सीमांचल एक्सप्रेस से छह नाबालिगों की तस्करी पर रेलवे सुरक्षा बल और बचपन बचाओ आंदोलन का संयुक्त अभियान सफल

चंदौली जिले के डीडीयू रेलवे सुरक्षा बल और बचपन बचाओ आंदोलन की संयुक्त टीम ने बृहस्पतिवार को सुबह सीमांचल एक्सप्रेस से छह नाबालिगों को बचाया। इस कार्रवाई में दो मानव तस्करों को भी गिरफ्तार किया गया।

तस्करों की योजना और टीम की त्वरित कार्रवाई

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, आरोपी तस्कर इन नाबालिगों को दिल्ली और कानपुर के कारखानों में काम करने के लिए ले जा रहे थे। इस खबर पर त्वरित कार्रवाई करते हुए रेलवे सुरक्षा बल और बचपन बचाओ आंदोलन की टीम ने सुबह नौ बजे ट्रेन के आगमन पर जनरल कोच की जांच की। इस दौरान टीम ने छह नाबालिगों को पाया, जिन्होंने बताया कि वे कानपुर और दिल्ली के कारखानों में काम करने जा रहे थे।

गिरफ्तार तस्करों का विवरण

आरपीएफ निरीक्षक प्रदीप कुमार रावत के अनुसार, बिहार के पूर्णिया जिले के जलालगढ़ थाना के हांसी निवासी करण कुमार और अररिया जिले के बरदाहा थाना के ठेंगड़ी निवासी अजय कुमार को गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में आरोपियों ने स्वीकार किया कि वे नाबालिगों को कानपुर और दिल्ली के सूजी, मैदा और खिलौनों की फैक्ट्रियों में काम कराने के लिए ले जा रहे थे।

नाबालिगों को सुरक्षित स्थान पर भेजा गया

आरपीएफ निरीक्षक ने बताया कि नाबालिगों को रेलवे चाइल्डलाइन को सौंप दिया गया है, और दोनों आरोपियों को मुगलसराय पुलिस को सौंपा गया है। इस संयुक्त अभियान से नाबालिगों की तस्करी के एक बड़े नेटवर्क पर प्रहार किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *