Breaking News

महाबोधि विद्या समूह का 88वॉ वार्षिकोत्सव सम्पन्न, नवनिर्मित भवन का हुआ उद्घाटन

विजय श्रीवास्तव
-पुरातन छात्र डॉ पारस नाथ पाण्डेय ने कराया था नवनिर्मित भवन का निर्माण

वाराणसी। महाबोधि सोसायटी ऑफ इण्डिया द्वारा संचालित महाबोधि विद्यालय समूह के 88वें वार्षिंकोत्सव धूमधाम से सम्पन्न हुआ। इस दौरान महाबोधि इन्टर कालेज के पढे हुए पुरातन छात्र डॉ पारस नाथ द्धारा नवनिर्मित भवन का उद्घाटन हुआ। इस दौरान स्कूल समूह के बच्चों द्वारा जहां रंगारंग सास्कृतिक कार्यक्रम हुए वहीं इस दौरान एक विज्ञान प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया था।


इस दौरान हुए भव्य कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि के पद डॉ विजय कुमार शुक्ला पूर्व कुलपति बीएचयू ने छात्रों से कहा कि वे सदैव लक्ष्य के प्रति सजग रहें। विवेकानन्द जी के रास्ते पर उठो , बढो और जबतक लक्ष्य की प्राप्ति न हो तब रूकों नहीं। इससे न सिर्फ आप अपना बल्कि परिवार समाज का भी विकास कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि अपने संस्थान के प्रति सर्म्पण की भावना होनी चाहिए जैसा कि डॉ पारस नाथ पाण्डेय ने कर के दिखाया।

इस दौरान प्रदेश के राज्यमंत्री, स्वतंत्र प्रभार स्टाम्प एंव न्यायालय शुल्क तथा पंजीयन, रवीन्द्र जायसवाल ने कहा कि जिस तरह से महाबोधि सोसायटी ने इस क्षेत्र में शिक्षा के लिए काफी लम्बे समय से प्रयास कर रही है वह प्रंशसनीय है। आज सब कुछ होने के बाद भी डाक्टर, इंजीनियर, फिल्म डायरेक्टर सहित अच्छे-अच्छे लोग आत्महत्या कर रहे हैं। सब कुछ पाने के बाद आज लोग कष्ट में है। बुद्ध ने कहा था कि शहद का स्वाद लिजिये लेकिन उसमें लिप्त मत होइए। मकडजाल में मत फंसिए। आज सच्चे अर्थो में हमें बुद्ध के सन्देश को अपने जीवन में उतारने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि आज सोसायटी द्वारा एक डिग्री कालेज की आवश्यकता है। हम चाहेंगे कि सोसायटी संकल्प ले हम लोग उसे मिल कर पूरा करेंगे।


इस दौरान इन्टर कालेज में नवनिर्मित भवन का निर्माण करने वाले डॉ पारस नाथ पाण्डेय ने कहा कि उन्होंने अपने संस्थानों को कुछ करने की कोशिश की है। उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि अगर आपके पास है तो समाज व लोंगो के लिए जरूर करिए। जिससे अन्य जरूरतमंद लोग भी लाभान्वित हो सके। आज ही डॉ पाण्डेय का जन्मदिन भी था इस दौरान केक काट कर उपस्थित लोंगो ने उनको जन्मदिन की बधाई दी। इस दौरान उनकी धर्मपत्नी आभा पाण्डेय सहित उनके परिवार के अन्य सदस्य भी उपस्थित रहे।


कार्यक्रम का शुभराम्भ दीप प्रज्ज्वलन से हुआ। स्वागत स्कूल के प्रबन्धक आर समित्थानन्द थेरो ने तथा धन्यवाद ज्ञापन पूर्व कुलपति प्रो. राम मोहन पाठक ने किया। संचालन स्कूल के प्रधानाचार्य प्रवीण कुमार श्रीवास्तव ने किया। इस दौरान डॉ जी एन त्रिपाठी, प्रो. एस एन ठाकुर, सहित सैकडों लोग उपस्थित रहें। इस दोरान स्कूल के छात्र-छात्राओं द्धारा सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया ।

Share

Related posts

Share