Swiss Bank (स्वीस बैंकों) में भारतीयों की जमा राशि 2022 में हैरत में डालने वाला हैं ये हैं आंकड़े

Swiss Bank (स्वीस बैंकों) में भारतीयों की जमा राशि 2022 में हैरत में डालने वाला हैं ये हैं आंकड़े

ब्लैक मनी: भारतीय ग्राहकों की स्वीस बैंकों में जमा राशि में गिरावट

स्वीस बैंकों में भारतीय ग्राहकों की कुल निधि में एक 11% की गिरावट देखी गई है, जिससे जमा राशि 30,000 करोड़ रुपये हो गई है। यह एक आंकड़ा है जिसे 2022 में प्राप्त किया गया है और यह इंडियन ग्राहकों के वित्तीय खातों की गिरावट को दर्शाता है।

वृद्धि के बावजूद स्वीस बैंकों में ग्राहक जमा खातों में कमी

सीएचएफ ने रिपोर्ट की व्याख्या करते हुए बताया है कि 2021 में भारतीय ग्राहकों की कुल निधि में एक उच्चतम स्तर देखा गया था, जिसमें 3.83 अरब करोड़ सीएचएफ शामिल थी, और यह गिरावट 14 साल के उच्चतम स्तर के बाद आई है। हालांकि, पिछले सात सालों में ग्राहक जमा खातों में 34% की कमी देखी गई है, जो यह इंडियन ग्राहकों की उच्चतम गिरावट है। इससे स्पष्ट होता है कि वित्तीय निवेशकों ने स्वीस बैंकों में निवेश करने की प्राथमिकता को कम किया है।

भारतीय ग्राहकों की जमा राशि में गिरावट

2022 में स्वीस बैंकों में जमा होने वाले भारतीय व्यक्तियों और फर्मों के धन में 11% की गिरावट देखी गई है, जिससे कुल 30,000 करोड़ रुपये (लगभग 3.42 अरब सीएचएफ) की राशि हुई है। इसमें स्वीस बैंकों के शाखाओं और अन्य वित्तीय संस्थानों के माध्यम से जमा किए गए धन का भी शामिल है। एसएनबी के गुरुवार को जारी किए गए डाटा के अनुसार यह खुलासा हुआ है।

स्वीस बैंकों में भारतीय ग्राहकों की कुल निधि में इस गिरावट के बावजूद, जो 2021 में 3.83 अरब सीएचएफ के 14 साल के उच्चतम स्तर और लगातार दो वर्षों की वृद्धि के बाद आई है, 34% की कमी देखी गई है। यह आंकड़ा स्वीस बैंकों के एसएनबी के द्वारा जारी की गई रिपोर्ट पर आधारित है। यहां ध्यान देने योग्य बात यह है कि इसमें स्विट्जरलैंड में भारतीयों के रखे गए बहुचर्चित कालाधन की मात्रा का संकेत नहीं दिया गया है। यह आंकड़ा उन पैसे को भी शामिल नहीं करता है जो भारतीयों, एनआरआई या अन्य व्यक्तियों के पास तीसरे देश की संस्थाओं के नाम पर स्विस बैंकों में जमा हो सकते हैं।

इस रिपोर्ट के मुताबिक, 2022 के अंत तक स्वीस बैंकों में कुल 3.4 अरब सीएचएफ की देनदारी है, जो इन बैंकों के भारतीय ग्राहकों को दिया जाने वाला राशि है। इसमें ग्राहक जमा खातों में 39.4 करोड़ सीएचएफ (2021 के अंत तक 60.2 करोड़ सीएचएफ से कम), अन्य बैंकों के 1.11 अरब सीएचएफ (1.225 अरब सीएचएफ से कम) और बांड, प्रतिभूतियों और विभिन्न वित्तीय साधनों के रूप में ग्राहकों को दिया जाने वाला 1.896 अरब सीएचएफ (2021 में 2.002 अरब सीएचएफ से कम) शामिल है।

इससे स्पष्ट होता है कि स्वीस बैंकों में भारतीय ग्राहकों की जमा राशि में गिरावट हुई है, जो पिछले सालों में दर्ज की गई वृद्धि के खिलाफ है। यह गिरावट उच्च वित्तीय स्थिरता की संकेतक हो सकती है और इसे व्यापारिक और आर्थिक संकटों के संकेत के रूप में देखा जा सकता है।

इस रिपोर्ट में उठाए गए कुछ मुख्य प्रश्नों में शामिल हैं बैंक खाताधारकों की संख्या, आंकड़ों की वैश्विक व्याप्ति, भारतीय ग्राहकों की प्राथमिकता, और उनके द्वारा चुने गए वित्तीय उत्पादों और सेवाओं का उपयोग करके जमा की जा रही राशि के बारे में विचार करना शामिल है। यह विश्लेषण और विश्लेषण बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थाओं को यह जानने में मदद करेगा कि वे भारतीय ग्राहकों को अपने बिजनेस में विश्वसनीयता कैसे प्रदान कर सकते हैं और वित्तीय सेवाओं में मदद कर सकते हैं।

By Vijay Srivastava