Culture

जिस देश की शिक्षा समृद्धशाली होती हेै वह देश उतना ही तरक्की और विकास करता है : अशोक तिवारी

जिस देश की शिक्षा समृद्धशाली होती हेै वह देश उतना ही तरक्की और विकास करता है : अशोक तिवारी

वाराणसी। वाराणसी के महापौर अशोक तिवारी ने कहा कि शिक्षा से ही किसी भी देश के विकसित और विकास का आकलन किया जाता है। जिस देश की शिक्षा पद्यति जितना ही उन्नति और प्रगतिशील होता है। वह देश उतना ही तरक्की और विकास करता है। हमारें यहां के धार्मिक ग्रन्थ चाहे वह किसी भी धर्म के हो उनका अपार समृद्धिशाली इतिहास रहा है। जिसपर आज भी लोग चलते हैं और आज के वर्तमान समय में शिक्षा अपने चरमोत्कर्ष पर हैं ऐसे में शिक्षा और बहुत जरूरी हो जाता है। उक्त बातें आस्था व तपस्या की तपोभूमि सारनाथ में महाबोधि विद्या…
Read More
भगवान बुद्ध के विचारों से ही वैश्विक समस्याओं का समाधान संभव

भगवान बुद्ध के विचारों से ही वैश्विक समस्याओं का समाधान संभव

वाराणसी। मुलगंधकुटी बौद्ध विहार के 92वें वार्षिकोत्सव के अवसर पर महाबोधि सोसायटी ऑफ इंडिया की ओर तीन दिवसीय कार्यक्रम के तहत सोमवार को मूलगंध कुटी विहार मंदिर परिसर में धम्म सभा का आयोजन किया गया।धम्म सभा में मुख्यअतिथि के पद से सम्बोधित करते हुए विहाराधिपति महाबोधि सोसायटी सांची व जापान के प्रधान संघनायक भिक्षु बनागल उपतिस्स महाथेरो ने कहा कि बुद्ध ने दुनिया को शांति का संदेश दिया। जिसेे आत्मसात कर भारत आज विश्वगुरु की श्रेणी में खडा है। भगवान बुद्ध की ही बताए अष्टांगिक मार्ग पर चलकर आज भी व्यक्ति अपना जीवन सुखमय व शांतिमय कर सकता है। उन्होंने…
Read More
Sarnath : एक ओर बुद्ध के उपदेशों का प्रचार-प्रसार दूसरी ओर पूजा, दीप प्रज्जवलन पर रोक दुःखद – भिक्षु सुमेध थेरो

Sarnath : एक ओर बुद्ध के उपदेशों का प्रचार-प्रसार दूसरी ओर पूजा, दीप प्रज्जवलन पर रोक दुःखद – भिक्षु सुमेध थेरो

Sarnath : भगवान बुद्ध के विचारों व उपदेशों को जहां एक ओर विश्व में प्रचार प्रसार के लिए सरकार प्रयास कर रही हैं वहीं दूसरी ओर कुछ लोग के चलते आज बुद्ध की प्रथम उपदेश स्थली सारनाथ में ही पूजा-अर्चन, दीप प्रज्जवलन तक के लिए रोकने का प्रयास किया जा रहा है। यह कहीं से न्योयोचित्त नहीं है। इसपर सरकार को ध्यान देना चाहिए। उक्त बातें अनागारिक धर्मपाल की 159वीं जयन्ती पर मूलगंध कुटी विहार में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के पद से सम्बोधित करते हुए श्री लंका जम्बूद्वीप मन्दिर के प्रभारी डॉ भिक्षु के सिरि सुमेध थेरो ने…
Read More
Gypsy Bride Market : इस समुदाय की है यह परंपरा, जहां खरीदी जाती हैं मनपसंद बीवी

Gypsy Bride Market : इस समुदाय की है यह परंपरा, जहां खरीदी जाती हैं मनपसंद बीवी

गिप्सी दुल्हन बाजार: अद्वितीय परंपरा और समाज Gypsy Bride Market : एक अद्वितीय परंपरा बल्गेरिया ब्राइड मार्केट: ब्राइड्स अपने संभावित पतियों को लुभाने के लिए आकर्षक आभूषण और पोशाक में तैयार होकर आती हैं, और उनके साथ उनके परिवार के सदस्य भी होते हैं। यह बाजार जिप्सी ब्राइड मार्केट के नाम से भी जाना जाता है। बल्गेरिया का अद्वितीय परंपरा जब महंगी शादियों का दौर होता है, तो वो परिवार जो अपनी बेटी की शादी करना चाहता है, उन्हें काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। इसके लिए बल्गारियां एक अद्वितीय परंपरा का पालन करते हैं। गिप्सी दुल्हन बाजार: साल…
Read More
Rakhi Utarne Ke Niyam : राखी उतारने से पहले पढ़ें नियम, भाई-बहन के बीच बना रहेगा प्यार

Rakhi Utarne Ke Niyam : राखी उतारने से पहले पढ़ें नियम, भाई-बहन के बीच बना रहेगा प्यार

Rakhi Utarne Ke Niyam : रक्षाबंधन 2023 के नियम: रक्षाबंधन के बाद राखी को अक्सर भाई इधर-उधर उतार कर रख देते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं इसका प्रभाव भाई-बहन के रिश्ते पर देखने को मिलता है. ज्योतिष शास्त्र में राखी खोलने के अलग-अलग नियम बताए गए हैं। राखी उतारने के नियम: बहन-भाई का पावन पर्व रक्षाबंधन का त्योहार देशभर में 30 अगस्त को मनाया जाएगा. इस दिन बहनें भाइयों की कलाई पर राखी बांध उनकी लंबी आयु की कामना करती हैं. भाई भी बहनों की रक्षा का वादा करते हुए उन्हें कुछ उपहार देते हैं. खुद की रक्षा करने…
Read More
Raksha Bandhan : कब है रक्षाबंधन 30 या 31 अगस्त को, भ्रदा काल कब और रक्षाबंधन का क्या है शुभ मुहुर्त

Raksha Bandhan : कब है रक्षाबंधन 30 या 31 अगस्त को, भ्रदा काल कब और रक्षाबंधन का क्या है शुभ मुहुर्त

Raksha Bandhan : रक्षा बंधन का ख्याल आते ही भाई बहन का अटूट प्यार जहन में आ जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार रक्षाबंधन के दिन शुभ मुहूर्त में बहने अपने भाई की कलाई पर राखी बांधती हैं और उनके उज्ज्वल भविष्य की प्रार्थना करती हैं। यह पर्व भाई-बहन के प्रेम का प्रतीक माना जाता है वहीं दूसरी ओर भाई बहन को रक्षा का वचन देते हैं।हिन्दू धर्म में रक्षाबंधन का पर्व विशेष महत्व रखता है। इस वर्ष रक्षाबंधन पर्व की तिथि को लेकर लोगों में उलझन बनी हुई है। इस बार 30 ओैर 31 अगस्त को रक्षा बंधन का…
Read More
World Organ Donation Day : अगले जन्म में अपाहिज के डर में नहीं हो रहे अंगदान, PGI ने किया जागरूक

World Organ Donation Day : अगले जन्म में अपाहिज के डर में नहीं हो रहे अंगदान, PGI ने किया जागरूक

Superstition(अंधविश्वास) World Organ Donation day : इस जीवन में अंगदान कर देने से अगले जन्म में अपाहिज होने का डर दिखाता है, लेकिन यह अंधविश्वास सिर्फ एक मिथक है। यह भ्रम लोगों को अंगदान से दूर खड़ा करता है।इस जन्म में अंगदान कर देंगे तो अगले जन्म में वह अंग दानदाता के पास नहीं होगा। अंगदान की राह में यही अंधविश्वास सबसे बड़ी बाधा है। इसलिए हमें इस अंधविश्वास पर काबू पाना होगा। भारत में लिवर रोगों का आक्रमण भारत में प्रतिवर्ष लगभग 2 लाख मरीज़ों की लिवर फेल्योर या लिवर कैंसर से मृत्यु हो जाती है, जिनमें से लगभग…
Read More
Jyoti-Alok Part-2 : Teacher बनते ही SDM ज्योति मौर्या की तरह प्रिंसिपल के साथ भाग गई 2 बच्चों की मां

Jyoti-Alok Part-2 : Teacher बनते ही SDM ज्योति मौर्या की तरह प्रिंसिपल के साथ भाग गई 2 बच्चों की मां

Jyoti-Alok Part-2 : ज्योति मौर्या प्रकरण के बाद इस तरह से केस लगातार देश के विभिन्न इलाकों से आ रहे हैं। कुछ इसी तरह का प्रकरण अब बिहार में भी ज्योति मौर्या जैसा मामला सामने आया है, जहां शख्स ने पहले प्रेम विवाह किया और फिर पत्नी को पढ़ाकर टीचर बनाया, लेकिन शिक्षक बनने के डेढ़ साल बाद ही पत्नी प्रिंसिपल संग फरार हो गई. उत्तर प्रदेश में में चल रहे ज्योति मौर्या को लेकर बवाल के बाद बिहार के वैशाली में कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है, जहां लव मैरिज के बाद पति ने पत्नी को पढ़ाकर टीचर…
Read More
अजूबा मगर सच एक मेयर ने मगरमच्छ से किया विवाह, सच्चाई जान दुनिया हो गई हैरान

अजूबा मगर सच एक मेयर ने मगरमच्छ से किया विवाह, सच्चाई जान दुनिया हो गई हैरान

विक्टर ह्यूगो सोसा, मेक्सिको नगरपालिका के मेयर, ने एक प्राचीन परंपरा के तहत अपनी एक मादा मगरमच्छ से विवाह किया है। इस कदीम रिवाज के कारण दुनिया चौंक गई है। मेयर का प्रेम और जिम्मेदारी का इजहार विवाह समारोह के दौरान, सोसा ने कहा, "मैं इस जिम्मेदारी को स्वीकार कर रहा हूँ क्योंकि हम दूसरे से प्यार करते हैं। यही सबसे महत्वपूर्ण है। आप प्यार के बिना शादी करने का मतलब नहीं कर सकते। मैं राजकुमारी लड़की के साथ विवाह के लिए तैयार हूँ।" दक्षिणी मेक्सिको की मगरमच्छ शादी परंपरा यह मगरमच्छ विवाह रस्म दक्षिणी मेक्सिको के सैन पेड्रो हुआमेलुला…
Read More
दिशा शूल : What is Disha Shool, गलती से भी न करें शुक्रवार और रविवार को इस दिशा की यात्रा

दिशा शूल : What is Disha Shool, गलती से भी न करें शुक्रवार और रविवार को इस दिशा की यात्रा

यात्रा करना हमारे जीवन का अभिन्न अंग है। जब हम घर से किसी काम के लिए बाहर निकलते हैं तो उम्मीद करते हैं कि हमारा वह काम सफल होगा जिसके लिए हम निकल रहे हैं। लेकिन ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुछ ऐसे अशुभ समय और दिशा के बारे में जानकारी दी गई है जिसमें यात्रा नहीं करनी चाहिए। यदि हम उन दिशाओं में यात्रा करते हैं, तो हमें सफलता प्राप्त नहीं होती या कई समस्याओं से गुजरना पड़ता है। यह अशुभ दिशा और समय सप्ताह के सातों दिन पर निर्भर करता है। इसे "दिशा शूल" भी कहा जाता है। चलिए…
Read More