Breaking News

2018-19 वर्ष का आयकर रिटर्न दाखिल करने की समय सीमा अब 31 जुलाई तक, साथ ही 5 अन्य में भी रियायत

विजय श्रीवास्तव
-पहले 30 जून तक की डेडलाइन थी
-आधार और पैन कार्ड के लिंकिंग की डेडलाइन अब 31 मार्च 2021 हुई
-विवाद से विश्वास स्कीम की डेडलाइन 31 दिसंबर 2020 तक बढ़ाई गई

नई दिल्ली। लाॅक डाउन की वजह से पूरे देश की आर्थिक व्यवस्था पर बहुत बुरा असर देखने को मिला। ऐसे में आमजन तरह के काम नहीं कर सका। जिसमें आईटीआर, आधार-पैन लिंक सहित अन्य कार्यो को समय पर नहीं कर सका। इनमें से अधिकतर की डेटलाइन आज यानि 30 जून को समाप्त हो रही है। ऐसे में सरकार ने आम लोंगो को इनके अन्तिम तिथियों में बढ़ोत्तरी कर राहत का काम किया है। आइए देखते हैं कि किन-किन कार्यो में सरकार ने राहत दी है।


1- सरकार ने सबसे बडी राहत 2018-19 के आयकर रिर्टन को समय से दाखिल न करने वालों की दी है, मालूम हो कि अभी तक यह आईटीआर दाखिल करने की अन्तिम तिथि 30 जून थी जिसे अब बढ़ा कर उसे 31 जुलाई तक कर दी गयी है।
2-कर्मचारी को उपलब्ध कराए जाने वाले फॉर्म-16 को जारी करने की अवधि भी बढ़ा दी गयी है। सीबीडीटी के मुताबिक, अब फॉर्म-16 को 15 अगस्त तक जारी किया जाएगा। मालूम हो कि इस फॉर्म का इनकम टैक्स रिटर्न भरने में इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में वित्त वर्ष 2019-20 के लिए आईटीआर फाइल करने की अवधि भी 30 नवंबर 2020 तक बढ़ा दी गई है।


3-इसके साथ ही टैक्सपेयर टैक्स में छूट पाने वाले टैक्सपेयर्स को वर्ष 2019-20 के दौरान टैक्स छूट पाने के लिए निवेश का भी मौका मिल गया है। अब टैक्सपेयर टैक्स में छूट पाने के वास्ते विभिन्न योजनाओं में 31 जुलाई 2020 तक निवेश कर सकते हैं। अब तक इसकी डेडलाइन 30 जून की थी।
4-पैन और आधार लिंकिंग की समय सीमा का भी आज अन्तिम दिन था लेकिन अब यह तिथि सरकार ने बढ़ा कर उसे 31 मार्च 2021 तक कर दिया है।
5- विवाद से विश्वास स्कीम की डेडलाइन को भी 31 दिसंबर 2020 तक बढ़ाई गई है। इस स्कीम के तहत टैक्स से जुड़े विवाद का निपटारा किया जाता है।

Share

Related posts

Share