PCS Jyoti Maurya Controversy : पति आलोक मौर्य व पत्नी एसडीएम ज्योति मौर्य का विवाद पहुंचा लखनऊ, बताया आरोप बेबुनियाद

PCS Jyoti Maurya Controversy : पति आलोक मौर्य व पत्नी एसडीएम ज्योति मौर्य का विवाद पहुंचा लखनऊ, बताया आरोप बेबुनियाद

PCS Jyoti Maurya Controversy: एसडीएम ज्योति मौर्य की लखनऊ में मुलाकात

PCS Jyoti Maurya Vs Alok Maurya: बरेली की एसडीएम ज्योति मौर्य (Jyoti Maurya) और उनके पति आलोक मौर्य (Alok Maurya) का विवाद अब लखनऊ में पहुंच गया है. शुक्रवार को ज्योति मौर्य ने अपने वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की और पूरे विवाद पर अपना पक्ष रखा. उन्होंने सोशल मीडिया (Social Media) पर उनके खिलाफ की जा रही टिप्पणियों पर अधिकारियों को सफाई दी और पूरे मामले की जांच की बात कही.

अदालती विवाद की मुलाकात

पति-पत्नी और वो को लेकर छिड़े विवाद के बीच सुर्खियों में आई एसडीएम मौर्य ने वरिष्ठ अधिकारियों के सामने पूरे मामले पर अपनी बात रखी. अमर उजाला के अनुसार एसडीएम ने कहा कि उन पर जो भी आरोप लगाए जा रहे हैं वो निराधार हैं. इसकी जांच कराई जानी चाहिए और जो भी दोषी पाया जाए उसके खिलाफ कार्रवाई हो. इस दौरान उन्होंने डीएम और कमिश्नर से को आवेदन दिया और अपनी बात भी रखी. हालांकि इस दौरान वो मीडिया से दूर रही और कोई बात नहीं की.

मीडिया से दूरी

ज्योति मौर्य विवाद के बीच उनसे अफेयर को लेकर चर्चा में आए महोबा होमगार्ड कमांडेट मनीष दुबे ने भी कल झांसी में हुई मंडलीय बैठक में हिस्सा लिया, लेकिन उन्होंने भी मीडिया से कोई बात नहीं की. बैठक के बाद जब वो बाहर आए तो पत्रकारों ने उनसे ज्योति मौर्य को लेकर सवाल किया, लेकिन वो बिना कोई जवाब दिए ही अपनी गाड़ी में बैठकर निकल गए. वहीं जब इस प्रकरण पर डीआईजी होमगार्ड से बात की तो उन्होंने कहा कि वो ज्योति मौर्य को नहीं जानते हैं, मनीष दुबे को जानते हैं वो विभाग के अच्छे अधिकारी है.

आलोक मौर्य और ज्योति मौर्य का विवाद

आपको बता ददें कि इन दिनों बरेली की एसडीएम ज्योति मौर्य और उनके पति आलोक मौर्य के बीच का विवाद सुर्खियों में बना हुआ है. आलोक मौर्य ने अपनी पत्नी का होमगार्ड कमाडेंट मनीष दुबे से अफेयर होने और उन दोनों पर उन्हें जान से मारने की साजिश रचने का आरोप लगाया है. आलोक मौर्य का कहना है कि साल 2010 में उनकी लखनऊ की ज्योति मौर्य से शादी हुई थी. शादी के बाद आलोक ने अपनी पत्नी को उच्च शिक्षा दिलाई और 2015 में वो पीसीएस अधिकारी बन गईं. साल 2020 में वो मनीष दुबे के संपर्क में आईं और उनसे दूर होती चली गईं.

By Vijay Srivastava