UPBOCW श्रमिक पंजीयन कार्ड ऑनलाइन आवेदन कैसे करें, लिस्ट, आवेदन की स्थिति (Online) देखें, प्रक्रिया क्या है?

UPBOCW श्रमिक पंजीयन कार्ड ऑनलाइन आवेदन कैसे करें, लिस्ट, आवेदन की स्थिति (Online) देखें, प्रक्रिया क्या है?

UPBOCW: यूपी श्रमिक कार्ड क्या हैं?

यूपी श्रमिक कार्ड पंजीकरण का आरंभ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय योगी आदित्यनाथ जी ने किया है। इस उत्तर प्रदेश की सरकारी योजना के तहत, राज्य सरकार सभी श्रमिक वर्गों को यूपी श्रम कार्ड प्रदान करती है, और UP Labour Registration Online की मदद से राज्य के श्रमिक विभिन्न प्रकार की सरकारी सुविधाओं का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। UPBOCW का पूरा नाम है – ‘उत्तर प्रदेश भवन और अन्य निर्माण कार्यकर्ता कल्याण बोर्ड’। यह बोर्ड उत्तर प्रदेश के निर्माण कार्यकर्ताओं और अन्य श्रमिकों के लिए विभिन्न कल्याण सुविधाएँ प्रदान करता है।

UPBOCW पोर्टल पर श्रमिक पंजीकरण के लाभ क्या हैं?

Uttar Pradesh श्रम विभाग द्वारा UP Labour Card के बाद श्रमिकों को कई महत्वपूर्ण योजनाओं का मुफ्त लाभ प्राप्त होता है। इस लेख में हम इन योजनाओं के बारे में विस्तार से जानेंगे और यह भी देखेंगे कि उनके लिए आवश्यक दस्तावेज क्या हैं।

गम्भीर बीमारी सहायता योजना

इस योजना के तहत श्रमिकों को गम्भीर बीमारी के मामले में वित्तीय सहायता प्राप्त होती है। यह योजना उनके और उनके परिवार के लिए महत्वपूर्ण है जब आवश्यकता पड़ती है।

मृत्यु, विकलांगता सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना

इस योजना के तहत मृत्यु के मामले में और विकलांगता या अक्षमता के कारण श्रमिकों को पेंशन प्रदान की जाती है। यह उनकी आर्थिक सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण है।

अन्त्येष्टि सहायता योजना

इस योजना के अंतर्गत, श्रमिकों के परिवार को अन्त्येष्टि के समय आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। यह उनके दुख और परेशानी को कम करने में मदद करता है।

शौचालय सहायता योजना

यह योजना श्रमिकों के लिए स्वच्छ और सुरक्षित शौचालय की व्यवस्था करती है। इसके तहत शौचालय की निर्माण और यूज के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है।

चिकित्सा सुविधा योजना

इस योजना के अंतर्गत, श्रमिकों को चिकित्सा सुविधाओं का लाभ प्राप्त होता है। वे मुफ्त चिकित्सा सेवाओं का उपयोग कर सकते हैं जब आवश्यकता होती है।

मातृत्व, शिशु एवं बालिका मदद योजना

इस योजना के तहत मातृत्व सहित बच्चों की देखभाल के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। यह योजना मां-बेटी की सुरक्षा और उनके भविष्य के लिए महत्वपूर्ण है।

कौशल विकास, तकनीकी उन्नयन एवं प्रमाणन योजना

इस योजना के तहत श्रमिकों को कौशल विकास और तकनीकी उन्नयन के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है। इससे उनके करियर के विकास में मदद मिलती है।

सौर उर्जा सहायता योजना

यह योजना सौर उर्जा प्रणालियों की स्थापना और उनके लिए वित्तीय सहायता प्रदान करती है। इससे न केवल ऊर्जा की उपलब्धता बढ़ती है, बल्कि एक नई रोजगार संभावना भी बनती है।

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना

इस योजना के तहत श्रमिकों के बच्चों को शिक्षा के क्षेत्र में सहायता प्रदान की जाती है। यह उनके बच्चों के उच्च शिक्षा के साथ-साथ उनके भविष्य को भी बेहतर बनाती है।

मेधावी छात्र पुरस्कार योजना

इस योजना के अंतर्गत मेधावी छात्रों को विभिन्न प्रकार के पुरस्कार प्रदान किए जाते हैं। इससे उनकी पढ़ाई के प्रति प्रोत्साहित किया जाता है।

आवासीय विद्यालय योजना

इस योजना के तहत श्रमिकों के बच्चों को आवासीय विद्यालयों में पढ़ाई के लिए सहायता प्रदान की जाती है। यह उनकी शिक्षा के लिए महत्वपूर्ण है।

कन्या विवाह अनुदान योजना

इस योजना के तहत कन्याओं के विवाह के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। यह एक महत्वपूर्ण योजना है जो समाज में बेटियों के उत्थान को प्रोत्साहित करती है।

आवास सहायता योजना

इस योजना के तहत श्रमिकों को आवास की सुविधा प्रदान की जाती है। यह उनके लिए आर्थिक सुरक्षा की एक महत्वपूर्ण रूप है।

आपदा राहत सहायता योजना

इस योजना के तहत आपदा के समय श्रमिकों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। यह उनके लिए महत्वपूर्ण है जब वे आपदा से प्रभावित होते हैं।

महात्मा गाँधी पेन्शन योजना

इस योजना के तहत आयुवृद्ध श्रमिकों को पेंशन प्रदान की जाती है, जिससे उनकी आर्थिक सुरक्षा सुनिश्चित होती है।

प0 दीनदयाल उपाध्याय चेतना योजना

इस योजना के अंतर्गत श्रमिकों को उनके अधिकारों और दायित्वों के प्रति जागरूक किया जाता है। इससे उनकी सामाजिक और सांस्कृतिक चेतना बढ़ती है।

इसके अलावा, UP Labour Card Registration करवाने के बाद प्रवासी श्रमिक चिकित्सा योजना के तहत 3000 रुपये के हकदार हो जाते हैं, साथ ही मृत्यु होने पर 5.25 लाख रुपये की राशि प्रदान की जाती है।

UPBOCW पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के लिए जरुरी दस्तावेज क्या हैं?

यदि आप www.upbocw.in पर Uttar Pradesh Shramik Card के लिए रजिस्ट्रेशन करना चाहते हैं, तो आपको निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होगी:

  • आधार कार्ड
  • राशन पत्रिका
  • मतदाता पहचान पत्र
  • बैंक का विवरण
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

इन दस्तावेजों की सहायता से आप आसानी से UPBOCW पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं और श्रमिक कार्ड के अधिकारी बन सकते हैं। यह दस्तावेज आपकी पहचान की प्रमाणित करने में मदद करेंगे और आपको श्रमिकों के लाभ से जुड़ने में मदद करेंगे।

यूपी श्रमिक पंजीकरण 2023 – ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

अब जब हम जानते हैं कि UPBOCW क्या है, तो चलिए जानते हैं कि यूपी श्रमिक पंजीकरण 2023 के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें।

पात्रता मानदंड

पहली चीज जो आपको ध्यान में रखनी चाहिए, वह है पात्रता मानदंड। यूपी श्रमिक पंजीकरण के लिए आवेदन करने के लिए निम्नलिखित मानदंड हैं:

  1. आपको उत्तर प्रदेश के निवासी होना चाहिए।
  2. आपके पास कोई भी अन्य श्रमिक कार्ड नहीं होना चाहिए।
  3. आपको 18 वर्ष या उससे अधिक की आयु होनी चाहिए।

उत्तर प्रदेश लेबर कार्ड / UP Labour Registration Online प्रक्रिया क्या है?

उत्तर प्रदेश लेबर कार्ड / UP Labour Registration Online प्रक्रिया निम्नलिखित है:

उत्तर प्रदेश लेबर कार्ड पंजीकरण के लिए सबसे पहले श्रम विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार की आधिकारिक वेबसाइट UPBOCW पर जाएं।

  1. होमपेज पर “श्रमिक पंजीयन का आवेदन” बटन दिखाई देगा, जिस पर क्लिक करें।
  2. इस विकल्प पर क्लिक करते ही आपके सामने उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण के लिए आवेदन फॉर्म खुलेगा।
  3. यहाँ आपको अपना आधार और मोबाइल नंबर डालकर, मंडल और जनपद का चयन करना है और “आवेदन करें” बटन पर क्लिक करना है।
  4. आगे आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा जिसे डालकर आपको पुष्टि करनी होगी, फिर आपके सामने एक आवेदन पत्र खुलेगा जिसमें आपको सभी जानकारियां भरनी होंगी, और इसके बाद आपका पंजीकरण सफलतापूर्वक हो जाएगा। रजिस्ट्रेशन होने के बाद आप www.upbocw.in पर लॉगिन कर सकते हैं।
  5. इस प्रकार से आप अपने मोबाइल फोन से ही Uttar Pradesh Shramik Card के लिए पंजीकरण कर सकते हैं, इसके अलावा आप उत्तर प्रदेश के uplabour.gov.in पोर्टल के जरिए भी अपना श्रमिक पंजीयन कार्ड बनवा सकते हैं।

UP Shramik Card Application Status कैसे जानें?

UP Shramik Card Application Status को जानने के लिए सबसे पहले आप आधिकारिक वेबसाइट UPBOCW पर जाएं और “श्रमिक पंजीयन की स्थिति जानने के लिए यहाँ क्लिक करें” लिंक पर क्लिक करें।

  1. इसके बाद आप यहां से आधार कार्ड / आवेदन संख्या / पंजीकरण संख्या की मदद से अपने श्रमिक कार्ड रजिस्ट्रेशन की स्थिति देख सकते हैं।

उत्तर प्रदेश श्रम विभाग (UPBOCW) पर मौजूद नवीनतम डेटा

यूपी लेबर कार्ड से जुड़े नवीनतम डेटा

  • कुल सक्रिय श्रमिक: 89.88 लाख
  • कुल नवीनीकृत सक्रिय श्रमिक 2022-23: 11.65 लाख
  • कुल स्वीकृत योजना: 0.50 लाख
  • कुल अंतरित धनराशि 2022-23: 460.89 करोड़
  • कुल आधार सत्यापित श्रमिक: 99.20 लाख
  • पंजीकृत श्रमिक 2022-23: 11.34 लाख

यूपी लेबर कार्ड कौन-कौन बनवा सकता है?

यूपी में लेबर कार्ड के लिए आवेदन कर सकने वाले व्यक्तियों की सूचना

उत्तर प्रदेश में लेबर कार्ड बनवा सकने वाले व्यक्तियों के लिए निम्नलिखित श्रेणियों में आने की आवश्यकता है:

  • मोजैक पॉलिश
  • सड़क निर्माण
  • मिक्सर चलाने का कार्य
  • पुताई
  • इलेक्ट्रॉनिक कार्य
  • राजमिस्त्री का कार्य
  • प्लुम्बरिंग
  • लोहार
  • वेल्डिंग का कार्य
  • बढ़ई का कार्य
  • कुआँ खोदना
  • रोलर चलाना
  • छप्पर डालने का कार्य
  • हथौड़ा चलाने का कार्य
  • सुरंग निर्माण
  • टाईल्स लगाने का कार्य
  • कुँए से गाद हटाने का कार्य/डिविंग
  • चट्टान तोड़ने का कार्य या खनिकर्म
  • स्प्रे वर्क या मिक्सिंग वर्क (सड़क निर्माण से संबद्ध)
  • चौकीदारी (निर्माण स्थल पर सुरक्षा प्रदान करने वाला)
  • चुना बनाना
  • मिट्टी का काम
  • मकानों/भवनों की आतंरिक सज्जा काक कार्य
  • बड़े यांत्रिक कार्य, जैसे मशीनरी, पुल निर्माण कार्य आदि
  • अग्निशमन प्रणाली की स्थापना एवं मरम्मत का कार्य
  • ठंडे एवं गरम मशीनरी की स्थापना और मरम्मत का कार्य
  • बाढ़ प्रबंधन व इसी प्रकार के अन्य कार्य से संबंधित सभी कार्य
  • सीमेंट, कंक्रीट, ईट आदि ढ़ोने का कार्य
  • लिफ्ट एवं स्वचालित सीढ़ी स्थापना का कार्य
  • लिपिकीय/लेखा-कर्म (किसी निर्माण अधिष्ठाना लिपि व् लेखाकार के रूप में कार्यरत सभी प्रकार के कर्मकार के लिए)
  • सभी प्रकार के पत्थर काटने, तोड़ने व पिसने का कार्य
  • सुरक्षा द्वार एवं अन्य उपकारणों की स्थापना का कार्य
  • मिट्टी, बालू व मौरंग के खनन का कार्य
  • ईट-भट्ठों पर ईट निर्माण का कार्य
  • सामुदायिक पार्क या फुटपाथ का निर्माण
  • रसोई में उपयोग हेतु माडूलर इकाइयों की स्थापना
  • खिड़की ग्रिल, दरवाजे आदि की गढ़ाई एवं स्थापना का कार्य
  • बाँध, पुल, सड़क का निर्माण या भवन निर्माण के अधीन कोई संक्रिया
  • स्विमिंग पुल, गोल्फ कोर्स आदि/सहित अन्य मनोरंजन सुविधाओं का निर्माण कार्य

UPBOCW Contact Number क्या है?

अगर आपको UPBOCW पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन संबंधित कोई समस्या आती है, तो आप पोर्टल के “संपर्क करें” विकल्प पर क्लिक करें और आप शिकायत या पूछताछ कर सकते हैं। इसके अलावा आप चाहें तो कार्यालयों का पता भी लगा सकते हैं।

UPBOCW से सम्बन्धित प्रश्न-उत्तर : FAQs

Q- उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण कितने दिनों में हो जाता है?

A- उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण 7 दिनों के भीतर हो जाता है।

Q- UP Labour Card कैसे बनवाएं?

A- अगर आप यूपी लेबर कार्ड बनवाना चाहते है तो इसके लिए सबसे पहले आपको उत्तर प्रदेश श्रम विभाग की आधिकारिक वेबसाइट upbocw.in पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करना होगा।

Q- उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड के क्या फायदें हैं?

A- उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड बनवाने के बाद सरकार की तरफ से आपको आर्थिक सहायता के साथ ही कई सारी योजनाओं का लाभ मिलेगा।

Q- यूपी श्रमिक कार्ड बनवाने के लिए आधिकारिक वेबसाइट क्या है?

A- यूपी श्रमिक कार्ड बनवाने के लिए आधिकारिक वेबसाइट upbocw.in है।

Q- UPBOCW का पूरा नाम क्या है?

A- UPBOCW का पूरा नाम “उत्तर प्रदेश विशेष उद्योग कुशल कर्मी संघ (यूपीबीओसीडब्ल्यू)” है।

इस लेख में, हमने यूपी श्रमिक पंजीकरण के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की है। यदि आप उत्तर प्रदेश के एक श्रमिक हैं और आपको सरकारी सुविधाओं का लाभ प्राप्त करना है, तो आप इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं। ध्यानपूर्वक पात्रता मानदंडों का पालन करें और आसानी से अपने श्रमिक पंजीकरण की प्रक्रिया पूरी करें। इससे आपको सरकारी सुविधाओं का उचित रूप से लाभ होगा।

By Vijay Srivastava