Breaking News

सीआईएमएस व अभाकाम ने किया प्रतिभाओं को सम्मान

विजय श्रीवास्तव
-नेता जी सुभाष चन्द्र बोष सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में तीन सौ मेधावी बच्चों ने किया प्रतिभाग
-हाईस्कूल व इन्टर के मेधावी छात्रों को किया गया सम्मानित
-वीमन सेफ्टी व स्मार्ट राखी डिवाइस बनाने वाली अंजली श्रीवास्तव को किया गया सम्मानित

वाराणसी। अखिल भारतीय कायस्थ महासभा और सीआईएमएस (कम्प्यूटर इंस्टीट्यूट आफ मैनेजमेंट एण्ड स्टडीज) के संयुक्त तत्वावधान में ‘नेताजी सुभाष चन्द् बोस सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी‘ प्रतियोगिता का आयोजन परशुरामपुर (बेनीपुर) पहड़िया स्थित राज इंग्लिश स्कूल के आडिटोरियम में किया गया जिसमें विभिन्न स्कूल व कालेज के छात्र-छात्राओं नें भाग लिया। इस दौरान हाईस्कूल व इन्टर की बोर्ड की परिक्षाओं में अच्छे अंक पाने वाले मेधावी छात्रों को जहां सम्मानित किया गया वहीं अन्य सामाजिक व अन्य क्षेत्रों में किए गये अनुकरणीय कार्यो के लिए लोंगो को सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम की शुरुआत सीआईएमएस की निदेशिका मुक्ता श्रीवास्तव द्वारा प्रस्तुत करनें के साथ विशिष्ट अतिथियों द्वारा माॅ सरस्वती देवी को माल्यापर्ण के साथ दीप प्रज्जवलन कर हुआ। अति विशिष्ट अतिथि के रुप से राज इंग्लिश स्कूल के निदेशक डा० हरिओम सिंह, अभाकाम के वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डा० मुकेश श्रीवास्तव, बीएचयू ट्रामा सेंटर के सीएमओ डा० राम अवतार, राष्ट्रीय सहारा के संपादक स्नेह रंजन, अभाकाम के प्रांतीय अध्यक्ष पूर्वांचल श्री अनिल श्रीवास्तव आदि लोग उपस्थित रहे।


तत्पश्चात सीआईएमएस एवं अभाकाम द्वारा सम्मानित अतिथियों का सम्मान कर उन्हे स्मृति चिह्न प्रदान किया गया। अपने उद्बोधन में मुख्य अतिथि डा० हरिओम सिंह जी नें कहा कि इस तरह के कार्यक्रम से बच्चों का उत्साहवर्धन होता है। अति विशिष्ट अतिथि स्नेह रंजन जी ने कहा कि ज्ञान का कोई विकल्प नहीं होता है। डा० मुकेश श्रीवास्तव नें कहा कि अभाकाम प्रतिभाओं को सम्मानित करनें में स्वयं को गौर्वान्वित महसुस करती है। इसके पश्चात क्विज के प्रथम चरण के अर्हता परीक्षा सम्पन्न हुआ जिसमें नेताजी सुभाष चंद्र बोस तथा सामान्य ज्ञान से संबंधित बहुविकल्पिय प्रश्न पूछे गए। क्विज प्रतियोगिता को दो समूह में बाटा गया था जूनियर ग्रुप में कक्षा 6 से 8 तक एवं सीनियर ग्रुप में कक्षा 9 से उपर तक (उम्र 20 वर्ष से कम) के छात्रध्छात्राओं को रखा गया था। दोनों ग्रुप में से दस-दस सर्वोच्च अंक प्राप्त करनें वाले प्रतिभागियों को रैपिड फायर राउण्ड में फाइनल के लिए चुना गया। तत्पश्चात मेधावी प्रतिभाओं एवं विशिष्ट जनों का सम्मान किया गया।


इस दौरान विभिन्न क्षेत्रों में प्रंशसनीय कार्य कर करने वाले प्रतिभाशाली लोंगो को सम्मानित किया गया। जिसमें वाराणसी की वीमन सेफ्टी डिवाइस,स्मार्ट राखी, बार्डर पर सैनिकों के लिए पीछे से फायर करने वाला हेलमेट आदि का अविष्कार करने वाली अंजली श्रीवास्तव सहित ईशान श्रीवास्तव, वैभव श्रीवास्तव, श्रेयांस सिन्हां, पल्लवी प्रिया, सैजसी उपाध्याय, आकाश श्रीवास्तव, रिशिका श्रीवास्तव, रितिक कुमार सिंह, दीपक विश्वकर्मा, शिवांक रस्तोगी, श्रेया सिंह, आकिब अंसारी एवं कौशिकी श्रीवास्तव को सम्मानित किया गया इसके साथ विशिष्ट सम्मान में समाज सेवा क्षेत्र से प्रवीण श्रीवास्तव, श्रीमती ज्योति श्रीवास्तव, पत्रकारिता क्षेत्र से रामात्मा श्रीवास्तव, शिक्षा क्षेत्र से श्रीमती अंजू श्रीवास्तव तथा कार्यक्रम सहयोगी श्री सत्य सांई जन कल्याण न्यास समिति द्वारा चर्चित उपन्यास ‘पियु मिलन की आस‘ की लेखिका श्रीमती मुक्ता श्रीवास्तव को उत्कृष्ट लेखनीं हेतु सम्मानित किया गया। अभाकाम एवं सीआईएमएस नें श्री सत्य सांई जन कल्याण न्यास समिति को स्मृति चिह्न प्रदान किया। कार्यक्रम के दौरान बीच-बीच में अतिथियों द्वारा प्रश्न पूछे गए जिसमें सही उत्तर बतानें वाले को श्री सत्य सांई जन कल्याण न्यास समिति की तरफ से स्मृति चिह्न प्रदान किया। इसके पश्चात क्विज प्रतियोगिता का रैपिड फायर राउण्ड प्रारंभ हुआ जिसमें प्रत्येक फाइनलिस्ट प्रतिभागियों से अतिथियों द्वारा बंद लिफाफे में से पांच-पांच प्रश्न पूछे गए। सर्वाधिक अंक प्राप्त करनें वाले प्रतिभागियों को विजेता घोषित किया गया। जिसमें जूनियर ग्रुप से विष्णु वर्मा विजेता, श्रेयांस मोर्या प्रथम उपजेता, अनुष्का श्रीवास्तव द्वितीय उपजेता एवं सीनियर ग्रुप से अभिषेक पाण्डेय विजेता, विकास गुप्ता प्रथम उपजेता, आस्था मौर्या द्वितीय उपजेता घोषित किए गए। अभाकाम एवं सीआईएमएस द्वारा सभी विजेताओं को ट्राफी के साथ सीआईएमएस द्वारा दोनों ग्रुप के विजेताओं को एक वर्ष का एडीसीए, प्रथम उपजेताओं को नौ महीनें का डीसीए तथा द्वितीय उपजेताओं को छ महीनें का डीसीएफए-डीडीटीपी कोर्स निशुल्क प्रदान करनें की घोषणा किया गया। कार्यक्रम का संचालन सीआईएमएस के प्रबंध निदेशक तथा अभाकाम पूर्वांचल के खेलकूद शिक्षा तथा सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के प्रान्तीय अध्यक्ष मनोज श्रीवास्तव नें किया अंत में धन्यवाद ज्ञापन सीआईएमएस की निदेशिका श्रीमती मुक्ता श्रीवास्तव ने किया।

Share

Related posts

Share