Breaking News

वाह रे बचपन ! स्कूल में प्रार्थना की लाइन में खड़े बच्चे की जेब में पराठा

photo 1

विजय श्रीवास्तव
-सोशल मीडिया पर तस्वीर वायरल
-स्कूल प्रशासन सवालों के घेरे में
नई दिल्ली। समय के साथ दुनिया ने लम्बी छलांग लगायी है। चाहे वह शिक्षा हो, चाहे अन्य कोई हो लेकिन इन सबके बीच आज यह जरूर है कि आज हमारा बचपन कहीं न कहीं खोता जा रहा है। माॅ की गोद से उतर कर अभी चलना नहीं सीखा कि उसे आज प्ले स्कूल से लेकर हाईफाई स्कूलों में दाखिला दिला दिया जाता है।

sdsdsd
आधी-अधूरी नींद से अधखुले आखों में ही माॅ-बाप की डाट के बीच  स्कूल जाने की जल्दी, कंधे पर बस्तों का बोझ, फिर अनुशासन में बैठकर छः से आठ घंटे तक शब्दों से खेलना व पढ़ना। शायद यही पर खत्म नहीं होता सब कुछ फिर घर आकर होमवर्क का बोझ, निश्चय ही कहीं न कहीं उनका मासूम बचपन हम शायद समय से पहले छीन रहे हैं। इन्हीं सबको लेकर आज एक जींवत फोटो इन दिनों सोशल मिडिया में जोरदार ढंग से वायरल हो रही है। जिसमें एक बच्चा स्कूल में प्रार्थना कर रहा है और उसके जेब में पराठा रखा है। शायद माॅ ने उसे स्कूल जाने के पहले खाने के लिए दिया होगा लेकिन शायद वह समय के आभाव के चलते नहीं खा पाया तो उसने जेब में ही रख लिया। समय की चकाचौंध  में आज हर माॅ-बाप अपने बेटे को ऊंचाई पर देखना चाहते हैं। यह जरूरी भी है लेकिन उससे भी जरूरी यह है कि हम उनके बचपन की मासूमियत को न छीने। हाईटेक के इस जमाने में  भी आज यह आम तौर पर देखा जा रहा है कि मासूम बच्चों के कंधों पर किताबों का बोझ लाद दिया जाता है। बच्चें, मजदूर की तरह इसे ढ़ोते दिखाई पड़ते है।
हैदराबाद के सुरेन नाम के एक ट्विटर यूजर ने यह तस्वीर पोस्ट की जिसमें एक बच्चा स्कूल में प्रार्थना की लाइन में खड़ा है और उसके जेब में पराठा दिख रहा है। यह तस्वीर हैदराबाद में छोटे बच्चों के एक स्कूल का है जो इन दिनों तेजी से वायरल हो रहा है। इस तस्वीर के सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने से स्कूल मैनेजमेंट सवाल के घेरे में है। सुरेन ने इस पोस्ट में एचआरडी मिनिस्ट्री और तेलंगाना के मंत्री केटी रामा राव को टैग करते हुए लिखा, ”जेब में सुबह का ब्रेक फास्ट, अधूरी नींद, स्कूल की टाइमिंग 10 बजे से 5.30 मिनट तक क्यों नहीं, कृपया सोचें।”

Share

Related posts

Share