामसुधार मिश्रा ने किया। भ्रमण कार्यक्रम में प्रमुख रूप से उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी आर0टी0आई0 सेल के पूर्व चेयरमैन बैजनाथ सिंह, जिला कांग्रेस कमेटी के पूर्व महामंत्री अशोक कुमार पाण्डेय, प्रदेश कांग्रेश किसान प्रकोष्ठ के उपाध्यक्ष संजय चैबे के अलावा पूर्व ब्लाक अध्यक्ष मनीष सिंह सहित सर्वश्री लक्ष्मण जायसवाल, वीरेंद्र यादव, बृजेश कुमार मिश्रा एडवोकेट विष्णुकांत मिश्र, सुरेन्द्र पाण्डेय, चंदन मिश्रा, रामवृक्ष निषाद, रामचंद्र जायसवाल, विपिन कुमार मिश्रा, शंकर शरण मिश्र आदि लोगों ने गाँव भ्रमण में हिस्सा लिया।

Share

Related posts

Share