Breaking News

चित्रकूट जिला जेल में फायरिंग, दो की हत्या, पुलिस एनकाउंटर में एक बदमाश की मौत

चित्रकूट जिला जेल में फायरिंग, दो की हत्या, पुलिस एनकाउंटर में एक बदमाश की मौत

क्राइम डेस्क
-वर्चस्व को लेकर दो गुटों में भिड़ंत कई राउंड फायरिंग
-मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद यह दूसरा बड़ा मामला
-बवाल के बाद जिला जेल में गैंगवार से दहशत
-एक मुख्तार अंसारी का खास आदमी बताया जाता है

लखनऊ। प्रदेश सरकार चाहे जितना भी दावा कर लें लेकिन अपराध रूकने का नाम नहीं ले रहा है। एक बार फिर यूपी के जिला जेल चित्रकूट में वर्चस्व की इस भिड़ंत में दोनों तरफ से कई राउंड फायरिंग भी हुई है। जिसमें एक मुख्तार अंसारी के खास आदमी के सहित दो कैदियों की हत्या हो गयी। मालूम हो उत्तर प्रदेश में बुधवार को अम्बेडकरनगर जिला जेल में बर्चस्व को लेकर बवाल हुआ था। जिसकी परिणति शुक्रवार को जिला जेल चित्रकूट को गैंगवार के रूप में देखने को मिला। इस दौरान पुलिस से मुुठभेड में एक हत्यारा मारा भी गया। उत्तर प्रदेश में बागपत जिला जेल में माफिया मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद यह दूसरा बड़ा मामला है।

खरीदने के लिए तत्काल क्लीक करें:

वर्चस्व को लेकर दो गुटों में भिड़ंत कई राउंड फायरिंग

गौरतलब है कि चित्रकूट जिला जेल में शुक्रवार को कैदियों के दो गुट आपस में भिड़ गए। वर्चस्व की इस भिड़ंत में दोनों तरफ से कई राउंड फायरिंग भी हुई है। जिसमें दो लोगों की मौत हो गई है। दर्जनों राउंड गोलियां चलीं, जिसमें अंशुल दीक्षित नामक बंदी ने फायरिंग कर मेराजुद्दीन और मुकीम उर्फ काला को मार डाला। मुकीम काला पश्चिम उत्तर प्रदेश का बड़ा बदमाश था। जानकारी के मुताबिक सुल्तानपुर जेल से चित्रकूट जेल में हाल में ही शिफ्ट हुआ था। पूर्वांचल में अपनी धमक रखने वाले बड़े गैंगस्टर अंशु दीक्षित ने झड़प के बाद पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बड़े बदमाशों मुस्तकीम काला और मेराजुद्दीन पर फायरिंग की। जेल में फायरिंग की सूचना पर भारी पुलिस ने जेल को छावनी बना दिया चित्रकुट प्रशासन के मुताबिक इस बीच अंशु दीक्षित ने पांच कैदियों को बंधक बना लिया जिसपर इस दौरान पुलिस पर फायरिंग करने के प्रयास में अंशुल दीक्षित मुठभेड़ में मारा गया।

खरीदने के लिए तत्काल क्लीक करें:


मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद यह दूसरा बड़ा मामला


पुलिस के अनुसार मेराजुद्दीन बांदा जेल में बंद बसपा के विधायक बाहुबली मुख्तार अंसारी का करीबी था। बागपत जिला जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद मेराजुद्दीन पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मुख्तार का काम देखता था। इसमें मुस्तकीम काला भी उसकी मदद करता था। मुकीम काला पश्चिमी उत्तर प्रदेश का इनामी गैंगस्टर था। बागपत जिला जेल में सुनील राठी ने नाइन एमएम की पिस्टल से मुन्ना बजरंगी की हत्या की थी। मुन्ना बजरंगी भी पेशी पर उन दिनों बागपत गया था जबकि सुनील राठी को उत्तराखंड की जेल से बागपत जेल में शिफ्ट किया था। राठी इन दिनों फर्रुखाबाद की फतेहगढ़ सेंट्रल जेल में बंद है।

खरीदने के लिए तत्काल क्लीक करें:

Share

Related posts

Share