अब वाराणसी में सस्ते घर का सपना होगा साकार

वाराणसी: हर कोई अपने सिर पर खुद की छत और अपने आशियाने का सपना देखता है, लेकिन महंगाई के इस दौर में इस सपने को पूरा करना आसान नहीं होता। अब वाराणसी में न्यू काशी प्रोजेक्ट के तहत शहर का विस्तार हो रहा है, जिससे अपने घर का सपना भी पूरा होगा और सस्ते घर भी उपलब्ध होंगे। न्यू काशी प्रोजेक्ट के तहत रिंग रोड पर पहले ग्रुप हाउसिंग प्रोजेक्ट को मंजूरी मिल गई है।

पहला ग्रुप हाउसिंग प्रोजेक्ट दांदूपुर में

वाराणसी विकास प्राधिकरण ने दांदूपुर में पहला ग्रुप हाउसिंग प्रोजेक्ट पास कर दिया है। इस प्रोजेक्ट के तहत रोडवेज बस स्टैंड के पास 2817 वर्ग मीटर में 6 मंजिला ग्रुप हाउसिंग प्रोजेक्ट तैयार किया जाएगा जिसमें 65 फ्लैट बनाए जाएंगे। वाराणसी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष पुलकित गर्ग ने बताया कि नई काशी की कल्पना रिंग रोड के किनारे पूरी करने की शुरुआत इस पहले ग्रुप हाउसिंग प्रोजेक्ट के साथ हो रही है।

महायोजना 2021 के तहत विकास

विकास प्राधिकरण की महायोजना 2021 में रिंग रोड के किनारे ग्रुप हाउसिंग अपार्टमेंट, शॉपिंग मॉल, हॉस्पिटल, पेट्रोल पंप, स्कूल-कॉलेज खोलने की योजना बनाई गई है। इसी के तहत दांदूपुर स्थित रिंग रोड के पास ग्रुप हाउसिंग प्रोजेक्ट को मंजूरी दी गई है। यह योजना स्वीकृत हो चुकी है और जो डेवलपर इसे विकसित करना चाहते हैं, उन्हें मानचित्र पर मंजूरी दिए जाने के बाद बेसमेंट, ग्राउंड फ्लोर और छठे फ्लोर तक अलग-अलग निर्माण के तहत अनुमति दी गई है।

सुविधाओं की योजना

इस योजना में बेसमेंट में पार्किंग की व्यवस्था होगी, जबकि ग्राउंड फ्लोर और फर्स्ट फ्लोर पर कमर्शियल एक्टिविटी के लिए दुकानें खोली जाएंगी। बाकी बचे फ्लोर पर 65 फ्लैट बनाए जाएंगे। ग्राउंड फ्लोर पर 27 दुकानें, बेसमेंट और फर्स्ट फ्लोर पर तैयार होंगी। इसके अलावा, यहाँ पर एक एसटीपी प्लांट भी विकसित किया जाएगा, ताकि सीवरेज सिस्टम का पानी प्यूरीफायर करके नदी में भेजा जा सके।

पार्किंग और फ्लैट की जानकारी

पुलकित गर्ग ने बताया कि हर फ्लोर पर 13 यूनिट फ्लैट का निर्माण किया जाएगा और 103 गाड़ियों के पार्किंग की व्यवस्था के साथ दो पहिया वाहनों की पार्किंग की सुविधा भी उपलब्ध होगी। यह प्रोजेक्ट अल्प आय वर्ग के लिए सबसे बेस्ट माना जा रहा है। फ्लैट की कीमत अभी निर्धारित नहीं हुई है, लेकिन जल्द ही इसे तय कर लिया जाएगा।

नई नीति के तहत सस्ते फ्लैट

उपाध्यक्ष पुलकित गर्ग का कहना है कि फ्लैट सस्ते हों और भूमि का अधिकतम उपयोग हो, इस पर सरकार ने विशेष ध्यान दिया है। इसी के तहत वाराणसी में यह पहला ग्रुप हाउसिंग प्रोजेक्ट पास किया गया है। नई नीति के बाद अब 12 मीटर चौड़ी सड़क पर भी बिल्डर न्यूनतम 2000 वर्ग मीटर की जमीन पर फ्लैट बना सकेंगे। इस नए नियम से कामकाजी वर्ग को अपने घर का सपना पूरा करने का मौका मिलेगा और कम जगह में 30, 45 और 75 वर्ग मीटर के फ्लैट उपलब्ध करवाए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *