Breaking News

1 सितम्बर से अनलॉक-4 की गाइड लाइन जारी, 7 सितंबर से फिर दौड़ेगी मेट्रो, स्कूल-कालेज अभी रहेंगे बंद

विजय श्रीवास्तव
-गृह मंत्रालय ने अनलॉक-4 की गाइडलाइन जारी कर दी
-स्कूल, कॉलेज, शैक्षणिक और कोचिंग संस्थान अभी बंद रहेंगे
-21 सितंबर सामाजिक, राजनीतिक, मनोरंजन, खेल आदि से जुड़े समारोहों की अनुमति
-अनलॉक-4 लॉकडाउन को 30 सितंबर तक कड़ाई से लागू किया जाएगा

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के चलते वर्तमान में चल रहा अनलॉक-3 आगामी 31 अगस्त को पूरा होने जा रहा है। इस क्रम में गृह मंत्रालय ने शनिवार शाम अनलॉक 4 की गाइड लाइन जारी कर दी है। सरकार ने 30 सितंबर तक लागू रहने वाले अनलॉक-4 की गाइड लाइन जारी कर दी है। जो 1 सितम्बर से शुरू हो जायेगी। इसमें बहुत कुछ तो छुट नहीं लेकिन कुछ क्षेत्रों में दी गयी है। इस सन्दर्भ में गृह मंत्रालय ने अनलॉक-4 की गाइडलाइन जारी कर दी है। इसमें काफी दिनों से इन्तजार कर रहे लोंगो को मेट्रो सेवा शुरू करने की इजाजत दे दी गई है। वैसे यह 7 सितंबर से देश में मेट्रो सेवा चरणबद्ध तरीके से फिर से शुरू की जाएगी। वहीं 21 सितंबर से 21 सितंबर सामाजिक, राजनीतिक, मनोरंजन, खेल, धार्मिक आयोजन समारोहों की अनुमति शुरू करने की इजाजत दी गयी है जिसमें अधिकतम 100 लोग की उपस्थिति ही रहेगी।
गौरतलब है कि कोरोना वायरस के कारण देश में मार्च के महीने में लागू किए गए लॉकडाउन के वक्त से ही मेट्रो सेवा का परिचालन आम नागरिकों के लिए बंद था। इसके लिए काफी दिनों में मेट्रो सेवा को फिर से शुरू करने की मांग की जा रही थी। इस सन्दर्भ में दिल्ली की अरविन्द केजरीवाल की सरकार भी इसे चलाने के लिए कह रही थी। आखिरकार अब गृह मंत्रालय ने मेट्रो को फिर से शुरू करने की मंजूरी दे दी है। सितंबर के महीने के 7 तारिख से मेट्रो सेवा का परिचालन किया जा सकेगा। गृह मंत्रालय की नई गाइडलाइन के मुताबिक देश में सात सितंबर से मेट्रो रेल सेवा का परिचालन चरणबद्ध तरीके से किया जा सकेगा साथ ही मेट्रो सेवा का इस्तेमाल करने के लिए कई नियमों का पालन भी करना होगा।
गृह मंत्रालय की ओर से जारी गाइडलाइंस के मुताबिक, 21 सितंबर से सामाजिक, राजनीतिक, मनोरंजन, खेल आदि से जुड़े समारोहों की अनुमति होगी। लेकिन एक छत के नीचे अधिकतम 100 लोग मौजूद रह सकेंगे। सिनेमा हॉल, स्विमिंग पुल, अंतरराष्ट्रीय उड़ानें (कुछ विशेष मामलों को छोड़कर) अभी भी बंद रहेंगे।
गृह मंत्रालय द्वारा जारी गाइड लाइन निम्नवत है –
-कक्षा 9 से 12 तक के छात्रों को अपने शिक्षकों से मार्गदर्शन लेने के लिए, स्वैच्छिक आधार पर, केवल कंटेनर जोन के बाहर के क्षेत्रों में अपने स्कूलों का दौरा करने की अनुमति दी जा सकती है। यह उनके माता-पिता व अभिभावकों की लिखित सहमति के बाद होगा।

  • आवास एवं शहरी मामलों के मंत्राल व रेलवे मंत्रालय के साथ परामर्श से मेट्रो रेल को 7 सितंबर से क्रमबद्ध तरीके से संचालित करने की अनुमति दी जाएगी।
  • व्यक्तियों और वस्तुओं के अंतर-राज्य और अंतर-राज्य आंदोलन पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा। इस तरह के आंदोलनों के लिए अलग से अनुमति ई-परमिट की आवश्यकता नहीं होगी।
  • सिनेमा हॉल, स्विमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थिएटर (ओपन-एयर थिएटर को छोड़कर) और इसी तरह की गतिविधियों को छोड़कर सभी गतिविधियों को नियंत्रण क्षेत्रों के बाहर अनुमति दी जाएगी।
    -एमएचए द्वारा यात्रियों की अंतर्राष्ट्रीय हवाई यात्रा की परमिशन दी गई है।
  • राज्य व केन्द्र शासित प्रदेश सरकारें केंद्र सरकार के साथ पूर्व परामर्श के बिना किसी भी (राज्य व जिला व उप-विभाजन व शहर व गाँव स्तर) में जोन के बाहर लोकल लॉकडाउन नहीं लगाएंगी।
    -कोविड 19 प्रबंधन के लिए राष्ट्रीय निर्देशों का पूरे देश में पालन किया जाना जारी रहेगा, जबकि सामाजिक दूरी को सुनिश्चित किया जाएगा।
  • ग्राहकों के बीच पर्याप्त शारीरिक दूरी बनाए रखने के लिए दुकानों की आवश्यकता होती है। एमएचए राष्ट्रीय निर्देशों के प्रभावी कार्यान्वयन की निगरानी करेगा।
    -स्कूल, कॉलेज, शैक्षणिक और कोचिंग संस्थान अभी बंद रहेंगे। गाइडलाइंस में कहा गया है कि कि राज्यों और केंद्रशासित राज्यों के साथ गहन चर्चा के बाद यह फैसला किया गया है कि स्कूल, कॉलेज, शैक्षणिक और कोचिंग संस्थान छात्रों के लिए 30 सितंबर तक के लिए बंद ही रहेंगे। ऑनलाइनध्डिस्टेंस लर्निंग को इजाजत जारी रहेगी और उसे प्रोत्साहित किया जाएगा।
    -राज्य और केंद्रशासित प्रदेश अपने-अपने यहां स्कूलों में ऑनलाइन टीचिंगव टेलि-काउंसलिंग और उससे जुड़े कामों के लिए 50 प्रतिशत टीचिंग और नॉन-टीचिंग स्टाफ को बुलाने की इजाजत दे सकते हैं।
Share

Related posts

Share