Breaking News

Income Tax की नई वेबसाइट आज से शुरू





Income Tex की आज से नई वेबसाइट आज से शुरू

विजय श्रीवास्तव
-18 से कीजिए पोर्टल के माध्यम से आयकर भुगतान
-मोबाइल ऐप भी होगा लांच

-नेटबैंकिंग, यूपीआई, क्रेडिट कार्ड और आरटीजीएस व एनईएफटी जैसे विकल्प होंगे मौजूद
नई दिल्ली। अब आदमी को अपने कर के भुगतान में आसानी होगी। वित्त मंत्रालय सोमवार यानि आज से आयकर विभाग का नया पोर्टल जारी करेगा। वैसे इस पोर्टल पर नई कर भुगतान प्रणाली 18 जून से शुरू होगी। विभाग के अनुसार यह एक बहुत बड़ा बदलाव है और कर भुगतान के नए सिस्टम समेत इसकी अन्य सभी सुविधाएं भी जल्द ही शुरू हो जाएंगी।
केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने शनिवार को इस बात की जानकारी देते हुए कहा था कि नया पोर्टल सोमवार से लाइव हो जाएगा। साथ ही बोर्ड ने कहा कि पोर्टल के साथ ही इसका ऐप भी जारी किया जाएगा। सीबीडीटी ने बयान में कहा गया है कि कर भुगतान की नई प्रणाली का आदि होने में करदाता को कुछ समय लग सकता है। हम चाहते है कि इस्तेमाल करने से पहले सभी करदाता इसकी विशेषताओं को अच्छी तरह से समझ लें। हम अपने सभी करदाताओं और शेयर धारकों से इनकम टैक्स का नया पोर्टल शुरू होने के बाद शुरुआत में धैर्य बनाए रखने की अपील करते हैं।

नई वेबसाइट से मिलेंगी कई सुविधाएं


नई वेबसाइट का उद्देश्य करदाताओं को सुविधाजनक और आधुनिक तकनीक उपलब्ध करना
सीबीडीटी ने कहा कि नई वेबसाइट का उद्देश्य करदाताओं को सुविधाजनक और आधुनिक तकनीक उपलब्ध करना है। इस नए पोर्टल पर करदाता तत्काल आयकर रिटर्न को भर सकते हैं। इस से करदाताओं के रिफंड जल्द जारी हो सकेंगे। मुफ्त आईटीआर तैयार करने के लिए सॉफ्टवेयर ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से उपलब्ध होगा और इसमें अक्सर पूछे जाने वाले सवाल होंगे ताकि करदाता टैक्स की जानकारी नहीं होने पर भी आसानी से अपने आईटीआर दाखिल कर सकें।
नई वेबसाइट से आयकरदाताओं को काफी लाभ व सुवधिाए मिलेगी। इसमें करदाताओं को आईटीआर 1, 4 (ऑनलाइन और ऑफलाइन) और आईटीआर 2 (ऑफलाइन) दाखिल करने में मदद करने के लिए हमेशा पूछे जाने वाले प्रश्नों के साथ एक मुफ्त आईटीआर तैयारी सॉफ्टवेयर भी होगा और आईटीआर 3, 5, 6, 7 की तैयारी की सुविधा होगी। जल्द ही उपलब्ध कराया जाएगा। करदाता वेतन, गृह संपत्ति, व्यवसायध्पेशे सहित आय के कुछ विवरण प्रदान करने के लिए अपनी प्रोफाइल को सक्रिय रूप से अपडेट करने में सक्षम होंगे, जिसका उपयोग नए वेब पोर्ट में अपने आईटीआर को पूर्व-भरने में किया जाएगा।

Share

Related posts

Share