Income Tax Return : लास्‍ट डेट बीतने के बाद भी कर सकते हैं फाइल, इसके लिए आपको इस व्यवस्था के तहत करना होगा काम

PMJDY Latest News : प्रधानमंत्री जन-धन योजना के 50 करोड़ खाताधारकों के लिए वित्त मंत्री का बड़ा ऐलान, हर खाते पर मिलेगी ₹ 10000 की सुविधा!

आखिरी तारीख के बावजूद ITR करें और लाभ उठाएं

Income Tax Return : आखिरी तिथि में भी यदि आपने ITR नहीं भरी

आईटीआर का समय निकल गया है, लेकिन आपके पास अभी भी एक मौका है यदि आपने अपनी इनकम टैक्स रिटर्न जमा नहीं की है। 31 जुलाई 2023 तक जमा करने पर कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं देना होता। हालांकि, अब 1 अगस्त 2023 से, आयकर विभाग के तहत जो व्यक्ति अपने आयकर रिटर्न को जमा करता है, वह 31 दिसंबर 2023 तक यह काम पूरा कर सकेगा।

आईटीआर दाखिल करने का महत्व

आयकर रिटर्न जमा करने की आखिरी तारीख पास हो गई है। 31 जुलाई 2023 तक वेतनभोगी व्यक्तियों को अपने आयकर रिटर्न को दाखिल करना था। सरकार ने इस तिथि को निश्चित करके रखा था। हालांकि, कई लोगों ने निर्धारित समय तक अपने आयकर रिटर्न को जमा नहीं किया है। ऐसे में, उनके पास अब भी समय है और वे अपने आयकर रिटर्न को जमा कर सकते हैं। हम इसके बारे में विस्तार से जानते हैं…

आयकर रिटर्न की महत्वपूर्णता

अगर आपने 31 जुलाई 2023 तक अपने आयकर रिटर्न को जमा कर दिया होता, तो आपको कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं चुकाना पड़ता। हालांकि, 1 अगस्त 2023 से यदि कोई व्यक्ति अपने आयकर रिटर्न को जमा करता है, तो उसे 31 दिसंबर 2023 तक इस काम को पूरा करने का मौका मिलता है। लेकिन इसके लिए उसे कुछ लेट फीस भी चुकानी पड़ सकती है।

आयकर प्रणाली

वेतनभोगी लोग जिनकी आयकर दायित्वपूर्ण हो, वे 31 दिसंबर तक लेट फीस का भुगतान करके वित्त वर्ष 2022-23 में प्राप्त हुई आय की जानकारी दे सकते हैं। वर्तमान में, दो आयकर प्रणालियाँ मौजूद हैं – न्यू टैक्स रिजीम और ओल्ड टैक्स रिजीम। आप अपनी पसंद और आय के आधार पर इनमें से कोई भी चुन सकते हैं और अपने आयकर रिटर्न को जमा कर सकते हैं।

लेट फीस और आयकर रिटर्न

वे लोग जो 31 दिसंबर 2023 तक अपने आयकर रिटर्न को जमा करते हैं, उन्हें अपनी आय के आधार पर लेट फीस देनी होगी। यदि किसीकी आयकर योग्य नहीं है, तो उसे लेट फीस नहीं देनी पड़ती है। लेकिन अगर किसीकी आयकर योग्य है और 5 लाख रुपये सालाना से कम है, तो उसे 1000 रुपये की लेट फीस देनी होती है। और अगर किसीकी आय 5 लाख रुपये सालाना से अधिक है, तो उसे 5000 रुपये की लेट फीस चुकानी होती है।

By Vijay Srivastava

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *