विश्व शान्ति व सद्भावना के लिए बच्चों ने बुद्ध की उपदेश स्थली सारनाथ में किया यज्ञ-हवन

alish 1

विजय श्रीवास्तव
-सारनाथ स्थित यूनिवर्सल ऐजूकेशनल स्कूल में बच्चों ने लिया स्वच्छता व पर्यावरण के लिए संकल्प
वाराणसी। आस्था व तपस्या की तपोभूमि भगवान बुद्ध की उपदेश स्थली में आज सैकड़ों छोटे-छोटे बच्चों ने एलिस प्रोजेक्ट के तत्वावधान में विश्व शान्ति एवं समस्त प्राणियों के कल्याण, विश्व बन्धुत्व एवं सद्भावना विस्तार के उद्देश्य को मन में संकल्पित कर गायत्री महामंत्र का सवालक्ष्य जप तथा पंचकुण्डीय पूर्णाहूति यज्ञ-हवन का आयोजन किया गया। गायत्री शक्तिपीठ के आचार्यो के निर्देशन में एलिस प्रोजेक्ट द्धारा संचालित यूनिवर्सल एजुकेशन उ. मा. विद्यालय तथा सार्वभौमिक शिक्षाश्रम संस्कृत महाविद्यालय के समस्त छात्र-छात्राएं एंव शिक्षकगण उपस्थित होकर अपनी आहुति यज्ञ देव को समर्तित किए।

alish 2
गौरतलब है कि उक्त विद्यालय प्राचीन परम्पराओं को आधुनिक समय व शिक्षा पद्यति में भी सामजस्य बैठाते हुए कार्य कर रही है। बच्चों के अन्दर अपने प्राचीन परम्पराओं, पर्यावरण के साथ विभिन्न धर्मो में भी उनके मूल उद्देश्यों को परिभाषित करते हुए समय-समय पर कार्यक्रम आयोजित करती रहती है। विश्व शान्ति व पर्यावरण के लिए आयोजित कार्यक्रम में इस आचार्य भारद्वाज जी द्वारा प्राचीन काल में गुरु कुल शिक्षा के समय आश्रम में यज्ञादि की परम्परा व पर्यावरण  में इसके महत्व के विषय में विद्यार्थियों को भजन आदि के द्वारा बिषय में बताया गया तथा पृथ्वी माता एवं सम्पूर्ण  पर्यावरण  को स्वच्छ रखने का संकल्प भी कराया गया।

alish 3

गौरतलब हेै कि संस्था के संस्थापक जियाकोमिन वेलिंटिनों इससे पूर्व कई अवसरों पर इस बात को प्रमुखता से उठाते रहे हैं कि विश्व गुरु की भूमिका निभा चुके भारत के पास आधुनिक समाज की समस्याओं का हल रहा है, किन्तु आज पाश्चात्य जगत के अन्धानुकरण के कारण हम अपने धरोहर के खजाने की कुंजी को भूल गये हैं  और इस तरह अपने मूल से दूर होते जा रहे हैं। इन आधुनिक समाज की समस्याओं के हल का एक मात्र रासता आध्यात्म से भी निकता है। इन्ही भारतीय परम्पराओं से प्रभाववि हो संस्था में वर्ष 2003 में गायत्री पूजन पीठ की स्थापना की गयी, तब से अनवरत गायत्री मंत्र का जप, पूजन व हवनादि कार्य चल रहा है।  आज के कार्यक्रम में आचार्य के रूप में जुगुल किशोर पाण्डेय, आचार्य भारद्वाज जी रहे वहीं इस अवसर पर प्रमुख रूप से प्रधानाचार्य अवनीश मिश्रा, अरूण शुक्ल, सुनील पाण्डेय, सुधाकर प्रसाद, श्रीमती नीलम वर्मा, मोहन लाल आदि एंव विद्यालय के छात्र व अध्यापक गण उपस्थित रहे।

 

Share

Leave a Reply

Share