Breaking News

शिक्षक विधायक निधि कमीशनखोरी व धनोपार्जन करने का साधन: रमेश सिंह

पंकज तिवारी
-शिक्षक विधायक निधि से किया जा रहा है मतदाता एवं मतदान को प्रभावित
-शिक्षक विधायक निधि बन्द करें सरकार

जौनपुर। शिक्षक विधायकों के लिए विधायक निधि आज सीधे कमीशनखोरी व धनोपार्जन करने का साधन बन गया है। शिक्षक विधायक निधि से हैन्डपम्प, सोलर लाइट, नाली, खडंजा आदि के माध्यम से मतदाता एवं मतदान को प्रभावित का सीधा प्रयास किया जा रहा है। जो कहीं से भी न्यायोचित्त नहीं है। शिक्षक विधायक निधि के औचित्य पर ही प्रश्न उठाते हुए मा0शि0संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं वाराणसी खंड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र से प्रत्याशी रमेश सिंह ने तीखा हमला करते हुए विधायक निधि को समाप्त करने की मांग प्रदेश सरकार से की है।


24टाइम्सटूडे संवाददाता से बातचीत के दौरान रमेश सिंह ने निवर्तमान शिक्षक विधायकों द्वारा आगामी शिक्षक खंड निर्वाचनो के दौरान इसके दुरुपयोग से मतदान एवं मतदाताओ को प्रभावित करने की आशंका व्यक्त करते हुए निर्वाचन से पूर्व ही इसे समाप्त करने मांग करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ को पत्र भी लिखा है। उन्होंने कहा कि शिक्षक विधायकों को मुख्य रूप से शिक्षा, शिक्षक और शिक्षार्थी के हितों के लिए काम करने के लिए विधायक निधि की कोई आवश्यकता नहीं है। इस निधि से केवल कमीशन खोरी और भ्रष्टाचार ही बढ़ा है। इसलिए सभी शिक्षक साथियों द्वारा इस निधि को समाप्त किए जाने की जोरदार आवाज उठानी चाहिए।
यदि सरकार द्वारा यह निधि समाप्त कर दी जाती है तो एक ओर जहां कमीशन खोरी और भ्रष्टाचार कम होगा वहीं सरकारी धन का बचत भी होगी। सबसे महत्वपूर्ण लाभ यह होगा कि शिक्षक विधायकों के रूप में साधारण आर्थिक पृष्ठभूमि का योग्य शिक्षक साथी भी चुनाव जीत कर सदन में पहुंच सकेगा ,जो शिक्षा, शिक्षक और शिक्षार्थी सभी के हित के लिए संकल्पित रहेगा।

Share

Related posts

Share