TCS नहीं लगेगा: विदेश यात्रियों के लिए क्रेडिट कार्ड से खर्च करने का बड़ा फायदा

TCS नहीं लगेगा: विदेश यात्रियों के लिए क्रेडिट कार्ड से खर्च करने का बड़ा फायदा

विदेशी खर्च पर नया नियम

सरकार ने कहा कि इंटरनेशनल क्रेडिट कार्ड के जरिये विदेशों में खर्च उदारीकृत धन प्रेषण योजना (Liberalized Remittance Scheme) के अंतर्गत नहीं आएगा। इसलिए इस पर टैक्‍स की कटौती नहीं होगी। एलआरएस (LRS) के तहत यात्रा खर्च समेत भारत से विदेशों में धन भेजने पर 20 प्रतिशत की दर से टैक्‍स कटौती (TCS) के क्रियान्वयन को तीन महीने के लिये टालने का फैसला किया गया है। यह न‍ियम अब 1 अक्टूबर से प्रभाव में आएगा।

एक अक्टूबर से बदलेगा नियम

एक अक्टूबर से विदेशों में क्रेडिट कार्ड खर्च पर टीसीएस (TCS) नहीं लगेगा। उच्च दर से टीसएस (TCS) तभी लागू होगा, जब उदारीकृत धन प्रेषण योजना के अंतर्गत भुगतान 7 लाख रुपये की सीमा से ऊपर हो। सरकार ने वित्त विधेयक 2023 में उदारीकृत धन प्रेषण योजना के तहत

केवल विदेशी यात्रियों को ही यह लाभ मिलेगा जो अपने विदेशी यात्राओं को भारतीय क्रेडिट कार्ड के माध्यम से भुगतान करेंगे। इससे उन्हें विदेशी बैंकों द्वारा प्रयुक्त क्रेडिट कार्ड की टीसएस (TCS) की कटौती से छूट मिलेगी। यह फैसला विदेशी पर्यटकों के लिए एक बड़ी सुविधा है क्योंकि उन्हें अब अधिक राशि खर्च करने की आवश्यकता नहीं होगी।

जब एक विदेशी पर्यटक भारतीय क्रेडिट कार्ड का उपयोग करता है, तो उसके द्वारा किए गए खर्च पर कोई टीसएस (TCS) कटौती नहीं होगी। इसका मतलब है कि वे अपने पूरे राशि का उपयोग कर सकेंगे बिना किसी टैक्स कटौती का सामना करने के। यह योजना उन यात्रियों के लिए विशेष रूप से उपयोगी होगी जो लंबे समय तक या अक्सर विदेश में रहते हैं और बड़ी राशि में खर्च करते हैं।

इस निर्णय से सरकार की योजना है कि विदेशी पर्यटकों को प्रोत्साहित किया जाए और विदेशी पर्यटन को बढ़ावा दिया जाए। यह एक महत्वपूर्ण कदम है जो भारत को एक बड़े पर्यटन स्थल के रूप में विश्व मानचित्र पर स्थापित करेगा। विदेशी पर्यटकों के लिए यह एक आकर्षक विकल्प होगा जो उन्हें भारतीय संस्कृति, परंपरा और प्राकृतिक सौंदर्य का आनंद लेने का मौका देगा।

विदेशी पर्यटकों के लिए भारत में अपने क्रेडिट कार्ड का उपयोग करने का यह नया नियम पर्यटन उद्योग को भी बढ़ावा देगा। यह अनुमानित है कि विदेशी पर्यटकों की संख्या और उनका खर्च भारत में और भी बढ़ेगा। इससे पर्यटन सेक्टर को मानव संसाधन, रोजगार, और आर्थिक विकास की दृष्टि से लाभ पहुंचेगा।

यह नया नियम विदेशी पर्यटन को सुविधाजनक और सुरक्षित बनाने का भी एक प्रयास है। क्रेडिट कार्ड द्वारा भुगतान करने से पर्यटकों को धन की चिंता नहीं होगी और वे बिना कार्रवाई किए अपनी यात्रा का आनंद ले सकेंगे। इसके अलावा, इस नये प्रणाली से सरकार को अपने पर्यटन क्षेत्र में खर्चे गए राशि का निरिक्षण करने में भी सहायता मिलेगी।

भारत में विदेशी पर्यटन को बढ़ाने के लिए और उसे आकर्षक बनाने के लिए ऐसे प्रयासों की आवश्यकता है जो आपूर्ति और विपणन में वृद्धि करें। सरकार द्वारा किए गए इस प्रमुख निर्णय से भारत के पर्यटन सेक्टर में नई संभावनाएं उद्भव होंगी और यह देश के आर्थिक विकास को प्रोत्साहित करेगा।

By Vijay Srivastava