Breaking News

CBSE : लाकॅ डाउन में भी अपने बच्चें को घर पर कैसे पढाए और रखे अपडेट

विजय श्रीवास्तव
-लर्निंग मैनेजमैंट सिस्टम से रखे अपने बच्चों को अपडेट
-अगर आपका बच्चा कक्षा 4 से 10 वीं तक स्टूडंेंट है तो आप ले सकते हैं लाभ
-एक क्लास की सुविधा लेने पर एक फ्री क्लास की सुविधा
-यह सुविधा केवल 30 अप्रैल तक है मान्य है
-असेसमेंट, सेल्फ लर्निंग, वीडियो एनिमेशन, ट्यूटोरियल, वर्चुअल लैब्स की सुविधा
-कोरोना वायरस के चलते अभी जून तक स्कूलों के खुलने की संभावना नही के बराबर

लखनऊ। देश भर में कोरोना वायरस की वजह से चल रहे लॉकडाउन का असर समाज के हर वर्ग पर देखने को मिल रहा है। इसमें सबसे अधिक पेरशानी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों और उनके अभिभावकों को हो रहा है। इंग्लिस मीडियम CBSE व ICSE बोर्ड के बच्चों के तो अप्रैल से स्कूल भी खुल जाते हैं और पढ़ाई भी शुरू हो जाती है। लेकिन कोरोना वायरस के चलते सब कुछ अभी ठप है। ऐसे में अब सरकार भी ऑनलाइन शिक्षा में सुधार और बढ़ावा देने के लिए तेजी से काम रही है। इसी दिशा में रिषभ ई-अकादमी ने CASE के कक्षा 4 से 10 तक बच्चों के लिए लर्निंग मैनेजमेंट सिस्टम पैर्टन के तहत घर बैठे तैयारी शुरू करा दी है। जिसके चलते घर बैठे बच्चा एलएमएस सिस्टम के जरिए असेसमेंट, सेल्फ लर्निंग, वीडियो एनिमेशन, ट्यूटोरियल, वर्चुअल लैब्स की सुविधा का लाभ उठा सकता है।


गौरतलब है कि रिषभ ई-अकादमी विगत दो वर्षो से 70 से अधिक सरकारी प्रतियोगी परिक्षाओं की तैयारी करा रहा है। जिसके तहत घर बैठे परिक्षार्थी रेलवे, बैंक, एसएससी, पुलिस के साथ नवोदय विद्यालय में प्रवेश के लिए केवल भी आनॅलाइन तैयारी करा रही है। अकादमी अपने ऐप के माध्यम से भी मोबाइल पर भी पूरी तैयारी करा रही है। इसी क्रम में अकादमी ने लाकॅडाउन के वजह से घरों पर बैठे विशेषकर सीबीएससी के बच्चों के लिए आसान तरीके से एलएमएस लर्निंग मैनेंजमंेट सिस्टम के माध्यम से तैयारी करा रहे हैं। यदि आपका बच्चा कक्षा 4 से 10 वीं तक में पढ़ रहा है तो आप इसके माध्यम से अपने बच्चें को घर बैठे उसे अपडेट रख सकते हैं। वैसे कुछ स्कूलों ने आनॅलाइन पढ़ाई शुरू की है लेकिन वह भी अभी होमवर्क देनें तक ही लगभग सीमित है। ऐसे में बच्चों की पढ़ाई अभिभावकों के समक्ष किसी चुनौती से कम नहीं है। वैसे केंद्रीय मानव संसाधन और विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक‘ ने ‘भारत पढ़े ऑनलाइन’ अभियान की शुरुआत की है। इस अभियान का मकसद है कि ऑनलाइन पढ़ाई को कैसे और बेहतर बनाया जा सकता है। इस विषय पर चर्चा होगी। इस अभियान के जरिए शिक्षा मंत्री ने देश के सभी लोगों से इस संबंध में सुझाव मांगे है। इसके लिए उन्होंने लोगों को 16 अप्रैल तक का समय दिया है।
रिषभ ई-अकादमी अपने ‘‘स्कूल एलएमएस‘‘ के माध्यम से बच्चों को आनॅलाइन हिन्दी, अंग्रेजी, सामाजिक विज्ञान, गणित, फिजिक्स, कमेस्ट्री, बायलोजी आदि विषय की तैयारी करायी जाती है। इसमें 4 वीं से 10 वीं तक किसी भी क्लास के लिए असेसमेंट के साथ सेल्फ लर्निंग की पूरी व्यवस्था दी गयी है। इसके साथ वीडियो एनिमेशन, ट्यूटोरियल, वर्चुअल लैब्स की सुविधा भी दी गयी है। सबसे अच्छी बात यह है कि इसमें जुडने के बाद इसका उपयोग करने के लिए किसी इंटरनेट की आवश्यकता नहीं है। इसकी बैधता पूरे एक वर्ष की होगी। इसमें किसी भी कक्षा के लिए आपको पूरे एक वर्ष का केवल रू. 3000 देना होगा। इस समय 30 अप्रैल तक इसमें बम्पर छूट दी गयी है। यानि एक क्लास की सुविधा लेने पर एक क्लास पूरी तरह से फ्री की सुविधा है। यानि एक क्लास के लिए पूरे एक वर्ष का फीस केवल रू. 1500 है। इससे अधिक किसी भी CBSE स्कूल के एक माह की फीस होती है।


एलएमएस पैर्टन विजुअलाइजेशन केंद्रित है जिसके माध्यम से बच्चा स्वंय सीखना व पढ़ना शुरू कर देता है। इसके साथ ही शिक्षकों द्वारा दिए गये होमवर्क और क्लासवर्क के लिए वर्कशीट तैयार करने में समय और प्रयासों को कम करता है। तरह-तरह के ट्रिक से बच्चा स्कूल में आगे रहता है और उसके शिक्षण गुणवत्ता में लगातार सुधार होता है। इसके साथ ही अभिभावक भी प्रत्येक बच्चे के लिए व्यक्तिगत प्रगति डैशबोर्ड, के जरिए भी नजर रखने के साथ ही लर्निंग साइकल में भी मदद करता है। यदि आप किसी भी तरह की जानकारी या अपने बच्चें के लिए एलएमएस सिस्टम लेना चाहते हैं तो 8318543364 व 8090440834 पर सम्पर्क कर सकते हैं।

Share

Related posts

Share