सड़क के किनारे विवाहिता का मिला शव, कारण जान आप भी रह जायेंगे दंग

सड़क के किनारे विवाहिता का मिला शव
सड़क के किनारे विवाहिता का मिला शव

न्यूज डेस्क
पटना। नालन्दा पुलिस को सड़क के किनारें एक महिला की लाश मिलती है। जानकारी मिलने पर पुलिस ने शव के शिनाख्त के लिए जांच शुरू करती है। विवाहिता महिला का शव की शिनाख्त 25 वर्षीय आरती देवी के रूप में होती है। जब घटना के तह में पुलिस जाती है तो हैरतंगज वाकया सामने आता है। विवाहिता को केवल इसलिए मार कर फेंक दिया गया कि वह दहेज में भैंस नहीं लायी थी।
गौरतलब है कि अभी तक रूपये, बाइब-कार की दहेज में मांग होते और विवाहिता को प्रताडित होने के साथ हत्या की खबरों से हम बराबर रूबरू होते रहे हैं लेकिन बिहार के नालंदा जिले में दहेज में भेंस ने देने पर विवाहिता को ससुराल वालों ने जहर देकर उसे मार डाला और फिर उसके शव को सड़क के किनारें फेंक कर फरार होने से आसपास के लोग भी स्तब्ध है। प्राप्त जानकारी के अनुसार छबीलापुर थाना क्षेत्र के छबीलापुर गांव निवासी राकेश कुमार ने पुलिस को बताया कि उनकी पुत्री की शादी साल 2017 में कृष्ण यादव के पुत्र देवा यादव से धूमधाम से हुई थी। इस दौरान दोनो से 4 साल का बेटा और 2 साल की बेटी भी हुई थी। पति के बाहर मजदूरी करने से ससुरात में सास, ससुर व अन्य लोंग बराबर उसे प्रताडित करते थे और उससे मायके से भेंस मांगने का दबाब बनार रहे थे। उनका कहना था कि दहेज में कुछ नहीं लायी थी लेकिन अब उसे एक भैंस चाहिए लेकिन गरीब मॉ-बाप उसकी यह मांग पूरा नहीं कर पा रहे थे।
वैसे थानाध्यक्ष का कहना है कि प्रथम दृष्टया जांच से यह लग रहा है कि आरती की बीमारी से मौत हुई है। धन्य हो पुलिस का अगर मान भी लिया जाए कि घर के बहू का बिमारी से मौत हो जाए तो क्या उसे सडक के किनारें फेंक दिया जायेगा। बहरहाल जहां विवाहिता के मैंके वालें पुलिस के सहयोग न करने की बात कर रहे हैं वहीं पुलिस जांच व पोस्टमार्टम के बाद कार्रवाई की बात कर रही है। वहीं दूसरी तरफ ससुराल वालें फरार बताए जाते हैं।

Share
Share