Breaking News

कंकणाकृती सूर्य ग्रहण देश काल के लिए शुभ नहीं, वृष, मिथुन, वृश्चिक को रहना होगा सावधान

कंकणाकृती सूर्य ग्रहण देश काल के लिए शुभ नहीं, वृष, मिथुन, वृश्चिक को रहना होगा सावधान

पंडित प्रसाद दीक्षित
ज्योतिषाचार्य एवं पूर्व ट्रस्टी श्री काशी विश्वनाथ मंदिर वाराणसी
-15 दिन के अन्दर दो ग्रहण देश काल के शुभ नहीं
-शेेष 9 राशियांें को होगा इस सूर्य ग्रहण से लाभ

वाराणसी। गुरुवार जेष्ठ मास कृष्णपक्ष की अमावस्या तिथि को कंकणाकृती सूर्य ग्रहण है। ग्रहण का प्रारंभ भारतीय समयानुसार दिन में 1.43 पर तथा मोक्ष सायकाल 6.41 पर होगा। यह ग्रहण उत्तरी अमेरिका के उत्तर पूर्वी भाग, उत्तरी एशिया और अटलांटिक महासागर में दिखाई देगा। ऐसी मान्यता है कि जब भी 15 दिन के पश्चात पुनः ग्रहण लग जाए तो यह देश काल के लिए ठीक नहीं कहा जा सकता। यह भौगोलिक घटनाक्रम पृथ्वीवासियों के लिए ठीक नहीं कहा जाएगा। संपूर्ण विश्व में उथल-पुथल की स्थिति भी अवश्य बनेगी। ग्रहण का मतलब ही है अशुभता का सूचक स ग्रहण का प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष दुष्प्रभाव मानव जीवन पर अवश्य दिखाई देगा। जिन मानव पर ग्रहण का ज्यादा असर हो उन्हें चाहिए कि सूर्य के निमित्त श्ॐ घृणि सूर्याय नमःश् मंत्र का जप करें और 15 दिनों से जो लगातार परेशान हैं, उन्हें सूर्य मंत्र के साथ ही ‘‘ॐ सोम सोमाय नमः‘‘ (चंद्र मंत्र) का जप भी अवश्य करना चाहिए।


कंकणाकृती सूर्यग्रहण का प्रभाव

गुरुवार 10 जून 2021 ई. को सूर्य ग्रहण है। यह ग्रहण कंकणाकृती सूर्य ग्रहण कहलायेगा। यह शाश्वत सत्य है कि ग्रहण का प्रभाव मनुष्य के जीवन पर अवश्य पड़ता है। विभिन्न राशियों के जातक पर इसका कुछ खास असर भी पड़ेगा। यह ग्रहण मृगशिरा नक्षत्र एवं वृषभ राशि पर अपना विशेष छाप छोड़ेगा अर्थात सबसे ज्यादा प्रभावित वृषभ राशिवाले ही होंगे।


12 राशियों पर ग्रहण का प्रभाव इस प्रकार पड़ेगा –

1ः मेष राशि के जातक के लिए लाभ की स्थिति बनी रहेगी तथा धन का लाभ मिलना सुनिश्चित है।
2ः वृष राशिवाले जातक को केवल नुकसान होगा इसलिए सावधानी अपेक्षित है। वृष राशि वाले जातक को मान-सम्मान, धान, पद-प्रतिष्ठा, वाहन, भूमि भवन इत्यादि का नुकसान हो सकता है। वृषभ राशि के जातक को चाहिए कि वह कोई भी महत्वपूर्ण निर्णय अभी ना लें तो सर्वोत्तम रहेगा।
3ः मिथुन राशिवालों को भी कुछ लाभ मिलने वाला नहीं है बल्कि केवल नुकसान ही होनेवाला है। मिथुन राशिवाले इसकाल में कोई भी निर्णय लेने से बचें तो उत्तम रहेगा।
4ः कर्क राशिवाले आपके लिए चांदी रहनेवाली है। चारों दिशाओं से लाभ भी प्राप्त होगा।
5ः सिंह राशिवाले धन का प्रचुर मात्रा में मिलना निश्चित है।
6ः कन्या राशिवालों को भी सर्वाधिक लाभ अवश्य प्राप्त होगा। 7ः तुला राशिवाले आपके दोनों हाथों में लड्डू रहनेवाला है अर्थात जो भी करेंगे उससे लाभ अवश्य प्राप्त होगा।
8ः वृश्चिक राशिवाले आपके लिए नुकसान है इसलिए सावधानी अपेक्षित है।
9ः धनु राशिवाले लाभ के अनेक अवसर प्राप्त होंगे।
10ः मकर राशिवाले धन, पद-प्रतिष्ठा इत्यादि का विशेष लाभ प्राप्त होगा।
11ः कुंभ राशिवाले कुछ खास प्राप्त होनेवाला है इसलिए समय का लाभ उठाएं।
12ः मीन राशिवाले आपको चारों दिशाओं से लाभ प्राप्त होगा ।

कंकणाकृती सूर्यग्रहण से प्रभावित व्यक्ति सूर्य मंत्र का जप करें । ॐ घृणि सूर्याय नमः मंत्र का जप करना श्रेयस्कर रहेगा

Share

Related posts

Share