Breaking News : लखनऊ में पांच मंजिला इमारत गिरी, 3 की मौत, 30-40 लोगों के दबे होने की आशंका

Breaking News
Breaking News

Breaking News
-हजरतगंज इलाके की घटना
-आज आए भूकंप के बाद इमारत में दरारें आ गई थीं
-15 वर्ष पुरानी थी यह इमारत
-सपा नेता
की मां, पत्नी व बच्चे दबे
-इमारत में रहते थे 15-20 परिवार
लखनऊ। दिल्ली में आए आज भूकंप के झटके का असर यूपी की राजधानी लखनऊ को भुगतना पडा। जहां हजरतगंज क्षेत्र के वजीर हसन रोड पर स्थित एक इमारत के गिरने से बड़ा हादसा हो गया है। इमारत का नाम अलाया अपार्टमेंट है। जानकारी के मुताबिक यह एक पुरानी बिल्डिंग थी और आज आए भूकंप के बाद इमारत में दरारें आ गई थीं। लेकिन अपार्टमेंट में रहने वालों ने इस पर गंभीरता से नहीं लिया और फिर कुछ देर बाद यह इमारत भरभरा कर गिर गयी। जिसमें लगभग अभी भी 30-40 लोंगो के फंसे होने की आंशका है। अभी तक 3 लोंगो के मरने की खबर है जो और भी बढ सकती है।

Earthquake in Delhi NCR : दिल्ली-एनसीआर में भूकंप के तेज झटके, 5.8 मापी गई तीव्रता

जानकारी के मुताबिक करीब 6ः30 बजे अचानक तेज धमाके के साथ बिल्डिंग गिर गई। जिसके करीब डेढ़ घंटे बाद रेस्क्यू शुरू हुआ। सूचना मिलने के बाद मौके पर पुलिस व राहत टीमें बचाव कार्य में जुटी हुई हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इमारत गिरने की दुर्घटना का संज्ञान लेते हुए उपमुख्य मंत्री बृजेश पाठक मौके पर पहुच गये है। बताया जा रहा है कि इसमें करीब 30 से 40 लोग दबे हो सकते हैं।
जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ ही एसडीआरएफ व एनडीआरएफ की टीमों को मौके पर जाकर राहत कार्य संचालित करने के निर्देश दिए। पड़ोस के अपार्टमेंट की दीवार काटकर रेस्क्यू किया जा रह है। बचाव दल द्वारा मलबे से बाहर निकाले गए दो लोगों ने सिविल अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया है।
जानकारी के मुताबिक सपा प्रवक्ता हैदर अब्बास की मां, पत्नी व बच्चे के दबे होने की भी खबर है। बताया जा रहा है कि हादसे के वक्त हैदर घर पर नहीं थे।

See also  मंत्री को ASI ने मारी गोली, हालत गंभीर, आरोपी को पकड़ लोंगो ने पुलिस के हवाले किया I ASI shot the Minister

इस दौरान मीडिया को डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने जानकारी दी कि फिलहाल सात लोगों को रेस्क्यू कर अस्पताल भेजा गया है। ये सभी बेहोश थे। रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। लोगों का कहना है कि इमारत में 15-20 परिवार रह रहे थे।
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक इमारत में कोई रिपेयर वर्क चल रहा था। इस दौरान ड्रिलिंग की आवाज आ रही थी। तभी बिल्डिंग गिरी। लोगों के मुताबिक बेसमेंट सहित पांच मंजिला बिल्डिंग पूरी तरह ढह गई। फिलहाल इसमें कितने परिवार दबे हैं इसकी अभी स्पष्ट जानकारी नहीं मिल पा रही है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इमारत गिरने की दुर्घटना का संज्ञान लेते हुए जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ ही एसडीआरएफ व एनडीआरएफ की टीमों को मौके पर जाकर राहत कार्य संचालित करने के निर्देश दिए हैं।
आलिया अपार्टमेंट याजदान बिल्डर ने बनाया था। यहां संकरे रास्ते होने के कारण एम्बुलेंस व फायर की गाड़ियों को जाने में दिक्कत हो रही है।
संकरे रास्ते होने के कारण बचाव कार्य प्रभावित हो रही है।

Share
Share