Varanasi : बारिश से मिली राहत, लेकिन जलभराव की समस्या गंभीर

बारिश का मौसम आते ही देश के कई हिस्सों में लोगों को भीषण गर्मी से राहत मिली है। हालांकि, इसके साथ ही सड़कों पर जलभराव की समस्या भी खड़ी हो जाती है, जिससे लोगों का आवागमन मुश्किल हो जाता है। ऐसे हालात में लोग या तो घरों में ही रहने को मजबूर हो जाते हैं या फिर गंदे पानी से गुजरकर ही अपने गंतव्य तक पहुंचते हैं।

वाराणसी में विरोध प्रदर्शन

वाराणसी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें एक युवक जर्जर सड़कों पर विरोध जताते हुए दिखाई दे रहा है। इस युवक ने सड़कों के गड्ढों में बैठकर अपनी निराशा जाहिर की और नगर निगम अधिकारियों के खिलाफ प्रदर्शन किया। उसने अधिकारियों से जल्द से जल्द सड़कों की मरम्मत की मांग की है।

भोजूबीर चांदमारी का मामला

यह घटना वाराणसी के भोजूबीर चांदमारी इलाके की है, जहां सिंधोरा से वाराणसी होते हुए 8 किलोमीटर लंबी सड़क गुजरती है। इस सड़क पर अस्पताल, बैंक, स्कूल और मंदिर स्थित हैं, जहां प्रतिदिन सैकड़ों लोग आते-जाते हैं।

जर्जर सड़कें और जलभराव की समस्या

पिछले कई सालों से यह सड़क पूरी तरह जर्जर हो चुकी है, जिससे यहां दुर्घटनाएं होती रहती हैं। मंगलवार रात हुई बारिश के बाद सिगरा और आसपास की गलियों में जलभराव हो गया। घरों में सीवर का पानी भर गया और अस्सी घाट मार्ग पर नवनिर्मित सड़कें भी कई जगह धंस गईं।

सिगरा क्षेत्र में जलभराव

वाराणसी नगर में सबसे अधिक संकट सिगरा क्षेत्र में देखा गया, जहां सिगरा से भेलूपुर और रवींद्रपुरी से लेकर लंका तक जलभराव की स्थिति बनी रही। रिपोर्ट्स के अनुसार, सड़कें उन जगहों पर धंसी हैं, जहां जल निगम ने गहरी सीवर लाइन के मैनहोल बनाए थे। सिगरा-सिंधु नगर मार्ग पर सड़क धंसते ही जल निगम ने तुरंत मिट्टी, बालू और गिट्टी डालकर गड्ढों को भरने का काम शुरू कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *