Breaking News

सारनाथ में सीनियर सिटीजन ने वृद्धाश्रम में मनाया दीपावली महोत्सव

विजय श्रीवास्तव
-सांस्कृतिक कार्यक्रम सहित खेलकूद का भी हुआ आयोजन

वाराणसी। आस्था व तपस्या की तपोभूमि सारनाथ में सीनियर सिटिजन फोरम के सदस्यों ने एक वृद्धाश्रम के प्रांगण में दीपावली महोत्सव मनाया। दूरदराज से आये फोरम के 200 वरिष्ठ नागरिकों ने इस दौरान वृद्धाश्रम में रह रही महिलाओं के साथ जहां हुए सांस्कृतिक कार्यक्रम में शरीक हुए वहीं उनके साथ भोजन भी किया।


भगवान बुद्ध की उपदेश स्थली सारनाथ रेलवे स्टेशन के समीप स्थित सुनसान रहने वाले वृद्धाश्रम में आज एक अलग रौनक था। वृद्धाश्रम में रहने वाली महिलाओं के चेहरें पर खुशी दिखी। इस दौरान दीपावली महोत्सव के अवसर पर आए वरिष्ठों नागरिकों ने भी उन्हें भरोसा देने की कोशिश की हमसब आपके दुख-सुख में साथ है।


कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे फोरम के अध्यक्ष विजय प्रकाश श्रीवास्तव ने कहा इस फोरम की स्थापना 2017 में मुरलीधर गौण ने किया था। इस फोरम का उद्देश्य वृद्धावस्था में समस्याओें से घिरे हुए संघर्षरत व्यक्तियों को एक मंच देना जहां उनकी समस्या के समाधान की रणनीति बनायी जा सके। इस दौरान फोरम की सचिव मालती गोस्वामी ने बताया कि अभी तक लगभग 66 केश काउन्सलिंग के माध्यम से समायोजित किया गया है तथा कुछ केस कोर्ट में अभी भी लम्बित है।


कार्यक्रम के मुख्य वक्ता अवकाश प्राप्त कमिश्नर ओमधीरज ने वरिष्ठ व्यक्तियों की सामाजिक व आर्थिक समस्याओं पर कहा कि वृद्धजन माता-पिता के समान होते हैं। समाज में सम्मान पाना इनका अधिकार है। माता-पिता समाज के पुरोधा होते हैं। इसलिए हर व्यक्ति की यह नैतिक जिम्मेदारी है कि वृद्धावस्था में उनका समुचित देखभाल करें और समाज में उनके सामाजिक अधिकार को बनाए रखें क्योंकि वह ही अपनी कडी मेहनत से अपने आने वाली वंशावलियों को शिक्षित करते हैं जिससे वह समाज में सम्मानित जीवन जीते हैं।


इस दौरान सार्क की डायरेक्टर रंजना गौण, रामनेश सिंह, श्रीमती गुडिया सिंह, हरिशंकर सिन्हा, डॉ शैलेन्द्र पाण्डेय, काशी नाथ श्रीवास्तव, ओम प्रकाश उपाध्याय, मोहन लाल श्रीवास्तव, बालकृष्ण शर्मा, अरविन्द श्रीवास्तव, डॉ छाया पाण्डेय, राहुल सिन्हा सहित दर्जनों की संख्या में वरिष्ठजन उपस्थित रहें। इस दौरान सांस्कृतिक कार्य्रक्रम के साथ खेलकूद का भी आयोजन किया गया।

Share

Related posts

Share