EWS सर्टिफिकेट UP में कैसे बनवाएं? पूरी जानकारी, बनवाने के लिए स्टेप बाई स्टेप प्रक्रिया जाने और तुरन्त बनवाएं

EWS सर्टिफिकेट UP में कैसे बनवाएं? पूरी जानकारी, बनवाने के लिए स्टेप बाई स्टेप प्रक्रिया जाने और तुरन्त बनवाएं

EWS क्या होता है: जानिए इसका महत्व

अपने जीवन में आपने “आरक्षण” का नाम तो सुना ही होगा, यह वो प्रक्रिया है जिसे सरकार ने गरीब वर्ग के लिए बनाया है। पहले आरक्षण का लाभ सिर्फ (SC, ST, OBC) जाति के वर्गों को ही मिलता था, और इस कारण (GEN) सामान्य वर्ग के गरीब व्यक्तियों को इसका उपयोग करने का मौका नहीं मिलता था।अब इसके चलते सामान्य गरीबों को भी आरक्षण का लाभ मिल सकेगा।

EWS का महत्व

ऐसे में मोदी सरकार ने सामान्य वर्ग (General Category) के गरीब व्यक्तियों को देखते हुए नई आरक्षण प्रणाली को शुरु किया है। इसमें सामान्य वर्ग के गरीब व्यक्तियों को 10% का आरक्षण प्राप्त होता है। आज हम इस लेख में आपको उत्तर प्रदेश में EWS सर्टिफिकेट बनवाने की प्रक्रिया और इसके महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में बताएंगे।

EWS प्रमाणपत्र की योग्यता क्या है?

EWS पूरा नाम, ‘आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग’ है। यह आरक्षित श्रेणी का एक उपश्रेणी होता है, जिसमें वे व्यक्तियाँ आती हैं जिनकी आर्थिक स्थिति बेहद दुर्बल है और जिनकी वार्षिक आय 8 लाख रुपए से कम होती है। इस श्रेणी के लोगों को 10% की आरक्षित सीटों पर प्राथमिकता दी जाती है।

EWS प्रमाणपत्र के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या हैं?

EWS आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज विभिन्न राज्यों में भिन्न-भिन्न होते हैं, इसलिए आवेदक को अपने राज्य के आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर सूची की जाँच करनी चाहिए और ईडब्ल्यूएस प्रमाणपत्र जारी करने वाले प्राधिकारी से सलाह लेनी चाहिए। इसके अलावा, कुछ मूलभूत दस्तावेजों की आवश्यकता होती है, जैसे –

1. आधार कार्ड

2. आय प्रमाण पत्र

3. पैन कार्ड

4. जाति प्रमाण पत्र

5. बीपीएल कार्ड

6. बैंक कथन

7. हलफनामा या स्वघोषणा

8. हालिया पासपोर्ट साइज फोटो

9. अन्य प्रासंगिक दस्तावेज

EWS प्रमाणपत्र के आवेदन की प्रक्रिया क्या है?

EWS के आवेदन विभिन्न भारतीय राज्यों में ऑनलाइन या ऑफलाइन मोड में भरे जाते हैं। EWS प्रमाणपत्र ऑफलाइन मोड में आवेदन करने के लिए, उम्मीदवारों को निम्नलिखित चरणों का पालन करना होता है –

  1. सबसे पहले, आधिकारिक वेबसाइट : https://edistrict.up.gov.in/edistrictup/ पर जाएं और EWS प्रमाणपत्र का आवेदन फॉर्म डाउनलोड करें, या आप इस [लिंक](यहाँ लिंक दें) पर क्लिक करके भी इसे डाउनलोड कर सकते हैं।
  2. फॉर्म डाउनलोड करने के बाद, उसमें दिए गए सभी विवरण भरें।
  3. अपना एक पासपोर्ट साइज फोटो लगाएं और सभी आवश्यक दस्तावेज संलग्न करें।
  4. तहसील/ब्लॉक अधिकारी के पास जाकर EWS प्रमाणपत्र जमा करें।

ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट के अपडेट के लिए, आप नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर या जन सेवा केंद्र से संपर्क कर सकते हैं। ईडब्ल्यूएस फॉर्म ऑनलाइन या ऑफलाइन मोड में जमा किया जा सकता है और यह आपके राज्य सरकार पर निर्भर करता है। इसके अलावा, EWS प्रमाणपत्र के लिए आप अपने नजदीकी जनसेवा केंद्र में भी आवेदन कर सकते हैं।

EWS प्रमाणपत्र की वैधता क्या होती है?

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग EWS प्रमाणपत्र की वैधता उस राज्य पर निर्भर करती है जिससे लाभार्थी आरक्षण के लिए आवेदन करता है। इसके अलावा, इसकी वैधता समाप्त हो जाने के बाद, ईडब्ल्यूएस प्रमाणपत्र के नवीनीकरण के लिए वही प्रक्रिया अपनानी पड़ती है, जो नया प्रमाणपत्र बनवाते समय अपनाई गई थी।

EWS सर्टिफिकेट का क्या लाभ है ?

EWS सर्टिफिकेट का महत्वपूर्ण उपयोग है:

1. शिक्षा में आरक्षित सीटें

EWS सर्टिफिकेट धारकों को शिक्षा में आरक्षित सीटों का लाभ प्राप्त करने में मदद करता है।

2. सरकारी योजनाओं का लाभ

यह सरकारी योजनाओं और सुविधाओं का लाभ प्राप्त करने का मौका प्रदान करता है, जैसे कि आवास योजनाएँ और वित्तीय सहायता।

3. रोजगार के अवसर

EWS सर्टिफिकेट धारकों को सरकारी नौकरियों और रोजगार के अवसरों में भी आरक्षित सीटों का लाभ मिलता है। उत्तर प्रदेश में इससे आपको विभिन्न क्षेत्रों में आरक्षित सीटों का लाभ मिलेगा और आपका भविष्य बेहतर हो सकता है।

Note : ध्यान दें कि EWS सर्टिफिकेट के लिए आवश्यक दस्तावेजों की सही प्रक्रिया का पालन करें और अपने लाभ के लिए इसका उपयोग करें।

EWS प्रमाणपत्र UP FAQs

1. EWS का पूरा नाम क्या है?

EWS का पूरा नाम ‘आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग’ है।

2. क्या OBC या अन्य जाति के उम्मीदवार इसके लिए आवेदन कर सकते हैं?

नहीं, आप पात्र नहीं हैं क्योंकि EWS प्रमाणपत्र केवल उन व्यक्तियों के लिए जारी किया जाता है जो केवल सामान्य श्रेणी में 10% आरक्षित सीटों के अंतर्गत आते हैं।

3. UP EWS प्रमाणपत्र बनवाने में कितना समय लगता है?

EWS प्रमाणपत्र ज्यादातर 1-2 सप्ताह में बन जाता है, लेकिन कभी-कभी सरकारी छुट्टी और अधिकारियों की अनिमितताओं की वजह से इसमें और समय लग सकता है।

4. EWS प्रमाणपत्र कैसे प्राप्त करें?

आप इसे अपने तहसीलदार कार्यालय या नामित जारी करने वाले प्राधिकारी या निकटतम सीएससी केंद्र पर जाकर जरूरी दस्तावेज सबमिट करके प्राप्त कर सकते हैं।

5. EWS प्रमाणपत्र कितने रुपए में बनता है?

EWS प्रमाणपत्र 10 रुपये से लेकर 50 रुपये तक बनता है।

आशा है कि आपको हमारे द्वारा दी गई UP EWS प्रमाणपत्र से संबंधित जानकारी पसंद आई होगी। इससे जुड़ी अधिक जानकारी के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं और अधिसूचना पढ़ें।

By Vijay Srivastava