UP CM Fellowship Yojana : 40 हजार Rs. महिना के साथ टेबलेट खरीदने के लिए भी 15 हजार Rs. दिये जायेंगे

उत्तर प्रदेश सरकार में योगी आदित्यनाथ अभी एक नयी योजना का हरी झंडी दिखायी है। जिसके तहत योगी आदित्यनाथ ने (UP CM Fellowship Yojana) शुरू की है। जिससे शोधार्थियों को फेलोशिप मिल सकेंगी। योगी सरकार ने यह योजना विशेष कर प्रदेश के पिछड़े ब्लॉकों के विकास के दृष्टिगत लिया है। इसमें चयनित शोधार्थियों को जहां 40 हजार रूपया महिना के साथ टेबलेट खरीदने के लिए भी 15 हजार रूप्ये दिये जायेंगे। सबसे बडी बात यह है कि इसमें चयनित युवा अपने-अपने जिलों के जिलाधिकारी और मुख्य विकास अधिकारी के अधीन काम करेंगे। मुख्यमंत्री फेलोशिप कार्यक्रम के लिए 10 अगस्त से शुरू किया जा चुका हैै।  

शिक्षा के क्षेत्र में विद्यार्थियों के लिए राज्य सरकार शोध छात्रों के लिए भी सुनहरा अवसर देने जा रही है। अगर आप यूपी के रिसर्च विद्यार्थी है और आपको फेलोशिप के 40,000 चाहिए तो आप इस वीडियों को  जरूर देखें क्योंकि योजना रिसर्च विद्यार्थी के लिए ही है। आज के इस वीडियो में हम जानेंगे कि क्या है यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना, इसके उद्देश्य क्या है इसके क्या फायदे हैं और साथ ही में आप इसके लिए कैसे आवेदन कर सकते हैं। सीएम फेलोशिप योजना के तहत चयनित शोधार्थियों को सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं पर नजर रखने के साथ ही योजनाओं को सहज, जन- जन के अनुरूप बनाने में सुझाव भी लिए जानने की तैयारी हैं। इसके तहत सबसे पहले आकांक्षी ब्लाकों में विकास की जिम्मेदारी शोधार्थियों को दी जा रही है। प्रदेश में सौ आकांक्षी ब्लाकों का चयन किया गया है। जिसमें यह योजना शुरू की जा रही है। 

इस पर शोध कार्य करने के लिए हर ब्लॉक के लिए एक शोध छात्र की नियुक्ति भी की जाएगी। आकांक्षी ब्लाकों के लिए चयनित शोधार्थी उप जिलाधिकारी और खंड विकास अधिकारी के साथ काम करेंगे। इन अधिकारियों के साथ समन्वय बनाकर केंद्र व राज्य सरकार की सभी योजनाओं का मूल्यांकन करेंगे। साथ ही योजनाओं के संचालन में आ रही चुनौतियों के निराकरण व योजनाओं से जनमानस को लाभ पहुंचाने के लिए सुझाव भी लिए जाएंगे।

Qualification : UP CM Fellowship Yojana शोधकर्ताओं के लिए योग्यता

आवेदक यूपी का निवासी होना चाहिए.

आवेदक 60ः अंकों से ग्रेजुएशन पास किया हो.

उम्मीदवार को कंप्यूटर और आईटी की अच्छी जानकारी हो.

उम्मीदवार की उम्र 40 साल से ज़्यादा नहीं होनी चाहिए.

प्रदेश के हर विश्वविद्यालयों से जुड़े शोध छात्रों को इसका लाभ मिल सकता है। 

 किन क्षेत्रों के युवाओं का हो सकता है चयन

कृषि, ग्रामीण विकास, पंतायतीराज और संबंधित विभाग

शिक्षा, स्वास्थ्य और कौशल विभाग

पर्यटन एवं संस्कृति

डाटा साइंस, बैंकिंग, आईटी, लोक नीति एवं गवर्नेंस

Salary प्रति माह 40000 रुपए सरकार करेगी भुगतान

जानकारी के मुताबिक प्रत्येक साथी को एक वर्ष की अवधि के लिए प्रति माह 30,000 रुपये का भुगतान किया जाएगा, जो एक पूर्णकालिक रोजगार होगा। यात्रा के लिए प्रति माह अतिरिक्त 10,000 रुपये का भुगतान किया जाएगा, जबकि टैबलेट की खरीद के लिए 15,000 रुपये का एकमुश्त भुगतान किया जाएगा। फेलोशिप की अवधि एक साल के लिए बढ़ सकती है आवेदन करने वाले के पास कंप्यूटर और आईटी का ज्ञान होना अनिवार्य है जरूरी है । जैसे कि आप जानते हैं यह योजना युवाओं के लिए है तो इसमें आवेदक की उम्र 40 वर्ष से ज्यादा नहीं होनी चाहिए । आवेदक यूपी स्टेट का ही होना चाहिए वरना उसका फॉर्म रिजेक्ट हो जाएगा। चयनित शोधकर्ताओं को निर्धारित विकास खंड में रहना आवश्यक होगा।शोधकर्ताओं को जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी के अधीन कार्य करना होगा। 

Selection Process यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना के तहत चयन प्रक्रिया 

जो इच्छुक पात्र युवा इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं वह नियोजन विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करते समय आवेदक को 500 शब्दों में उद्देश्य का विवरण भी अपलोड किया जाना अनिवार्य है। यदि आवेदक युवा 500 शब्दों के उद्देश्य का विवरण अपलोड नहीं करता है उसके आवेदन को अस्वीकार कर दिया जाएगा। आवेदकों के आवेदन पत्रों की स्क्रीनिंग करने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों/विषय विशेषज्ञों की एक कमेटी का गठन किया जाएगा। अगर आवेदक सभी पात्र मानदंडों को पूरा करता है उसके आवेदन को स्वीकार कर लिया जाएगा।

युवाओं की 50 अंकों की जाएगी ऑब्जेक्टिव स्कोरिंग

गठित स्क्रीनिंग कमेटी द्वारा निम्नलिखित मानकों के आधार पर आवेदकों की ऑब्जेक्टिव स्कोरिंग की जाएगी। इसके अलावा भी अन्य कई मानक है जिसके तहत स्कोरिंग की जायेगी। जिसमें आपके डिग्री सहित पुरस्कार आदि को भी शामिल किया जायेगा। जिसे आप अधिकारिक साइट पर देख सकते हैं।यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना के तहत चयन प्रक्रिया

जो इच्छुक पात्र युवा इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं वह नियोजन विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

आवेदन करते समय आवेदक को 500 शब्दों में उद्देश्य का विवरण भी अपलोड किया जाना अनिवार्य है। यदि आवेदक युवा 500 शब्दों के उद्देश्य का विवरण अपलोड नहीं करता है उसके आवेदन को अस्वीकार कर दिया जाएगा।

आवेदकों के आवेदन पत्रों की स्क्रीनिंग करने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों/विषय विशेषज्ञों की एक कमेटी का गठन किया जाएगा। जिसका कुल योग 50 अंको का होगा। 

 Personal Interview व्यक्तिगत साक्षात्कार

के समय अपने आवेदन पत्र के साथ संलग्न सभी अभिलेखों की मूल एवं स्व प्रमाणित प्रतिलिपि प्रस्तुत करनी होगी। साक्षात्कार के दौरान युवाओं के व्यक्तिगत, सामान्य ज्ञान एवं कार्य के प्रति उत्साह आदि का आंकलन किया जाएगा। इसके बाद अभ्यर्थी द्वारा आवेदन पत्र के साथ प्रस्तुत किए गए उद्देश्य का विवरण का संज्ञान लेते हुए अभ्यर्थियों को 25 अंकों में से स्कोर किया जाएगा। 100 अभ्यर्थियों को योजना के नियम एवं शर्तों के आधार पर चयन किया जाएगा। 50 अभ्यार्थियों को प्रतीक्षा सूची में रखा जाएगा। समान अंक लाने वाले अभ्यर्थियों में से जिसकी आयु अधिक होगी उसे वरीयता क्रम में ऊपर रखा जाएगा।

चयनित युवाओं को प्रदान किया जाएगा प्रशिक्षण

इस योजना के तहत जिन युवाओं का चयन किया जाएगा उन्हें 2 हफ्ते का प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। 

UP CM Fellowship Yojana से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें

इस योजना के क्रियान्वयन एवं प्रबंधन का काम नियोजन विभाग द्वारा किया जाएगा। यह कार्यक्रम एक पूर्णकालिक कार्यक्रम है। इसलिए चयन किए गए युवाओं को इस कार्यक्रम की अवधि के दौरान अन्य रोजगार, असाइनमेंट एवं अन्य पूर्णकालिक अध्ययन/कार्य आदि करने की अनुमति नही है।

एक बात और आपको मालूम होनी चाहिए कि यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना  फेलोशिप कार्यक्रम की अवधि पूरी हो जाने के बाद शोधार्थियों को स्थाई सेवा/ रोजगार प्रदान करने का आश्वासन नहीं देती है। फेलोशिप कार्यक्रम के दौरान शोधार्थी किसी भी राजनीतिक आंदोलन में भाग नहीं ले सकता है।

Document यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना जरूरी दस्तावेज

आवेदक का स्टेट डोमिसाइल होना जरूरी है जिससे कि पता चले यह यूपी का ही निवासी है 

ग्रेजुएशन मार्क्स सर्टिफिकेट होना जरूरी है 

कोई भी कंप्यूटर या आईटी से संबंधित प्रमाण पत्र होना जरूरी है 

आईडिया आधार कार्ड 

मोबाइल नंबर 

ईमेल आईडी

आय प्रमाण पत्र,

जाति प्रमाण पत्र,

पासपोर्ट साइज फोटो

UP Mukhymantri Fellowship Yojana यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना  के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आपको नीचे दिए गए प्रोसेस को फॉलो करना होगा-

सबसे पहले इस योजने का आधिकारिक वेबसाइट http://cmfellowship-upsdc-gov-in.पद पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

वेबसाइट का होम पेज आपकी स्क्रीन पर खुल जाएगा

अब आपको होम पेज पर मौजूद दिशा निर्देश पढ़ने होंगे

इसके बाद आपको सभी शर्तें स्वीकार करते हुए च्तवबममक ऑप्शन पर क्लिक करना है

इसके बाद आपके सामने एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जाएगा

इस फार्म में आपको अपनी सभी जरूरी जानकारी प्रदान करनी होगी जैसे नाम, जेंडर, जन्मतिथि, नागरिकता, बाप का नाम, मां का नाम, क्वालिफिकेशन, मोबाइल नंबर, एड्रेस, वगैरह इसके बाद आपको अपना पासपोर्ट साइज फोटो एवं हस्ताक्षर अपलोड करने होंगे 

अब आपको प्रदान की गई सभी जरूरी जानकारी को एक बार चेक करना है

अंत में आप को सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है

इस तरीके से आप सफलतापूर्वक रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं

Share
Share