सुप्रीम कोर्ट स्कूल में बच्चों की सुरक्षा संबंधित याचिका पर 15 सितंबर को करेगा सुनवाई

ssssss
– दो महिला वकीलों ने स्कूल में बच्चों की सुरक्षा सम्बन्धी याचिका दायर की है
नयी दिल्ली। स्कूलों में विद्यार्थियों के साथ आये दिन हो रहे हादसों को इस बार देश की उच्चतम न्यायालय ने काफी गंभीरता से लिया है। गुरूग्राम में रेयान इंटरनेशनल स्कूल में जिस बर्बरता से प्रद्युम्न की हत्या की गयी उससे पूरे देश में स्कूलों में विद्यार्थियों की सुरक्षा की जोरदार मांग उठ खडी हुई है। सुप्रीम कोर्ट ने आज कहा कि वह देशभर के स्कूलों में विद्यार्थियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए मौजूदा दिशा-निर्देशों को लागू करने की मांग करने वाली दो महिला वकीलों की याचिका पर 15 सितंबर को सुनवाई करेगा।
प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति अमिताव रॉय और न्यायमूर्ति ए. एम. खानविलकर की पीठ ने कहा कि उसने गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में बर्बरता से मार दिये गये बच्चे के पिता की इसी प्रकार की अर्जी पर पहले ही नोटिस जारी कर दिया है।
पीठ ने कहा, ‘‘हम इसे पुरानी (याचिका) के साथ जोड़ देंगे।’’ पीठ ने न्यायालय की दो वकीलों आभा शर्मा और संगीता भारती की याचिका पर सुनवाई के लिए शुक्रवार का दिन तय किया। वकीलों ने स्कूली बच्चों की सुरक्षा को लेकर मौजूदा दिशा-निर्देशों को लागू करवाने की मांग की है। गौरतलब है कि गुरुग्राम स्थित रेयान इंटरनेशनल स्कूल में बर्बरता से मार दिए गए सात वर्षीय प्रद्युम्न ठाकुर के पिता वरुण ठाकुर की अर्जी पर कल न्यायालय की पीठ ने सुनवाई की थी।
 याचिका मंे स्कूल बसों..वाहन में चढ़ने के साथ ही विद्यार्थियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी स्कूलों की हो, यह सुनिश्चित करने के लिए दोनों वकीलों ने अतिरिक्त मानदंड भी सुझाए हैं।

Share

Leave a Reply

Share