चंदौली जिले में विद्युत उपकेंद्रों का निर्माण, एक साल बाद भी हाल बेहाल

चंदौली जिले में बिजली की समस्याओं के समाधान के लिए पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम ने पिछले वर्ष अक्टूबर में 24 करोड़ रुपये की लागत से तीन विद्युत उपकेंद्रों के निर्माण की योजना बनाई थी। इन उपकेंद्रों का निर्माण जीवधीपुर, पड़ाव के मढ़िया और बबुरी के उतरौत में होना था। इनमें से मढ़िया में निर्माण कार्य पूरा हो चुका है, लेकिन उतरौत और जीवधीपुर में अभी काम शुरू भी नहीं हुआ है।

मढ़िया उपकेंद्र की स्थिति

मढ़िया उपकेंद्र का निर्माण पूरा हो चुका है और तार खींचने की प्रक्रिया भी समाप्त हो चुकी है। यहां पांच-पांच एमवीए के दो ट्रांसफार्मर लगाकर क्षेत्र के 25 गांवों को बिजली आपूर्ति शुरू की जाएगी।

अन्य उपकेंद्रों की प्रगति

तीन नए उपकेंद्रों के निर्माण से 30 मेगावाट बिजली की आपूर्ति कर 15 हजार घरों को रोशन करने की योजना बनाई गई थी। मार्च 2024 तक निर्माण कार्य पूरा करने का लक्ष्य था, लेकिन निर्धारित समय सीमा बीतने के चार महीने बाद भी सिर्फ मढ़िया उपकेंद्र ही बन पाया है। जीवधीपुर और उतरौत के उपकेंद्रों का काम अब तक आरंभ नहीं हुआ है।

जीवधीपुर में निर्माण की स्थिति

रामनगर स्थित औद्योगिक क्षेत्र को निर्बाध बिजली आपूर्ति के लिए जीवधीपुर में 10 एमवीए के उपकेंद्र का निर्माण अभी तक शुरू नहीं हो सका है।

उतरौत में जमीन की समस्या

उतरौत में आठ करोड़ की लागत से उपकेंद्र के निर्माण के लिए अभी तक जमीन चिन्हित नहीं हो पाई है, जिससे निर्माण कार्य की शुरुआत को लेकर कोई ठोस उम्मीद नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *