Breaking News

वकीलों की प्रदेशव्यापी हड़ताल आज, शाहजहांपुर कोर्ट में वकील की हत्या के विरोध में रहेंगे कार्य से विरत

विजय श्रीवास्तव
-हाईकोर्ट के वकील भी हड़ताल में होंगे शामिल
-कचहरी में वकीलों की आम सभा आज

शाहजहांपुर । सोमवार को शाहजहांपुर के न्यायालय परिसर के तीसरी मंजिल पर अधिवक्ता की गोली मारकर हत्या के विरोध में आज वकील प्रदेशव्यापी हड़ताल करेंगे। वकील कोर्ट परिसर की सुरक्षा को लेकर काफी आक्रोशित है। इस क्रम में उ. प्र. बार काउंसिल ने आपात बैठक कर घटना की निंदा की और वकीलों की सुरक्षा को लेकर चिंता भी जताई। घटना को लेकर प्रदेशव्यापी विरोध में न्यायिक कार्य से विरत रहने का प्रस्ताव पारित किया गया और 20 अक्तूबर को प्रदेश की अदालतों का कामकाज ठप रखने का बार संगठनों से अनुरोध किया गया।


गौरतलब हे कि सोमवार को अपराह्न 12.30 बजे कचहरी परिसर के तीसरी मंजिल पर रिकार्ड रूम में एक वकील की गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी। उसके बाद हत्यारें असलहा वहीं फेंक कर भाग भी गये। वैसे पुलिस ने बाद में उसके साथी वकील को ही इस जुर्म में हिरासत में लेकर जेल भेज दिया लेकिन इसके बावजूद वकीलों का गुस्सा शान्त नहीं हुआ। जिसके चलते प्रदेश के कई जिलों में वकीलों ने बैठक कर कचहरी परिसर में सुरक्षा को लेकर रोष व्यक्त किया।


शाहजहांपुर जिला अदालत में अधिवक्ता की हत्या के विरोध स्वरूप व अधिवक्ता सुरक्षा कानून की मांग को लेकर बार काउंसिल के आह्वान पर बुधवार को पूरे प्रदेश के अधिवक्ता संगठन हड़ताल करेंगे। इलाहाबाद हाईकोर्ट के अधिवक्ता भी इस दिन न्यायिक कार्य से विरत रहेंगे। हाईकोर्ट बार एसोसिएशन की एल्डर कमेटी ने इस आशय का प्रस्ताव पारित किया है। कमेटी ने मुख्य न्यायाधीश से अनुरोध किया है कि हड़ताल के कारण अधिवक्ताओं की कोर्ट में गैर मौजूदगी के कारण प्रतिकूल आदेश पारित न किया जाए।


शाहजहांपुर के न्यायालय परिसर में हुई अधिवक्ता भूपेंद्र सिंह की हत्या के विरोध में जिला अधिवक्ता संघ द्वारा बुधवार को सुबह 11 बजे आम सभा बुलाई गई है। जिला अधिवक्ता संघ के मंत्री प्रमोद सिंह नीरज और विद्याभूषण द्विवेदी ने बताया कि अधिवक्ता की हत्या के विरोध में बुधवार को जिला न्यायालय के वकील जुलूस निकालकर जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपेंगे। इसके लिए अधिवक्ताओं की आमसभा संघ हॉल में सुबह 11 बजे होगी। अधिवक्ता संघ का कहना है कि ज्ञापन के माध्यम से सरकार से मांग की जाएगी कि प्रदेश में अधिवक्ता प्रोटेक्शन एक्ट लागू किया जाए। हत्या के विरोध में बुधवार को अधिवक्ता न्यायिक कार्य नहीं करेंगे।

Share

Related posts

Share