Breaking News

केरोना वैक्सीन को लेेकर नई अपडेट : 12 से 16 हफ्ते पर लगेगी अब कोविशील्ड की दूसरी डोज, स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी मंजूरी

केरोना वैक्सीन को लेेकर नई अपडेट : 12 से 16 हफ्ते पर लगेगी अब कोविशील्ड की दूसरी डोज, स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी मंजूरी

डाॅ यू के श्रीवास्तव
-कोरोना संक्रमित लोग अब 6 माह बाद लगवा सकेंगे टीका

नई दिल्ली। कोरोना वैक्सीन को लेकर भारत सरकार ने नई अपडेट दी है। जिसके अनुसार अब कोविशील्ड वैक्सीन के दोंनो डोज में 84 से 112 दिन का अन्तराल रहेगा। 16 केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविशील्ड वैक्सीन के दूसरे डोज के लिए समय अंतराल 12 से 16 हफ्ते रखने के कोविड वर्किंग ग्रुप की सलाह को स्वीकार लिया है. ऐसे में जिन लोगों ने कोविशील्ड वैक्सीन की पहली खुराक ली है, अब ये 12 से 16 हफ्ते के अंतराल पर वैक्सीन की दूसरी डोज ले सकेंगे। इसके साथ ही जो लोग कोरोना संक्रमण के शिकार हो चुके हैं व ेअब 6 माह बाद टीका करा सकेंगे। जबकि सामान्य लोग पहले लोग 4 से 8 सप्ताह के बाद लगवा रहे थे।


गर्भवती महिलाएं अपने लिए चुन सकती वैक्सीन


कोविड पर पैनल- राष्ट्रीय टीकाकरण तकनीकी सलाहकार समूह (एनटीएजीआई) ने यह भी कहा कि गर्भवती महिलाएं अपने लिए वैक्सीन चुन सकती हैं और गर्भवती महिलाएं डिलीवरी के बाद कभी भी वैक्सीन लगवा सकती हैं। पैनल ने कहा कि जो लोग कोरोना वायरस संक्रमण से पीड़ित रहे हैं, वे 6 महीने के बाद ही टीकाकरण करवाएं।

घर बैठे खरीदने के लिए क्लीक करें:

एनटीएजीआई ने दो खुराकों के बीच अन्तर की सिफारिश की थी


गौरतलब है कि एनटीएजीआई ने कोविड-19 रोधी कोविशील्ड टीके की दो खुराकों के बीच अंतर बढ़ाकर 12-16 हफ्ते करने की सिफारिश की थी। कोवैक्सिन की खुराकों के बीच अंतराल में किसी तरह के बदलाव की अनुशंसा नहीं की गई है। समूह ने कहा है कि गर्भवती और स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को कोई भी टीका लगवाने का विकल्प दिया जा सकता है। समूह ने कहा है कि गर्भवती महिलाओं को कोविड-19 का कोई भी टीका लगवाने का विकल्प दिया जा सकता है और स्तनपान करवाने वाली महिलाएं बच्चे को जन्म देने के बाद किसी भी समय टीका लगवा सकती हैं।


घर बैठे खरीदने के लिए क्लीक करें:

कोविशील्ड के दो खुराकों के बीच पहले 4 से 8 सप्ताह का था अन्तर


अभी कोविशील्ड की दो खुराकों के बीच का अंतराल चार से आठ हफ्ते हैं। यह अनुशंसा ऐसे समय में की गई है जब कई राज्यों ने टीकों की कमी की बात कही है। घरेलू स्तर पर टीकों की आपूर्ति की कमी और बढ़ती मांग के बीच दिल्ली, महाराष्ट्र, कर्नाटक और तेलंगाना समेत कई राज्यों ने कोरोना वायरस रोधी टीकों की खरीद के लिए वैश्विक निविदा आमंत्रित करने का फैसला किया है। वैक्सीन को लेकर दिल्ली से लेकर महाराष्ट्र तक जमकर सियासत चल रही है।


घर बैठे खरीदने के लिए क्लीक करें:

स्तनपान कराने वाली महिलाओं को वैक्सीन न लगाने की संलाह


एनटीएजीआई ने कहा है कि स्तनपान करवाने वाली सभी महिलाएं बच्चे के जन्म के बाद कभी भी टीका लगवा सकती हैं. वर्तमान के टीकाकरण प्रोटोकॉल में कहा गया है कि चूंकि अभी तक के क्लिनिकल ट्रायल में गर्भवती और स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को शामिल नहीं किया गया है, अतः उन्हें टीका नहीं लगाया जाना चाहिए।

घर बैठे खरीदने के लिए क्लीक करें:


कोरोना पीड़ित अब 6 माह बाद लगवा सकेंगे वैक्सीन


एनटीएजीआई की बैठक में यह बात भी कहा है कि जो लोग कोविड-19 से पीड़ित रह चुके हैं और जांच में उनके सार्स-सीओवी-2 से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है, उन लोगों को स्वस्थ होने के बाद छह महीने तक टीकाकरण नहीं करवाना चाहिए।
ऐसे लोग जिन्हें टीके की पहली खुराक लग चुकी है और दूसरी खुराक लगने से पहले यदि वे संक्रमित हो जाते हैं तो उन्हें ठीक होने के बाद अगली खुराक लगवाने से पहले चार से आठ हफ्ते इंतजार करना चाहिए।

घर बैठे खरीदने के लिए क्लीक करें:

Share

Related posts

Share