Income Tax Refund Update : क्या आपका इनकम टैक्स का पैसा खाते में पहुंचा, अगर नहीं तो जांचें अपना “रिफंड स्थिति”

Income Tax Refund Update : क्या आपका इनकम टैक्स का पैसा खाते में पहुंचा, अगर नहीं तो जांचें अपना "रिफंड स्थिति"

Income Tax Refund Update : इनकम टैक्स रिटर्न भरने की प्रक्रिया तेजी से चल रही है। जैसे-जैसे आप्रोचिंग डेडलाइन के करीब आ रहे हैं, रिटर्न फाइल करने वालों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। इसी बीच एक अच्छी खबर है कि इनकम टैक्स विभाग ने आप्रोचिंग रिटर्न की प्रोसेसिंग भी शुरू कर दी है। इसका मतलब है कि टैक्सपेयर्स को रिफंड राशि प्राप्त होने लगी है।

प्रक्रिया में हुए रिफंड के बारे में

इनकम टैक्स विभाग के पोर्टल पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार, अब तक 11.22 करोड़ व्यक्ति टैक्सपेयर पोर्टल पर पंजीकृत हुए हैं। चालू वित्त वर्ष 2023-24 की बात करें तो अब तक लगभग 1.33 करोड़ इनकम टैक्स रिटर्न फाइल किए गए हैं। इसमें से लगभग 1.26 करोड़ इनकम टैक्स रिटर्न सत्यापित भी हो चुके हैं। सबसे अच्छी खबर यह है कि अब तक इनकम टैक्स विभाग ने 3,973 सत्यापित इनकम टैक्स रिटर्न को प्रोसेस कर दिया है।

इन बातों का ध्यान रखें

आपको यह बता दें कि चालू सीजन में इनकम टैक्स रिटर्न भरने की आखिरी तारीख 31 जुलाई है। इसका मतलब है कि आपको 31 जुलाई से पहले अपना इनकम टैक्स रिटर्न फाइल कर देना चाहिए। एक और महत्वपूर्ण बात यह है कि रिटर्न फाइल करने के बाद काम समाप्त नहीं हो जाता है, बल्कि इसे सत्यापित करना भी जरूरी होता है। सत्यापित करने के बाद ही रिटर्न भरने की प्रक्रिया पूरी होती है। इसके बाद इनकम टैक्स विभाग रिटर्न को प्रोसेस करता है और सभी जानकारी सही पाने पर टैक्सपेयर द्वारा दावा किए गए रिफंड को टैक्सपेयर के खाते में क्रेडिट कर देता है।

रिफंड स्थिति की जांच के लिए पांच सरल चरण (रिफंड की स्थिति की जांच के लिए एक सरल गाइड):

स्टेप-1: सबसे पहले इनकम टैक्स विभाग के ई-फाइलिंग पोर्टल पर जाएं।

स्टेप-2: Quick Links विकल्प का चयन करें।

स्टेप-3: ड्रॉपडाउन मेन्यू में आपको “रिफंड स्थिति जानें” दिखेगा, उसे चुनें।

स्टेप-4: अब पैन नंबर, वित्त वर्ष और मोबाइल नंबर जैसी जानकारी भरें।

स्टेप-5: आपके मोबाइल नंबर पर एक OTP (वन टाइम पासवर्ड) प्राप्त होगा। उसे भरें।

इन चरणों को पूरा करने के बाद, आपको अपने इनकम टैक्स रिफंड की स्थिति पता चल जाएगी। यदि आपके बैंक विवरणों में कोई गड़बड़ी है, तो “कोई रिकॉर्ड नहीं मिला” त्रुटि संभव है। इसलिए, बेहतर होगा कि आप पहले ही अपना बैंक विवरण ध्यान से जांचें, ताकि आपका रिफंड रुका नहीं रहेगा।

By Vijay Srivastava