Good News : BHU ट्रॉमा सेंटर में भर्ती मरीजों को मिलेगी अब निशुल्क दवा, प्रदेश का पहला यह सुविधा देने वाला पहला संस्थान

Good News : BHU ट्रॉमा सेंटर में भर्ती मरीजों को मिलेगी अब निशुल्क दवा, प्रदेश का पहला यह सुविधा देने वाला पहला संस्थान

इलाज के दौरान निशुल्क दवाइयां प्रदान की जाएंगी

यूपी के पहले चिकित्सकीय संस्थान के रूप में बदलते हुए, आईएमएस बीएचयू के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती मरीजों को इलाज के दौरान किसी भी दवा की खरीदारी की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। यह अद्वितीय सुविधा उपलब्ध कराने वाला यहां का पहला चिकित्सकीय संस्थान बन गया है।

ऑपरेशन के अलावा निशुल्क दवाएं भी प्राप्त होंगी

334 बेडों वाले ट्रॉमा सेंटर में ओपीडी के साथ-साथ ऑपरेशन भी संचालित होते हैं। अब सभी मरीजों को निशुल्क दवाइयां भी प्रदान की जाएंगी। इस विशेष योजना के बारे में जानकारी ट्रॉमा सेंटर के परिसर में व्यापक रूप से प्रसारित की जाएगी, ताकि अधिक संख्या में लोगों को इसकी जानकारी मिल सके। वाराणसी सहित आसपास के जिलों से आने वाले मरीजों को बेहतर इलाज की सुविधा मिल सके, इसलिए बीएचयू में ट्रॉमा सेंटर की स्थापना की गई थी। इसका लोकार्पण 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया था। साल दर साल सुविधाओं में वृद्धि होती जा रही है।

खाली नहीं रहेगा बेड, मिलेगी राहत

ट्रॉमा सेंटर के प्रोफेसर इंचार्ज सौरभ सिंह ने बताया कि सामान्य वार्ड में बेड की कमी को देखते हुए पहले से चल रही व्यवस्था में बदलाव किया गया है। अगर किसी विभाग में 12 घंटे से अधिक समय तक कोई बेड खाली रहता है और उसके मरीजों को वहां नहीं मिल पाता है, तो उस विभाग के अन्य मरीजों को उस खाली बेड पर भर्ती किया जाएगा। इससे मरीजों की बेड की समस्या दूर होगी।

जरूरी दवाइयां भी मुफ्त में मिलेंगी

ऑपरेशन थिएटर में लगाए जाने वाले उपकरण अब निशुल्क होंगे। इसके साथ ही आने वाले मरीजों को भी निशुल्क दवाइयां प्रदान की जाएंगी। सभी आवश# उपकरण ही निशुल्क मिलेंगे – यूपी के पहले चिकित्सकीय संस्थान के रूप में बदलता ट्रॉमा सेंटर

इलाज के दौरान निशुल्क दवाइयां प्रदान की जाएँगी

यूपी के पहले चिकित्सकीय संस्थान के रूप में बदलते हुए, आईएमएस बीएचयू के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती मरीजों को इलाज के दौरान किसी भी दवा की खरीदारी की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। यह अद्वितीय सुविधा उपलब्ध कराने वाला यहां का पहला चिकित्सकीय संस्थान बन गया है।

ऑपरेशन के अलावा निशुल्क दवाएं भी प्राप्त होंगी

334 बेडों वाले ट्रॉमा सेंटर में ओपरेशन के साथ-साथ ऑपरेशन भी संचालित होते हैं। अब सभी मरीजों को निशुल्क दवाइयां भी प्रदान की जाएँगी। इस विशेष योजना के बारे में जानकारी ट्रॉमा सेंटर के परिसर में व्यापक रूप से प्रसारित की जाएगी, ताकि अधिक संख्या में लोगों को इसकी जानकारी मिल सके। वाराणसी सहित आसपास के जिलों से आने वाले मरीजों को बेहतर इलाज की सुविधा मिल सके, इसलिए बीएचयू में ट्रॉमा सेंटर की स्थापना की गई थी। इसका लोकार्पण 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया था। साल दर साल सुविधाओं में वृद्धि होती जा रही है।

खाली नहीं रहेगा बेड, मिलेगी राहत

ट्रॉमा सेंटर के प्रोफेसर इंचार्ज सौरभ सिंह ने बताया कि सामान्य वार्ड में बेड की कमी को देखते हुए पहले से चल रही व्यवस्था में बदलाव किया गया है। अगर किसी विभाग में 12 घंटे से अधिक समय तक कोई बेड खाली रहता है और उसके मरीजों को वहां नहीं मिल पाता है, तो उस विभाग के अन्य मरीजों को उस खाली बेड पर भर्ती किया जाएगा। इससे मरीजों की बेड की समस्या दूर होगी।

जरूरी दवाइयां भी मुफ्त में मिलेंगी

ऑपरेशन थिएटर में लगाए जाने वाले उपकरण अब निशुल्क होंगे। इसके साथ ही आने वाले मरीजों को भी निशुल्क दवाइयां प्रदान की जाएँगी। सभी आवश्यक दवाइयां मंगवाई जा रही हैं। आनेवाले दिनों में मरीजों के लिए और भी सुविधाएं शुरू कराई जाएँगी। – प्रो. सौरभ सिंह, प्रभारी, ट्रॉमा सेंटर, बीएचयू

By Vijay Srivastava