शिव की नगरी काशी राजनीति अखाड़ें के रूप में तब्दील

rahul-akhilesh

-विजय श्रीवास्तव
-पीएम मोदी सहित दर्जन भर केंन्द्रीय मंत्री ने डाला डेरा
-यूपी के सीएम अखिलेश के साथ डिंपल व कांग्रेस के राहुल भी होंगे आज काशी में
वाराणसी। विश्व की सबसे प्राचीन अध्यात्मिक नगर काशी इन दिनों राजनीति अखाड़ा के रूप में पूरी तरह से तब्दील हो गयी है। आज जहां देश के पीएम नरेन्द्र मोदी अपने दर्जन भर केन्द्रीय मंत्रियों के साथ आज से तीन दिन तक रोड शो व सभा के माध्यम से अपना दम खम दिखायेंगे। वही सपा-कांग्रेस गठबंधन से प्रदेश के सीएम अखिलेश अपनी पत्नी डिंपल के साथ कांग्रेस के राहुल गांधी के साथ रोडशो कर अपनी शक्ति का आज प्रदर्शन करेंगे। वाराणसी में आखिर चरण में यानी 8 मार्च को चुनाव है।
गौरतलब है कि पीएम मोदी वाराणसी संसदीय क्षेत्र से चुन कर ही गये हैं। इस संसदीय क्षेत्र में तीन विधानसभा क्षेत्र कैण्ट, उत्तरी व दक्षिणी आते हैं। भाजपा के लिए इस बार यह चुनौती है कि वे तीनों सीट पर अपना पताका फहराने के साथ पूर्वांचल के अन्य सीटों पर अपनी शक्ति को बढ़ाये। इसके लिए बकायदे पीएम मोदी स्वंय तीन दिन काशी में रूक कर इस लड़ाई की रूप रेखा तैयार करेंगे। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी आज यानि 4 मार्च से तीन दिनों तक अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में प्रचार करेंगे। मोदी की नजर चालीस सीटों पर है जिसके लिए चक्रव्यूह रचा जा रहा है। भाजपा ने पिछले चुनाव में तीन सीटों पर फतह हासिल की थी। भाजपा के समक्ष जहां अपने इन सीटों को बचाने की चुनोैती होगी वहीं पूर्वांचल में अपनी धमक बनाने के लिए अपनी शक्ति बढ़ानी होगी।
सपा-कांग्रेस गठबंधन से स्वंय यूपी के सीएम अखिलेश पहली बार अपनी पत्नी डिंपल के साथ काशी में रोड शो करेंगे। उनके साथ कांग्रेस के राहुल गांधी भी होंगे। छठा व सातंवा चरण का चुनाव सपा-कांग्रेस व भाजपा के लिए जीवन मरण के लिए प्रश्न है। ये दोंनो चरण ही तय करेगी कि यूपी अगले पांच साल के लिए किसकी होगी। भाजपा को 2019 में लोंकसभा चुनाव में पुनः अपना परचम लहराने के लिए यूपी चुनाव को फतह करना सबसे बड़ी चुनौती होगी। वहीं समाजवादी सरकार को अपनी बादशाहत बचाने के लिए जीवन-मरण का प्रश्न है। अगर अभी पंाच चरण के मतदान पर सरसरी नजर डाली जाये तो मिले रूझान से किसी को भी स्पष्ट बहुमत मिलता नजर नहीं आ  रहा है। जिससे सपा, बसपा के साथ भाजपा की भी नींद उड़ गयी है। इसलिए सभी पार्टी इन दोंनो चरण के चुनाव पर अपना पूरा फोकस कर रही है। सीएम अखिलेश व डिंपल के साथ राहुल गांधी का रोड शो कचहरी के अम्बेडकर चैराहा से प्रारम्भ हो कर चैकाघाट, दोषीपुरा, गोलगड्डा, पीलीकोठी, मैदागिन, चैक, गोदोैलिया होते हुए गिरजाघर चैराहा पर समाप्त होगी।
पीएम मोदी आज बाबा विश्वनाथ का दर्शन कर अपने प्रचार का शुभारंभ करेंगे। प्रधानमंत्री अपने तीन दिन के ठहराव में जहां तीन सभा करेंगे वहीं रोड शो कर भाजपा के प्रत्याशियों के पक्ष में प्रचार करेंगे। गौरतलब है कि 2012 में 40 में 4 सीटें जीतने वाली बीजेपी को 2014 में मोदी लहर में 38 सीटों पर बढ़त मिली थी। अब एक बार फिर विधानसभा चुनाव मोदी लहर के भरोसे है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार पीएम का रोड शो बीएचयू गेट से शुरू होकर  रविदास गेट लंका, अस्सी, भदैनी, सोनारपुरा , मदनपुरा, गोदौलिया, बांस फाटक होते हुए ज्ञानवापी और फिर बाबा विश्वनाथ तक पहुंचेगी। बाबा के दर्शन के बाद पीएम चैक, नीचिबाग, मैदागीन, कोतवाली थाना, विश्वेश्वर गंज से गुजरात विद्या मंदिर होते हुए काल भैरव तक जाएंगे। करीब सात किलोमीटर लंबे रोड शो और मंदिर में साधना के बाद बारी वोटरों को साधने की होगी, मोदी टाउन हॉल में रैली को संबोधित करेंगे। 5 मार्च को मोदी बीएचयू से सटे गढवा घाट आश्रम जाएंगे जो यादवों का स्थापित पीठ माना जाता है। माना जाता है कि भक्ति और ध्यान से जुड़े गढ़वा आश्रम के एक करोड़ अनुयायी हैं। इस पीठ की यात्रा से मोदी की नजर यादव वोटों में भी सेंध लगाने की होगी. शाम सात बजे मोदी काशी विद्यापीठ में रैली को संबोधित करेंगे। वाराणसी दक्षिण सीट में काशी विद्यापीठ भी आता है जहां छात्रों और शहर की युवा आबादी को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री अपने तीन दिन दौरे के आखिरी दिन 6 मार्च को रोहनियां में रैली करेंगे। वाराणसी के ग्रामीण इलाके रोहनियां में बीजेपी की स्थिति अच्छी नहीं बताई जा रही इसलिए मोदी एक बार फिर रोहणिया में रैली करने वाले हैं।

Share

Leave a Reply

Share