Breaking News

पेंपा सेरिंग बने निर्वासित तिब्बत सरकार के नए प्रधानमंत्री, 5417 वोट से दर्ज की जीत

पेंपा सेरिंग बने निर्वासित तिब्बत सरकार के नए प्रधानमंत्री, 5417 वोट से दर्ज की जीत

विजय श्रीवास्तव
-पेंपा सेरिंग पिछली बार भी लड़े थे लेकिन वे दूसरे स्थान पर रहे
-प्रतिद्वंदी केलसंग दोरजे को दी पेंपा सेरिंग ने कड़ी शिकस्त

वाराणसी। निर्वासित तिब्बत सरकार (केंद्रीय तिब्बती प्रशासन) के नये प्रधानमंत्री के रूप में पेंपा सेरिंग को चुना गया है। पेंपा सेरिंग ने प्रतिद्वंदी केलसंग दोरजे से 5417 वोट से जीत दर्ज की। पेंपा सेरिंग निर्वसित तिब्बत संसद से स्पीकर भी रह चुके हैं और वे पिछली बार भी चुनाव लड़े थे लेकिन वे दूसरे स्थान पर रहे। पेंपा सेरिंग बौद्ध धर्मगुरु दलाईलामा के भी करीबी है वह अमेरिका में धर्मगुरू के प्रतिनिधि पद पर रह चुके हेेैं।

55,683 तिब्बती भारत में रहते हैं


आज यानि शुक्रवार को धर्मशाला स्थित निर्वासित तिब्बती सरकार के मुख्यालय में घोषित किए गये परिणाम में पेंपा सेरिंग को विजेता घोषित किया गया। पेंपा सेरिंग ने 34324 मत हासिल कर अपने प्रतिद्वंदी केसलंग दोरजे को 5417 मतों के बडे अन्तर से हरा दिया। केसलंग को 28907 मत हासिल हुए।गौरतलब है कि 3 जनवरी को तिब्बतियों ने निर्वासित तिब्बत सरकार के पीएम पद समेत 45 सदस्यीय निर्वासित संसद के उम्मीदवारों के लिए पहले चरण का मतदान किया था। दूसरे और आखिरी चरण की वोटिंग 11 अप्रैल को हुई थी। जिसके नतीजे आज यानि 14 मई को घोषित हुए । इससे पूर्व 22 दिसंबर तक दुनिया भर में कुल 79,697 मतदाताओं ने चुनाव में मतदान करने के लिए पंजीकरण किया था। इसमें से 55,683 भारत में रहते हैं।

घर बैठे खरीदने के लिए क्लीक करें:


पेंपा सेरिंग निर्वासित तिब्बत संसद में दो बार अध्यक्ष रह चुके

वैसे रुझानों में शुरू से ही आगे रहने वाले पेंपा सेरिंग निर्वासित तिब्बत संसद में दो बार अध्यक्ष रह चुके हैं। उन्होंने पिछली बार भी प्रधानमंत्री पद के लिए चुनाव लड़ा था, जिसमें वह दूसरे नंबर पर रहे थे। वह निर्वासित तिब्बत सरकार के स्पीकर भी रह चुुके हैं। केलसंग दोरजे जबकि निर्वासित तिब्बत सरकार में बड़े अधिकारी रह चुके हैं। उनको प्रधानमंत्री लोबसंग सांग्ये का खास आदमी माना जाता रहा है।

Samsung Galaxy M31 घर बैठे खरीदने के लिए क्लीक करें:


इन देशों में हुआ था मतदान
आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, आस्ट्रिया, बेल्जियम, डेनमार्क, फ्रांस, जर्मनी, आयरलैंड, इटली, नीदरलैंड, नार्वे, पोलैंड, स्पेन, स्वीडन, स्विट्जरलैंड, यूके, जापान, नेपाल, अमेरिका, रूस, ताइवान सहित भारत के कई हिस्सों में तिब्बती लोगों ने नए प्रधानमंत्री के लिए मतदान किया था।

Share

Related posts

Share