अमृत योजना के तहत चंदौली नगर की पेयजल व्यवस्था में सुधार के लिए 31.95 करोड़ की योजना तैयार

चंदौली जिले के पीडीडीयू नगर में अमृत योजना के दूसरे चरण में चंदौली नगर की पेयजल व्यवस्था को सुधारने के लिए करीब 31.95 करोड़ रुपये की कार्य योजना को धरातल पर उतारने की तैयारी पूरी हो गई है। गंगा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने शासन से बजट मिलने के बाद सभी कागजी औपचारिकताएं पूरी कर ली हैं। मंगलवार को टेंडर जारी होने के बाद योजना से संबंधित कार्य शुरू कर दिए जाएंगे।

लंबे समय से पेयजल समस्या से जूझ रहे चंदौली नगर के लिए राहत

चंदौली नगर पंचायत के निवासी लंबे समय से पेयजल की समस्या का सामना कर रहे हैं। गंगा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने अमृत योजना के अंतर्गत नगर के 3769 घरों में शुद्ध पेयजल पहुंचाने के लिए लगभग 32 करोड़ रुपये की कार्य योजना बनाई थी। फरवरी 2024 में स्टेट लेवल हाई पावर कमेटी से इस कार्य योजना को मंजूरी मिलने के बाद धनराशि भी जारी कर दी गई थी। हालांकि, लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लागू होने के कारण टेंडर प्रक्रिया को रोक दिया गया था। इस बीच, कार्यदायी संस्था ने सभी कागजी कार्यवाही पूरी कर ली थी। अब नौ जुलाई को टेंडर जारी होने के बाद अगस्त में योजना के तहत कार्य शुरू कर दिए जाएंगे।

सहायक अभियंता का बयान

गंगा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सहायक अभियंता संतोष कुमार गुप्ता ने बताया कि चंदौली नगर पंचायत में पेयजल व्यवस्था को सुधारने के लिए शासन से बजट मिल चुका है। टेंडर की प्रक्रिया पूरी होते ही अगस्त में कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *