श्रद्धा मर्डर कांड पार्ट-2 : अब बिहार में, इस बार प्रेमी के शव को कई टुकड़ों में काट कर नदी-पोखरा में फेंका गया

श्रद्धा मर्डर कांड पार्ट-2

ब्रेकिंग न्यूज
-पुलिस ने युवक के प्रेमिका व उसके पति को किया गिरफ्तार
नालन्दा। दिल्ली का श्रद्धा मर्डर कांड अभी पूरी तरह से साफ नहीं हो पाया कि अब बिहार के नालंदा में दिल्ली श्रद्धा मर्डर केस की तर्ज पर एक खौफनाक मंजर सामने आया है। फर्क बस इतना है कि श्रद्धा मर्डर कांड पार्ट-1 में जहां प्रेमिका की कई टुकड़े कर उसे जंगलों में फेका गया था वहीं इस पार्ट-2 में प्रेमी के कई टुकड़े काट नदी-पोखरें में फेंका गया है। यह मामला नालंदा के नूरसराय इलाके का है। जहां एक व्यक्ति की हत्या करने के बाद उसके शव को कई के टुकड़े काट कर बोरें में रखकर उसे नदी और तालाब में जगह-जगह फेंक दिया गया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार 2 दिन पहले बोरी से कटे हुए एक युवक का हाथ और पैर मिलने के बाद यह मामला पुलिस के सामने आया। जब पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू की तो कई बड़े खुलासे धीरे-धीरे सामने आने लगे। पुलिस के मुताबिक जिस युवक की हत्या की गई है और उसके शव के टुकड़े-टुकड़े किए गए हैं उसकी पहचान हो गई है। पुलिस को पुनपुन नदी से मृतक के सिर और धड़ का हिस्सा मिला । इस मामले में वैसे नूरसराय पुलिस ने एक दंपति को इस मर्डर केस में गिरफ्तार किया है।


बताया जाता है कि बृहस्पति वार को नूरसराय थाना क्षेत्र के नारी छिलका के पास एक बोरी में बंद हाथ और पैर मिलने से सनसनी फैल गई। पुलिस युवक के शरीर के अन्य अंग को तलाश ही रही थी कि रविवार यानि आज सर और धड मिलने से पुलिस ने मृतक के पहचान करने का दावा किया है। पुलिस ने मृतक की पहचान सिलाओ थाना क्षेत्र के आनंद गांव निवासी विकास चौधरी के रूप में किया है। विकास चौधरी के परिजनों ने युवक के लापता होने की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई थी। पुलिस को हाथ में बने कंगन और कलाई में जले के निशान से उसकी पहचान की गई है।
पुलिस ने पूछताछ के आधार पर पुलिस ने जहां नूरसराय थाना क्षेत्र के 12 खुर्द निवासी दंपति रंजन कुमार और उनकी पत्नी ज्योति को हिरासत में ले लिया है। पूछताछ के बाद इस दंपति की निशानदेही पर उसी गांव सिपाह गांव स्थित पंचाने नदी से धड और फतवा में पुनपुन नदी से सिर को बरामद करने में पुलिस को सफलता मिली है। जब पुलिस ने ज्योति से पूछताछ की तो कहानी की सच्चाई सामने आने लगी। जानकारी के मुताबिक ज्योति की शादी से पहले विकास के साथ उसका प्रेम संबंध था। विकास चौधरी ज्योति के घर में ही रहकर 10 साल तक पढ़ाई किया था। तभी से दोनों के बीच प्रेम संबध चल रहा था लेकिन इस बीच दोनों की शादी हो गई। बावजूद दोंनो संभवतः एक दूसरे को मन से भूल नहीं सके थे। जानकारी के मुताबिक विकास और ज्योति आपस में मिलते भी रहते थे। अनुमान है कि इसके बारें में ज्योति के पति को मालूम हो गया था। बुधवार को ज्योति ने विकास को मिलने के लिए अपने ससुराल बुलाया था। आरोप है कि इसी दौरान वहां धोखे से पति और अन्य लोगों ने साथ मिलकर उस पर कुदाल से हमला कर दिया और उसके शरीर के टुकड़े-टुकड़े कर उसके शव को नदी और तालाब में जगह-जगह फेंक दिया गया। पुलिस ने काल डिटेल के आधार पर और पूछताछ के आधार पर रंजन कुमार और उसकी पत्नी ज्योति कुमार को गिरफ्तार किया। पुलिस अभी शव का डीएनए टेस्ट करायेगी तब पूरी तरह से शव का शिनाख्त हो सकेगा लेकिन इस घटना ने जहां श्रद्धा मर्डर केस की एक बार फिर याद दिला दी वही बिहार में भी इस घटना को लेकर सनसनी फैल गयी है।

Share
Share